पंजाब में बच्चों ने साइकिल रैली निकाल लोगों को दिल्ली पहुंचने के लिए किया जागरूक

किसानों और केंद्र सरकार के बीच 22 जनवरी को हुई बातचीत बेनतीजा रही है. केंद्र सरकार कृषि कानूनों में बदलाव को तो तैयार है, लेकिन इन्हें पूरी तरह रद्द करने के मूड में नहीं है.

पंजाब में बच्चों ने साइकिल रैली निकाल लोगों को दिल्ली पहुंचने के लिए किया जागरूक

पंजाब में बच्चों ने साइकिल रैली निकाल लोगों को 26 जनवरी की ट्रैक्टर रैली में शामिल होने के लिए जागरूक किया है. 26 जनवरी की ट्रैक्टर मार्च से पहले मोगा के गांव महेसरी के बच्चों द्वारा गांव में साइकिल रैली निकाली गई. 26 जनवरी को होने वाले ट्रैक्टर मार्च को लेकर जहां पंजाब के अलग-अलग गांव में तैयारियां जोरों पर है, तो वही आज मोगा के गांव महेसरी के बच्चों द्वारा साइकल रैली निकालकर दिल्ली जाने के लिए लोगों को प्रेरित किया.


बच्चों ने बताया कि कृषि कानून रद्द होने चाहिए और मीडिया के जरिए लोगों से अपील भी की कि वह 26 तारीख को दिल्ली जरूर पहुंचे. जानकारी देते हुए इस गांव के नौजवान ने बताया कि यह कृषि कानून लागू कर केंद्र सरकार ने फसलों पर नहीं आने वाली नस्लों पर हमला किया है. उन्होंने बताया कि इन बच्चों की भी तमन्ना थी कि जैसे इनके पिता , चाचा और रिश्तेदार आंदोलन में हिस्सा ले रहे हैं ठीक उसी तरह भी चाहते थे कि वे लोगों को अपने खिलौनों को बरत कर जागरूक करें. बच्चों का कहना है कि उनके परिवार वाले किसान आंदोलन में शामिल हुए हैं और वे भी चाहते हैं कि इसे सफल बनाया जाए. 

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


गौरतलब है कि किसानों और केंद्र सरकार के बीच 22 जनवरी को हुई बातचीत बेनतीजा रही है. केंद्र सरकार कृषि कानूनों में बदलाव को तो तैयार है, लेकिन इन्हें पूरी तरह रद्द करने के मूड में नहीं है.