भारत में चीन के ऐप बैन होने पर चीन ने कहा, 'बेहद चिंतित, स्थिति की पुष्टि कर रहे हैं' : ANI

भारत सरकार द्वारा चीन से जुड़े 59 मोबाइल ऐप पर सोमवार को प्रतिबंध लगाए जाने के बाद चीन के विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता झाओ लिज़ियान ने कहा है कि उनका देश इस कदम से बेहद चिंतित है, और स्थिति की पुष्टि कर रहा है.

भारत में चीन के ऐप बैन होने पर चीन ने कहा, 'बेहद चिंतित, स्थिति की पुष्टि कर रहे हैं' : ANI

Chinese apps banned: भारत में चीनी ऐप बंद होने पर चीन की प्रतिक्रिया (प्रतीकात्मक तस्वीर)

खास बातें

  • भारत में चीन के ऐप बैन होने पर चीन ने दी प्रतिक्रिया
  • हम स्थिति की पुष्टि कर रहे हैं : चीन के विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता
  • भारत सरकार ने चीन से जुड़े 59 मोबाइल ऐप पर लगाया प्रतिबंध
नई दिल्ली:

भारत सरकार द्वारा चीन से जुड़े 59 मोबाइल ऐप पर सोमवार को प्रतिबंध लगाए जाने के बाद चीन के विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता झाओ लिज़ियान ने कहा है कि उनका देश इस कदम से बेहद चिंतित है, और स्थिति की पुष्टि कर रहा है. यह जानकारी समाचार एजेंसी ANI ने मंगलवार को ट्वीट के ज़रिये दी है. बता दें कि सरकार ने चीन को तगड़ा झटका देते हुए सोमवार को 59 चीनी ऐप को प्रतिबंधित कर दिया है. जिनको बैन किया गया है, उनमें टिकटॉक, यूसी ब्राउजर, वीचैट, शेयरइट और कैम स्केनर समेत अन्य शामिल हैं. यहां क्लिक करके देखें बैन किए गए ऐप्स की पूरी लिस्ट.  

सरकार ने सोमवार को बयान में कहा था कि 'उपलब्ध सूचना के आधार पर ये ऐप्स उन गतिविधियों में लगे हुए हैं जो भारत की संप्रभुता और अखंडता, सुरक्षा, राज्य की सुरक्षा और सार्वजनिक व्यवस्था के लिए खतरनाक हैं.'

भारत में चीन के ऐप बैन किए जाने के बाद चीनी कंपनियों की ओर से प्रतिक्रिया आ रही है. टिकटॉक ने अपनी सफाई में कहा कि हम किसी प्रकार डाटा चीन के साथ साझा नहीं करते हैं. TikTok India के प्रमुख निखिल गांधी ने कहा, "हमें संबंधित सरकारी स्टेकहोल्डर्स (हितधारक) के साथ मिलकर जवाब देने और स्पष्टीकरण देने के लिए कहा गया है." उन्होंने साफ तौर पर कहा कि टिकटॉक चीन की सरकार के साथ किसी प्रकार की जानकारी साझा नहीं करती है.

वहीं, ई-कॉमर्स प्लेटफॉर्म क्लब फैक्टरी (Club Factory) ने अपने आधिकारिक बयान में कहा कि क्लब फैक्टरी सभी क्षेत्रीय नियमों और विनियमों का कड़ाई से पालन करता है और उपयोगकर्ताओं के आंकड़ों और निजता के मामले में उच्च मानक बनाए रखता है. हम यूजर्स की सुरक्षा और निजता के साथ कोई समझौता नहीं करते हैं.

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com

सरकार की ओर से 59 चीनी ऐप को बंद करने का आदेश देने के बाद गूगल और एपल ने अपने स्टोर से ऐप को हटाने की प्रक्रिया शुरू कर दी है. टिकटॉक को गूगल प्लेस्टोर और ऐप स्टोर से हटा दिया गया है.

वीडियो: सरकार ने इन 59 चीनी Apps पर लगाई पाबंदी