सुरक्षाबलों ने लद्दाख में पकड़ा चीनी सैनिक, अनजाने में भारतीय सीमा में घुसा हो सकता है : ANI

न्यूज एजेंसी ANI ने सोमवार को बताया कि सुरक्षा बलों ने लद्दाख में सीमा के पास एक चीनी सैनिक को पकड़ा है. यह सैनिक चुमार-डेमचोक इलाके में पकड़ा गया है. एजेंसी ने सूत्रों के हवाले से कहा कि चीनी सैनिक अनजाने में भारतीय सीमा में घुस आया हो सकता है.

सुरक्षाबलों ने लद्दाख में पकड़ा चीनी सैनिक, अनजाने में भारतीय सीमा में घुसा हो सकता है : ANI

लद्दाख में सीमा पर आर्मी ने पकड़ा चीनी सैनिक. (प्रतीकात्मक तस्वीर)

लद्दाख/नई दिल्ली:

लद्दाख में भारत और चीन के बीच जारी सीमा तनाव के बीच यहां सीमा के पास से एक चीनी सैनिक को पकड़ा गया है. न्यूज एजेंसी ANI ने सोमवार को बताया कि सुरक्षा बलों ने लद्दाख में सीमा के पास एक चीनी सैनिक को पकड़ा है. यह सैनिक चुमार-डेमचोक इलाके में पकड़ा गया है. एजेंसी ने सूत्रों के हवाले से कहा कि चीनी सैनिक अनजाने में भारतीय सीमा में घुस आया हो सकता है. सूत्रों ने यह भी कहा कि 'तय प्रोटोकॉल के तहत जरूरी कार्रवाई करने के बाद' उसे चीनी सेना को वापस लौटा दिया जाएगा. रिपोर्ट्स के मुताबिक, चीन की पीपुल्स लिबरेशन आर्मी के इस सैनिक के पास से नागरिक और सैन्य दस्तावेज मिले हैं.

भारतीय सेना की ओर से एक प्रेस रिलीज जारी कर बताया गया है कि पकड़े गए चीनी सैनिक का नाम वांग या लोंग है. और उसे पूर्वी लद्दाख के डेमचोक के पास 19 अक्टूबर यानी सोमवार को पकड़ा गया है. यह सैनिक भटककर वास्तविक नियंत्रण रेखा पार कर भारतीय सीमा में घुस गया था. सेना ने बताया है कि उस जवान को ठंडे मौसम से बचाने के लिए मेडिकल मदद के साथ साथ खाना पीना और गर्म कपड़े दिए गए.

सेना ने बताया कि चीनी सेना की ओर से अपने लापता सैनिक को लेकर अनुरोध आया है. प्रोटोकॉल के तहत उस चीनी सैनिक को चुशूल मोलडो मीटिंग पॉइंट पर सारी औपचारिकता पूरा करने के बाद वापस चीन को सौप दिया जाएगा.

यह भी पढ़ें : पूर्वी लद्दाख विवाद: कोर कमांडर की आठवें दौर की वार्ता इस सप्ताह संभव

बता दें कि भारतीय और चीनी सैनिकों के बीच लद्दाख में वास्तविक नियंत्रण रेखा के पास मई महीने से ही तनाव चल रहा है. जून महीने में यहां गलवान घाटी में दोनों पक्षों के बीच हिंसक झड़प हुई थी, जिसमें 20 भारतीय जवानों की जान चली गई थी. पिछले महीने भी पैंगॉन्ग त्सो में दोनों पक्षों के बीच एक से ज्यादा बार एयर शॉट चलाए गए थे.

दोनों देशों के बीच सीमा पर तनाव की स्थिति को सुधारने के लिए कई चरणों की सैन्य और कूटनीतिक वार्ता हो चुकी है, लेकिन चीन ने यथास्थिति को वापस बरकरार करने के लिए समझौते के तहत चलने से इनकार कर दिया है.

Video: भारत के मामले में न बोले चीन : विदेश मंत्री एस जयशंकर

Newsbeep

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com