NDTV Khabar

CISF कमांडेट ने IAS अधिकारी के पति की कार में रखा मादक पदार्थ, हुआ गिरफ्तार

पुलिस ने बताया कि बुधवार शाम पांच बजे एक CISF अधिकारी को सूचना मिली कि एक संदिग्ध कार केंद्र सरकार कार्यालय परिसर (सीजीओ काम्प्लेक्स) में खड़ी है.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
CISF कमांडेट ने IAS अधिकारी के पति की कार में रखा मादक पदार्थ, हुआ गिरफ्तार

प्रतीकात्मक तस्वीर

खास बातें

  1. कार मालिक की उपस्थिति में CISF जवानों ने कार की तलाशी ली
  2. कार में 52 पुड़िया मिली जिनमें कुल 550 ग्राम चरस थी
  3. दोनों व्यक्ति विदेश मंत्रालय के स्टिकर लगी कार में सवार होकर आए थे
नई दिल्ली:

केंद्रीय विदेश मंत्रालय में सुरक्षा ब्यूरो निदेशक के पद पर तैनात CISF कमांडेंट रंजन प्रताप सिंह और अलीगढ़ के उसके वकील दोस्त नीरज चौहान को एक IAS अधिकारी के पति की कार में कथित तौर पर मादक पदार्थ रखने के आरोप में गिरफ्तार किया गया है. कमांडेंट की गिरफ्तारी के बारे में बताते हुए पुलिस ने कहा कि दोनों पर आपराधिक साजिश रचने और मादक पदार्थ निरोधी कानून (स्वापक औषधि और मन: प्रभावी पदार्थ अधिनियम, 1985) की धाराओं के तहत मुकदमा दर्ज किया गया है. पुलिस ने बताया कि बुधवार शाम पांच बजे एक CISF अधिकारी को सूचना मिली कि एक संदिग्ध कार केंद्र सरकार कार्यालय परिसर (सीजीओ काम्प्लेक्स) में खड़ी है. उन्होंने बताया कि अधिकारी ने तुरंत CISF कर्मियों को कार मालिक का पता लगाने को कहा. कर्मियों ने पाया कि कार मालिक सूचना प्रौद्योगिकी मंत्रालय में सलाहकार के तौर पर कार्य करता है.

SSC CPO 2019: दिल्ली पुलिस, CAPF और CISF में सब इंस्पेक्टर के पदों पर निकली वैकेंसी, ऐसे करें आवेदन


वरिष्ठ पुलिस अधिकारी ने बताया कि कार मालिक की उपस्थिति में CISF जवानों ने कार की तलाशी ली और उसमें 52 पुड़िया मिली जिनमें कुल 550 ग्राम चरस थी. इसके बाद कार मालिक को पुलिस ने गिरफ्तार कर उस पर स्वापक औषधि और मन: प्रभावी पदार्थ अधिनियम के तहत मामला दर्ज किया. उन्होंने बताया कि बाद में पुलिस ने मादक पदार्थ की सूचना देने की वाली की जानकारी जुटाई और पाया कि वह महरौली का फेरीवाला है. पुलिस अधिकारी के अनुसार पूछताछ के दौरान फेरीवाले ने बताया कि दो लोगों ने उससे फोन लेकर कॉल किया था जब सीसीटीवी फुटेज की जांच की गई तो पता चला कि दोनों व्यक्ति विदेश मंत्रालय के स्टिकर लगी कार में सवार होकर आए थे.

टिप्पणियां

एयरपोर्ट पर सुरक्षाकर्मी ने की विकलांग महिला के साथ बदसलूकी, CISF प्रमुख ने जताया खेद

उन्होंने कहा कि आगे जांच की गई तो पता चला कि कार रंजन प्रताप सिंह की है. जब सिंह से पूछताछ की गई तो उसने माना कि वह अपने गृहनगर अलगीढ़ से नशीले पदार्थ लाया था और साजिश में उसने दोस्त चौहान को शामिल किया एवं नकली चाबी से कार खोलकर उसमें नशीला पदार्थ रखवाया.
 



NDTV.in पर विधानसभा चुनाव 2019 (Assembly Elections 2019) के तहत हरियाणा (Haryana) एवं महाराष्ट्र (Maharashtra) में होने जा रहे चुनाव से जुड़ी ताज़ातरीन ख़बरें (Election News in Hindi), LIVE TV कवरेज, वीडियो, फोटो गैलरी तथा अन्य हिन्दी अपडेट (Hindi News) हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें.


Advertisement