हिंदी में नहीं बोल सकने पर CISF अधिकारी ने उनसे पूछा, क्या वह भारतीय हैं: कनिमोझी

द्रविड़ मुनेत्र कषगम (द्रमुक) सांसद कनिमोझी ने रविवार को आरोप लगाया कि चेन्नई हवाईअड्डे पर जब वह हिंदी में नहीं बोल सकी, तब सीआईएसएफ की एक अधिकारी ने उनसे पूछा कि ‘‘क्या वह भारतीय हैं.’’

हिंदी में नहीं बोल सकने पर CISF अधिकारी ने उनसे पूछा, क्या वह भारतीय हैं: कनिमोझी

द्रविड़ मुनेत्र कषगम (द्रमुक) सांसद कनिमोझी (फाइल फोटो).

चेन्नई/नई दिल्ली:

द्रविड़ मुनेत्र कषगम (द्रमुक) सांसद कनिमोझी ने रविवार को आरोप लगाया कि चेन्नई हवाईअड्डे पर जब वह हिंदी में नहीं बोल सकी, तब सीआईएसएफ की एक अधिकारी ने उनसे पूछा कि ‘‘क्या वह भारतीय हैं.'' इस पर, केंद्रीय औद्योगिक सुरक्षा बल (सीआईएसएफ) ने मामले की जांच का आदेश देते हुए कहा कि किसी विशेष भाषा पर जोर देना उसकी नीति नहीं है. 

द्रमुक की लोकसभा सदस्य कनिमोझी ने इस घटना पर तत्काल जवाब देने और कार्रवाई करने का आश्वासन दिये जाने पर सीआईएसएफ का शुक्रिया अदा किया. द्रमुक की महिला शाखा की सचिव कनिमोझी ने ट्वीट किया, ‘‘आज हवाई अड्डे पर जब मैंने सीआईएसएफ की एक अधिकारी से कहा कि वह मुझसे तमिल या अंग्रेजी में बात करें क्योंकि मैं हिंदी नहीं जानती, तब उन्होंने मुझसे पूछा कि ‘क्या मैं भारतीय हूं'.'' 


पार्टी सूत्रों ने बताया कि चेन्नई हवाई अड्डे पर यह घटना उस वक्त हुई, जब दोपहर में कनिमोझी दिल्ली की उड़ान में सवार होने के लिये वहां पहुंची थी. कनिमोझी राष्ट्रीय राजधानी पहुंच गयी हैं और वह अगले कुछ दिनों तक वहां रहेंगी, जहां उनके कुछ आधिकारिक कार्यक्रम हैं. उन्होंने ‘हिंदी थोपना' हैशटैग के साथ ट्विटर पर लिखा, ‘‘मैं जानना चाहूंगी कि कब से भारतीय होना हिंदी जानने के समान हो गया है.'' 

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


इसके तत्काल बाद सीआईएसएफ ने उनसे इस घटना का पूरा ब्योरा मांगा. सीआईएसएफ ने ट्वीट किया, ‘‘सीआईएएफ मुख्यालय से आपको शुभकामनाएं. हम आपके इस अरूचिकर अनुभव का गंभीरता से संज्ञान लेते हैं. कृपया हमें हवाईअड्डे का नाम, स्थान, घटना की तारीख और समय जैसी सूचनाएं भेजें, ताकि इस मामले में उपयुक्त कार्रवाई की जा सके.'' शीघ्र ही सीआईएसएफ ने कहा कि उसने ‘मामले की जांच का आदेश दिया है. किसी विशेष भाषा पर जोर देना उसकी नीति नहीं है.' बता दें कि सीआईएसएएफ केंद्रीय गृह मंत्रालय के अंतर्गत आता है.