असम में CAA का विरोध: पुलिस ने बताया- चार लोगों की मौत, हालात ऐसे बन गए थे कि पुलिस को चलानी पड़ी गोली

इस बीच, असम सरकार ने सोमवार को घोषणा की कि गुवाहाटी में 11 दिसंबर को लगाए कर्फ्यू को मंगलवार सुबह छह बजे से हटाया जाएगा.

असम में CAA का विरोध: पुलिस ने बताया- चार लोगों की मौत, हालात ऐसे बन गए थे कि पुलिस को चलानी पड़ी गोली

असम में हटाया गया कर्फ्यू.

खास बातें

  • नागरिकता संशोधन एक्ट का हो रहा है विरोध
  • पुलिस की कार्रवाई में चार की मौत
  • पुलिस ने कहा- हालात ही ऐसे बन गए थे
नई दिल्ली:

असम में नागरिकता संशोधन कानून का हो रहे विरोध में चार लोगों की मौत हो गई है. पुलिस ने यह जानकारी दी है. पुलिस का कहना है कि हालात ऐसे बन गए थे कि पुलिस को गोली चलानी पड़ी. असम के पुलिस महानिदेशक (DGP) भास्कर ज्योति महंत ने बताया, "पुलिस कार्रवाई में दुर्भाग्यवश चार लोगों की मौत हुई है... हालात ऐसे बन गए थे कि पुलिस को गोली चलानी पड़ी, ताकि अन्य लोगों और संपत्ति को बचाया जा सके... हालात अब काफी हद तक काबू में हैं..."

साथ ही DGP ने बताया, "अब तक 136 मामले दर्ज किए गए हैं, और 190 प्रदर्शनकारियों को गिरफ्तार किया गया है... ये लोकतांत्रिक तरीके से विरोध करने वाले सामान्य प्रदर्शनकारी नहीं थे, बल्कि हिंसा में शामिल थे, और साजिश रचने वाले कुछ लोगों को भी गिरफ्तार किया गया है, जिनमें विभिन्न संगठनों के कुछ बड़े नेता शामिल हैं..."

जामिया हिंसा में पुलिस ने 10 लोगों को किया गिरफ्तार, इनमें एक भी छात्र शामिल नहीं

वहीं, दूसरी ओर कानून के खिलाफ पूर्वोत्तर में व्यापक प्रदर्शनों के बीच गृह मामलों पर संसद की स्थायी समिति ने असम और मेघालय के अपने आधिकारिक दौरे को सोमवार को अनिश्चितकाल के लिए स्थगित कर दिया. एक आधिकारिक बयान में कहा गया है, ‘गृह मामलों पर संसद की स्थायी समिति का शिलॉन्ग और गुवाहाटी का 18 से 21 दिसंबर तक के दौरे के कार्यक्रम को स्थगित किया जाता है।' दोनों राज्यों का दौरा करने वाली संसदीय समिति संविधान (125वें संशोधन) विधेयक का अध्ययन कर रही है.

जामिया के छात्रों पर पुलिस की बर्बरता के बाद देशभर में गुस्सा, दर्जनों यूनिवर्सिटीज के छात्र आए साथ

इस बीच, असम सरकार ने सोमवार को घोषणा की कि गुवाहाटी में 11 दिसंबर को लगाए कर्फ्यू को मंगलवार सुबह छह बजे से हटाया जाएगा. एक आधिकारिक बयान में कहा गया है कि नागरिकता कानून के खिलाफ हिंसक प्रदर्शनों के बाद बंद की गई ब्रॉडबैंड इंटरनेट सेवाओं को भी मंगलवार सुबह से बहाल कर दिया जाएगा. मुख्यमंत्री सर्बानंद सोनोवाल की अध्यक्षता में कानून व्यवस्था की समीक्षा बैठक में यह फैसला लिया गया.

VIDEO: रवीश कुमार का प्राइम टाइम : क्या जामिया में दमन पर पुलिस सही बोल रही है?

 
Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com