Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com

CAA-NRC के खिलाफ बंद के दौरान झड़प, मुर्शिदाबाद में दो की मौत

पश्चिम बंगाल के मुर्शिदाबाद जिले में बुधवार को CAA, NRC के खिलाफ बंद के दौरान दो समूहों के बीच हुई झड़प में दो लोगों की मौत हो गई, जबकि तीन व्यक्ति घायल हो गए. यह घटना जंगाली ब्लॉक के साहेबनगर गांव में हुआ.

CAA-NRC के खिलाफ बंद के दौरान झड़प, मुर्शिदाबाद में दो की मौत

भारत बंद पर दरभंगा में प्रदर्शन

बहरामपुर:

पश्चिम बंगाल के मुर्शिदाबाद जिले में बुधवार को CAA, NRC के खिलाफ बंद के दौरान दो समूहों के बीच हुई झड़प में दो लोगों की मौत हो गई, जबकि तीन व्यक्ति घायल हो गए. यह घटना जंगाली ब्लॉक के साहेबनगर गांव में हुआ. भारतीय नागरिक मंच ने बंद की अपील की. तृणमूल कांग्रेस का आरोप है कि संघर्ष सीपीएस और कांग्रेस पुलिस के एक वरिष्ठ अधिकारी ने यह जानकारी दी. संशोधित नागरिकता कानून (सीएए) को लेकर जलंगी में दो समूहों के बीच बहस शुरू हो गई जो झड़प में बदल गई. अधिकारी ने बताया कि घायलों को मुर्शिदाबाद मेडिकल कॉलेज एवं अस्पताल में भर्ती करवाया गया है.

IIT-Bombay ने छात्रों से कहा, राष्ट्र-विरोधी गतिविधियों में न करें शिरकत, ईमेल करके ये 15 सावधानियां बरतने को कहा

बता दें कि संशोधित नागरिकता कानून (सीएए) और राष्ट्रीय नागरिक पंजी (एनआरसी) के खिलाफ कुछ संगठनों द्वारा बुलाए गए भारत बंद के तहत कांजुरमार्ग स्टेशन पर पटरियों पर विरोध प्रदर्शन के कारण बुधवार सुबह मुंबई में मध्य रेलवे (सीआर) की उपनगरीय रेल सेवाएं कुछ हद तक प्रभावित हुईं. पुलिस ने बताया कि कम से कम 100 प्रदर्शनकारी सुबह आठ बजे रेलवे स्टेशन की पटरियों पर जमा हो गए और सीएसएमटी की ओर जाने वाली धीमी गति की कई ट्रेनों को रोक दिया.

प्रदर्शनकारियों ने नारे लगाए और राष्ट्रीय ध्वज लहराया. बाद में प्रदर्शनकारियों को पुलिस ने वहां से हटा दिया और हिरासत में ले लिया. एक अधिकारी ने बताया कि व्यवधान के कारण सीआर लाइन पर ट्रेनें 10-15 मिनट देरी से चल रही हैं. सीआर के मुख्य पीआरओ शिवाजी सुतार ने कहा, ‘‘हम लोगों से अनुरोध करते हैं कि वे ट्रेनों को न रोकें और उपनगरीय ट्रेनों के सुगम संचालन के लिए हमारा सहयोग करें.''

कॉमेडियन कुणाल कामरा को 3 एयरलाइन्स ने किया बैन, पत्रकार को सवाल पूछकर कर दिया था परेशान

बहुजन क्रांति मोर्चा सहित कई संगठनों ने हाल ही में पारित सीएए और प्रस्तावित एनआरसी के विरोध में भारत बंद का आह्वान किया है. इस बीच, ठाणे शहर और आसपास के क्षेत्रों में बंद का कोई असर नहीं देखा गया. पुलिस नियंत्रण कक्ष के एक अधिकारी ने कहा कि ठाणे में सार्वजनिक परिवहन सेवाएं सामान्य रूप से जारी हैं और दुकानें और शैक्षणिक संस्थान खुले हैं. उन्होंने कहा कि विभिन्न स्थानों पर पुलिसकर्मी तैनात हैं.

वहीं, भाकपा माले (CPI-ML) समेत विपक्षी दलों के द्वारा आहूत भारत बंद का दरभंगा में छिटपुट असर देखा जा रहा है. राष्ट्रीय उच्च पथ संख्या 57 पर जीवछ घाट के समीप 500 से अधिक पुरुष एवं महिलाओं ने सड़क पर धरना देकर यातायात बाधित कर दिया. वहीं जाले थाना क्षेत्र में देवड़ा और राढ़ी गांव के समीप लोगों ने धरना देकर राजकीय उच्च पथ को जाम किया है. स्थानीय नगर थाना क्षेत्र के किला घाट में जाम समर्थक बीच सड़क पर धरना देकर यातायात बाधित कर दिया हैं. गौरतलब है कि बंद का खासा असर अल्पसंख्यक बहुल इलाके में ही देखा जा रहा है.



(इस खबर को एनडीटीवी टीम ने संपादित नहीं किया है. यह सिंडीकेट फीड से सीधे प्रकाशित की गई है।)