राज्य प्रतिनिधियों को ननकाना साहिब नहीं जाने देने को सीएम अमरिंदर सिंह ने कहा, 'दुर्भाग्यपूर्ण'

मुख्यमंत्री अमरिंदर सिंह ने पंजाब के मंत्रियों, सांसदों एवं विधायकों को पाकिस्तान के श्री ननकाना साहिब जाने देने के लिए अनुमति/ वीजा नहीं देने को 'अत्यंत दुर्भाग्यपूर्ण' करार दिया.

राज्य प्रतिनिधियों को ननकाना साहिब नहीं जाने देने को सीएम अमरिंदर सिंह ने कहा, 'दुर्भाग्यपूर्ण'

पंजबा के मुख्यमंत्री अमरिंदर सिंह

खास बातें

  • गुरु नानक देव की 550वीं जयंती के समारोहों का 'राजनीतिकरण' करने का आरोप
  • शिअद ने इस ऐतिहासिक कार्यक्रम के संयुक्त उत्सव की तैयारी को बाधित किया
  • सरकार ने इस ऐतिहासिक कार्यक्रम को भव्य बनाने के लिए 550 करोड़ रुपए खर्चे

पंजाब के मुख्यमंत्री अमरिंदर सिंह ने गुरु नानक देव की 550वीं जयंती के समारोहों का 'राजनीतिकरण' करने को लेकर शिरोमणि अकाली दल (शिअद) पर बृहस्पतिवार को हमला बोला. उन्होंने पार्टी पर इस ऐतिहासिक कार्यक्रम के संयुक्त उत्सव की उनकी सरकार की योजना को बाधित करने का आरोप लगाया. इसके साथ ही मुख्यमंत्री ने पंजाब के मंत्रियों, सांसदों एवं विधायकों को पाकिस्तान के श्री ननकाना साहिब जाने देने के लिए अनुमति/ वीजा नहीं देने को 'अत्यंत दुर्भाग्यपूर्ण' करार दिया. वहीं पंजाब के सहकारी मंत्री सुखजिंदर सिंह रंधावा ने ऐतिहासिक करतारपुर साहिब गलियारे के उद्घाटन के लिए 'समानांतर मंच' निर्माण के केंद्र के फैसले पर आपत्ति जताई.

पूर्व PM, CM और केंद्रीय मंत्री भी होंगे करतारपुर साहिब जाने वाले पहले जत्थे का हिस्सा

जयंती समारहों के लिए व्यवस्था की समीक्षा करते हुए मुख्यमंत्री ने कहा कि यह गौरव का अवसर है जिसे उनकी सरकार तुच्छ राजनीतिक विचारों से ऊपर उठकर साथ में मनाना चाहती थी. हालांकि उन्होंने कहा कि शिअद ने संयुक्त समारोह के राज्य सरकार के सभी प्रयासों पर पानी फेर दिया. उन्होंने इसे लेकर अकालियों, खासकर केंद्रीय मंत्री हरसिमरत कौर बादल पर हमला बोला. सिंह ने कहा कि उनकी सरकार ने इस ऐतिहासिक कार्यक्रम को भव्य बनाने के लिए 550 करोड़ रुपए खर्च किए, लेकिन पूरे कार्यक्रम को अकालियों और उनकी सहयोगी भाजपा ने राजनीतिक नाटक में बदल लिया.

Video: 8 नवंबर को खुलेगा करतारपुर कॉरिडोर

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com