कोरोना संकट के बीच दुर्गा पूजा पर डॉक्टरों के अलर्ट से सतर्क CM ममता, स्वास्थ्य विभाग की रद्द की छुट्टियां

सरकार ने कोविड के लिए आरटी पीसीआर टेस्ट की कीमत 2250 रुपये से घटाकर 1500 रुपये कर दी है. इसके अलावा एम्बुलेंस शुल्क भी कैप किया जाएगा.

कोरोना संकट के बीच दुर्गा पूजा पर डॉक्टरों के अलर्ट से सतर्क CM ममता, स्वास्थ्य विभाग की रद्द की छुट्टियां

कोलकाता:

पश्चिम बंगाल (West Bengal) में दुर्गा पूजा उत्सव (Durga Puja 2020) के कारण कोरोना के मामले (Coronavirus) बढ़ने की डॉक्टरों द्वारा चेतावनी दिए जाने के बाद राज्य की सीएम ममता बनर्जी (Mamata Banerjee) ने स्वास्थ्य कर्मियों की छुट्टियां रद्द कर दी है. सीएम ने पूजा के दौरान डॉक्टरों के स्वास्थ्य कर्मियों और स्वास्थ्य विभाग के सरकारी अधिकारियों के लिए सभी अवकाश रद्द कर दिए हैं.

सरकार ने यह भी घोषणा की है कि पूजा से पहले अस्पताल के बेड्स की संख्या बढ़ाई जाएगी और अधिक नर्सों की नियुक्ति की जाएगी. सरकार ने कोविड के लिए आरटी पीसीआर टेस्ट की कीमत 2250 रुपये से घटाकर 1500 रुपये कर दी है. इसके अलावा एम्बुलेंस शुल्क भी कैप किया जाएगा.

ममता बनर्जी ने खुद कहा है कि वह हर साल की तरह दुर्गा पूजा का उद्घाटन करेंगी, लेकिन इस बार यह 15 अक्टूबर से वर्चुअली होगा.  मुख्यमंत्री एक वरिष्ठ मंत्री द्वारा आयोजित पूजा पंडाल में एक मूर्ति देवी दुर्गा के चेहरे पर आंखों को रंगकर त्योहारों के मौसम की शुरुआत करेंगीं.

दुर्गा पूजा के दौरान नहीं होना चाहिए कोरोना नियमों का उल्लंघन : CM ममता बनर्जी
बता दें कि दुर्गा पूजा मद्देनजर मुख्यमंत्री ममता बनर्जी (Mamata Banerjee) ने 6 अक्टूबर को कहा था कि दुर्गा पूजा के दौरान महामारी संबंधी दिशा-निर्देशों का उल्लंघन नहीं होना चाहिए. बनर्जी ने कहा कि कोरोना को फैलने से रोकने के लिए दुर्गा पूजा समितियां खुले स्थानों पर ही पंडाल लगाएं.

Newsbeep

उन्होंने कहा था, 'मैं एक बार फिर पूजा समितियों और लोगों से कोविड-19 सुरक्षा नियमों का पालन करने में पुलिस तथा प्रशासन के साथ सहयोग करने की अपील करती हूं. पंडाल में जाने से पहले सभी मास्क पहने और सैनिटाइजर का इस्तेमाल करें.'

सियासी अखाड़ा बने दुर्गा पंडाल

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com