NDTV Khabar

राफेल सौदे घोटाले के आरोप झेल रही बीजेपी अब अगस्ता-वेस्टलैंड डील को बना रही है बड़ा मुद्दा, योगी और फडणवीस ने खोला मोर्चा

यूपीए सरकार के समय रक्षामंत्री रहे एके एंटनी ने कहा कि यूपीए अध्यक्ष सोनिया गांधी और कांग्रेस प्रमुख राहुल गांधी ने किसी भी रक्षा सौदे में कभी किसी तरह का दखल नहीं दिया था.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
राफेल सौदे घोटाले के आरोप झेल रही बीजेपी अब अगस्ता-वेस्टलैंड डील को बना रही है बड़ा मुद्दा, योगी और फडणवीस ने खोला मोर्चा

अगस्ता वेस्टलैंड डील मामले पर अब बीजेपी हमलावर

नई दिल्ली:

साल 2018 में जहां राफेल सौदा छाया रहा है वहीं ऐसा लग रहा है कि अब साल 2019 में बीजेपी अगस्ता वेस्टलैंड मामले को बड़ा मुद्दा बनाने की कोशिश रही है. जब से ईडी ने कोर्ट को बताया है कि इस सौदे के बिचौलिए क्रिश्चियन मिशेल  ने सोनिया गांधी का नाम लिया है, इसके बाद से बीजेपी ने हमलावर रुख अपना लिया है. इसी कड़ी में आज बीजेपी के सभी मुख्यमंत्री और प्रदेश के अध्यक्ष इस सौदे को लेकर प्रेंस कांन्फ्रेंस कर रहे हैं. हालांकि इससे पहले यूपीए सरकार के समय रक्षामंत्री रहे एके एंटनी ने कहा कि यूपीए अध्यक्ष सोनिया गांधी और कांग्रेस प्रमुख राहुल गांधी ने किसी भी रक्षा सौदे में कभी किसी तरह का दखल नहीं दिया था. उन्होंने अगस्ता वेस्टलैंड मामले में भाजपा पर झूठ गढ़ने का आरोप भी लगाया. एंटनी ने कहा, 'सरकार और बीजेपी झूठ गढ़ने के लिए सरकारी एजेंसियों का दुरुपयोग कर रही हैं. सोनिया गांधी और राहुल गांधी ने किसी रक्षा सौदे में कभी दखल नहीं दिया.'

पोल : 2018 का सबसे पसंदीदा राजनेता कौन...?


मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के आरोप

  1. कांग्रेस बार-बार अपने कारनामों के जरिये इस देश के आम नागरिकों और देश की सुरक्षा के साथ खिलवाड़ करती रही है. साल 2004 से 2014 के बीच केन्द्र में अपनी सरकार के कार्यकाल में कोई ऐसा क्षेत्र नहीं था जिसमें कांग्रेस ने घोटाला ना किया हो. जल, थल, नभ, अंतरिक्ष और पाताल समेत जीवन के हर क्षेत्र को कांग्रेस ने घोटालों से आच्छादित किया.राहुल गांधी को देश की जनता से माफी मांगनी चाहिये.
  2. कांग्रेस के शासनकाल में अगस्ता वेस्टलैंड हेलीकॉप्टर खरीद में हुए 3700 करोड़ रुपये के 'घोटाले' में करीब 360 करोड़ रुपये की रिश्वतखोरी मानी जा रही है. उसमें से 150 करोड़ रुपये कांग्रेस के नेताओं को मिले हैं. इस मामले में गिरफ्तार किये गये बिचैलिये क्रिश्चियन मिशेल द्वारा प्रवर्तन निदेशालय के सामने 'मिसेज गांधी' नाम लिया जाना यह साबित करता है कि इसमें कांग्रेस की पूरी संलिप्तता है. 
  3. अगस्ता वेस्टलैंड से जुड़े मामले में इस कम्पनी के अधिकारियों को इटली की अदालत ने पहले भी सजा दी है. अदालत ने यह भी कहा है कि इस मामले से जुड़े अन्य अभियुक्त इटली के बाहर के हैं, इसलिये वह उसमें कुछ नहीं कर सकती. आखिर कौन हैं वे लोग. श्रीमती गांधी का नाम आना अपने आप में साबित करता है कि इसमें कांग्रेस नेताओं की संलिप्तता है.
  4. यही कारण है कि मिशेल की गिरफ्तारी से कांग्रेस सबसे ज्यादा घबरायी नजर आयी और उसने उसके लिये सबसे पहले अपना अधिवक्ता भेजा. कांग्रेस रक्षा सौदों के नाम पर किस तरह से बड़े-बड़े घोटालों को अंजाम देती रही है. मुख्यमंत्री ने कहा कि कांग्रेस चोरी और सीनाजोरी करती है. इस वक्त चोर मचाये शोर वाली स्थिति है.

पूर्व रक्षामंत्री एके एंटनी का मोदी सरकार पर निशाना: झूठ बोल रही है सरकार, सोनिया-राहुल ने कभी नहीं दिया कोई दखल

महाराष्ट्र के सीएम देवेंद्र फडणवीस का बयान 

  1. अगस्ता वेस्टलैंड को 12 हेलीकॉप्टर का टेंडर दिया गया. बाद में इटली में जो उसकी पैरेंट कंपनी है वहां छपा पड़ा तो पता चला कि सौदे में भ्रष्टाचार हुआ है. ये भी पता चला कि कुछ लोगों को रिश्वत देने की जानकारी भी मिली. वहां कुछ लोगों की गिरफ्तारी भी हुई, सजा भी दी गई.  
  2. फैसले में श्रीमती सोनिया गांधी का 4 बार नाम आया है. 125 करोड़ का कमीशन देने की बात थी. इसमें जो मध्यस्थ है. उस  पर छापा मारा गया उसके पास से भी कागजों 'पे आउट' की जानकारी मिली. बाद में क्रिश्चियन मिशेल की गिरफ्तारी हुई. जिसे डिपोर्ट किया गया. 
  3. ईडी ने बताया है कि बहुत सी बातों को वो मान रहा है. अगस्ता वेस्टलैंड में घोटाला हुआ ये सभी विदेशी अदालतों ने माना है. रिश्वत देने के लिए सेल (फर्जी) कंपनी खोली गई थी. कल तक कुछ ना रहते भी चोर चोर बोलने वाले राहुल गांधी अब इस पर जवाब देंगे क्या? ये हमारा सवाल है. केस सीबीआई को उनके समय में ही दिया गया था. अब झूठा आरोप लगा रहे हैं कि सीबीआई का दुरुपयोग हो रहा है.
  4. सभी घोटालों में एक ही परिवार का नाम क्यों आता है? कल तक HAL की तरफदारी करने वाले अब जब अगस्ता वेस्टलैंड में  HAL को बाहर रखने पर चुप हैं अपने देश फ़ाइल को ट्रैकिंग विदेश में बैठे एजेंट कर रहे हैं. ये देश की सुरक्षा के लिए कितना बड़ा धोखा है? 
  5. कांग्रेस पार्टी को शरद पवार के रूप में अच्छा वकील मिला है.  शिवसेना के आरोपों को हम तवज्जो नहीं देते. भारत के इतिहास में ऐसे प्रधानमंत्री जिन्हें अपने घर परिवार की नहीं सिर्फ देश की चिंता है. ऐसे में सिर्फ यही कहना है कि सूरज को देख कर थूकने वाले का थूक उसके मुंह पर ही गिरता है. अगस्ता वेस्टलैंड को मेक इन इंडिया में शामिल करने के बारे में जानकारी नहीं है इसलिये अभी कुछ नहीं कहूंगा.

इंडिया 9 बजे: अगस्ता वेस्टलैंड हेलीकॉप्टर मामले में ईडी के खुलासे के बाद बीजेपी-कांग्रेस आमने-सामने​

टिप्पणियां

 

इनपुट : भाषा से भी



Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें.


Advertisement