Delhi में शीत लहर की दस्तक, अगले 3-4 दिनों में पारा और नीचे लुढ़कने के आसार

मौसम विभाग (IMD) का कहना है कि दिल्ली में न्यूनतम तापमान 10 डिग्री से कम रहता है तो शीत लहर का ऐलान हो जाएगा. इस साल नवंबर में ज्यादा ठंड बढ़ने का अनुमान जताया गया है.

Delhi में शीत लहर की दस्तक, अगले 3-4 दिनों में पारा और नीचे लुढ़कने के आसार

Delhi Cold Weather : दिल्ली में 31 अक्टूबर को सबसे कम तापमान 9.4 डिग्री दर्ज किया गया था.

नई दिल्ली:

दिल्ली में शीत लहर दस्तक देने वाली वाली है. मंगलवार को Delhi में सीजन का सबसे कम न्यूनतम तापमान (Minimum Temperature) 10 डिग्री दर्ज किया गया. मौसम विभाग (IMD) का कहना है कि एक और दिन तापमान इतना कम रहा तो वह दिल्ली में शीत लहर (Cold Wave) की घोषणा कर देगा. ठंड के साथ बढ़ते प्रदूषण ने खतरे की घंटी बजा दी है.

यह भी पढ़ें- Pollution In Delhi 2020: देश की राजधानी में प्रदूषण की दस्तक, मंगलवार सुबह छाया रहा धुआं

मौसम विभाग (India Meteorological Department) का कहना है कि इस साल नवंबर पिछले 4-5 सालों में सबसे ठंडा रहने का अनुमान है. दिल्ली के मौसम पर (Delhi Weather) आईएमडी के क्षेत्रीय केंद्र के प्रमुख कुलदीप श्रीवास्तव ने कहा कि तापमान में कमी का अगले 4-5 दिनों तक ट्रेंड जारी रहेगा. मैदानी इलाकों में अगर न्यूनतम तापमान 10 डिग्री सेल्सियस से कम दर्ज होता है तो मौसम विभाग शीत लहर की घोषणा करता है. लगातार दो दिनों से न्यूनतम तापमान सामान्य से 4.5 डिग्री कम बना हुआ है. श्रीवास्तव ने कहा कि अगर बुधवार को भी दिल्ली में न्यूनतम तापमान 10 डिग्री से कम रहता है तो शीत लहर का ऐलान हो जाएगा. इस साल नवंबर में ज्यादा ठंड बढ़ने का अनुमान भी उन्होंने जताया है.

अगले 3-4 दिनों में तापमान और गिरेगा
शहर में तापमान से जुड़ा डेटा प्रदान करने वाली सफदरजंग आर्ब्जवेटरी के मुताबिक, नवंबर के पहले तीन दिनों में औसत न्यूनतम तापमान 14.5 डिग्री दर्ज किया गया है. IMD का अनुमान है कि नवंबर के अंत तक शहर में तापमान 11-12 डिग्री तक लुढ़क जाएगा. मौसम विभाग के वरिष्ठ वैज्ञानिकों का कहना है कि अगले 3-4 दिनों में न्यूनतम तापमान 10 से भी नीचे आ सकता है. उनका कहना है कि आसमान साफ होने के कारण दिल्ली में न्यूनतम तापमान में इसी तरह गिरावट बनी रहने के आसार हैं. 

Newsbeep

आसमान साफ होने से ठंडक बढ़ेगी
श्रीवास्तव ने कहा कि आसमान में बादल छाए रहने के कारण पृथ्वी से परावर्तित होने वाली इंफ्रारेड किरणों में कुछ वापस पृथ्वी की तरफ ही लौट जाती हैं, जिससे धरती गर्म होती है, लेकिन अभी ऐसा नहीं है. इसके पीछे की एक और वजह हवा की स्थिरता है, जिसके कारण नमी और कोहरा बनता है. अभी पहाड़ों में बर्फबारी नहीं हुई है, इसलिए अभी वहां की ठंडी हवाओं ने दिल्ली के मौसम को प्रभावित करना शुरू नहीं किया है. आईएमडी के अनुसार, राष्ट्रीय राजधानी में अक्टूबर का महीना पिछले 58 साल में सबसे ठंडा रहा. दिल्ली में अक्टूबर में सामान्य रूप से औसत तापमान 19.1 डिग्री रहता है.

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


26 साल का रिकॉर्ड टूटा था
आईएमडी के अनुसार, इस साल अक्टूबर में औसतन न्यूनतम तापमान 17.2 डिग्री रहा, जो 1962 के 16.9 डिग्री के बाद अक्टूबर महीने में सबसे कम तापमान है. शहर में अक्टूबर 2007 में औसत न्यूनतम तापमान 17.5 डिग्री दर्ज किया गया था. गुरुवार को को दिल्ली में न्यूनतम तापमान 12.5 डिग्री दर्ज किया गया जो कि पिछले 26 साल में अक्टूबर में सबसे कम तापमान था. दिल्ली में अक्टूबर में इससे पहले 1994 में इतना कम तापमान दर्ज किया गया था. उस समय 12.3 डिग्री तापमान दर्ज था. दिल्ली में 31 अक्टूबर को अब तक का सबसे कम तापमान 1937 में (9.4 डिग्री) दर्ज किया गया था.
 



(इस खबर को एनडीटीवी टीम ने संपादित नहीं किया है. यह सिंडीकेट फीड से सीधे प्रकाशित की गई है।)