NDTV Khabar

Ayodhya case में सुनवाई के दौरान नक्शा फाड़ने वाले राजीव धवन के खिलाफ दिल्ली में शिकायत दर्ज

शिकायतकर्ता ने पुलिस को दी अपनी शिकायत में कहा कि राम मंदिर का नक्शा फाड़ने के साथ ही राजीव धवन ने देश में अराजकता फैलाने की कोशिश की है.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
Ayodhya case में सुनवाई के दौरान नक्शा फाड़ने वाले राजीव धवन के खिलाफ दिल्ली में शिकायत दर्ज

राजीव धवन के खिलाफ पुलिस को मिली शिकायत (प्रतीकात्मक चित्र)

खास बातें

  1. दिल्ली पुलिस को दी गई है शिकायत
  2. शिकायत में राजीव धवन के खिलाफ कड़ी कार्रवाई करने की बात कही गई
  3. कोर्ट में राम मंदिर का नक्शा फाड़ने का है मामला
नई दिल्ली:

अयोध्या मामले में बुधवार को सुनवाई के दौरान मुस्लिम पक्ष के वकील राजीव धवन द्वारा नक्शा फाड़ने को लेकर दिल्ली में शिकायत दर्ज कराई गई है. इस शिकायत में राजीव धवन पर कड़ी कार्रवाई की मांग भी की गई है. शिकायतकर्ता ने दिल्ली के पॉर्लियामेंट स्ट्रीट थाने में राजीव धवन के खिलाफ शिकायत दी है. शिकायतकर्ता ने पुलिस को दी अपनी शिकायत में कहा कि राम मंदिर का नक्शा फाड़ने के साथ ही राजीव धवन ने देश में अराजकता फैलाने की कोशिश की है. इसलिए इनके खिलाफ IPC की विभिन्न धाराओं के तहत मामला दर्ज किया जाना चाहिए. बता दें कि अयोध्या में राम जन्मभूमि और बाबरी मस्जिद के ज़मीन विवाद (Ayodhya case) पर सुप्रीम कोर्ट में सुनवाई पूरी हो गई है और इस पर 17 नंवबर से पहले फ़ैसला सुनाया जा सकता है. 17 नवंबर को ही सुप्रीम कोर्ट के मुख्य न्यायाधीश रंजन गोगोई रिटायर हो रहे हैं.

3n8pm26

इस मामले में 5 जजों की संविधान पीठ ने लगातार 40 दिन तक सुनवाई की. यह देश के इतिहास में सबसे लंबी दूसरी सुनवाई थी. इस बेंच में CJI रंजन गोगाई  के अलावा जस्टिस एसए बोबडे, जस्टिस डीवाय चंद्रचूड़, जस्टिस अशोक भूषण और जस्टिस  एसए नज़ीर शामिल हैं. यह संविधान पीठ इलाहाबाद हाईकोर्ट के 2010 में दिए गए उस फ़ैसले को  चुनौती देने वाली याचिकाओं की सुनवाई कर रही थी. जिसमें तीनों पक्षकारों यानी रामलला, निर्मोही  अखाड़ा और सुन्नी वक़्फ़ बोर्ड को 2.77 एकड़ की विवादित ज़मीन का एक तिहाई यानी बराबर-बराबर हिस्सा देने की बात कही गई थी.  


Ayodhya Case : दोनों पक्षों के वकीलों के बीच तीखी बहस हुई, सुनवाई कल ही खत्म होने की उम्मीद

बुधवार को हुई सुनवाई के दौरान कई ऐसे मौके आए जो हेडलाइन बन गईं थी. सुनवाई के दौरान मुस्लिम पक्ष के वकील राजीव धवन ने हिन्दू महासभा के वकील विकास सिंह की ओर से पेश किए गए नक्शे को फाड़ दिया था. विकास सिंह ने कहा था कि मैं हाईकोर्ट के फैसले के मुताबिक एक नक्शा दिखाना चाहता हूं.  मुस्लिम पक्ष के वकील राजीव धवन ने कहा था कि यह भी किताब का हिस्सा है. मैं किसी भी सूरत में इसे मंजूरी नहीं दे सकता. ये कहते हुए धवन ने नक्शा फाड़ डाला और पांच टुकड़े कर दिए. यह खबर बाहर आते ही चर्चा का विषय बन गई.  

Ayodhya Case : सुप्रीम कोर्ट ने सुनवाई की मियाद घटाई, अब सिर्फ चार दिन और होगी बहस

टिप्पणियां

नक्शा फाड़ने का फैसला सिर्फ राजीव धवन का अकेले का नहीं था. उन्होंने बताया था कि मैंने कोर्ट में कहा था कि मैं इसे फेंक रहा हूं. चीफ जस्टिस ने कहा था कि जो करना है करो, तो मैंने फाड़ दिया'. लेकिन सोशल मीडिया में यह खबरें वायरल होने लगीं. इस पर प्रधान न्यायाधीश (CJI)रंजन गोगाई ने राजीव धवन से कहा था कि आप सफाई दे सकते हैं सीजेआई ने फाड़ने को कहा था. वहीं, जस्टिस नजीर ने कहा कि ये खबर वायरल हो रही है, हमने भी देखी है.

अयोध्या पर SC में तीखी बहस: मुस्लिम पक्ष ने फाड़ा हिंदू पक्ष का नक्शा​



Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें.


Advertisement