पूर्व राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी की सेहत में कोई सुधार नहीं, अभी भी वेंटिलेटर पर : आर्मी अस्पताल

मुखर्जी (84) को 10 अगस्त को सेना के रिसर्च एंड रेफरल अस्पताल में भर्ती कराया गया था और उनकी मस्तिष्क की सर्जरी की गई थी. इससे पहले कोविड-19 जांच में उनके संक्रमित होने की पुष्टि हुई थी.

पूर्व राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी की सेहत में कोई सुधार नहीं, अभी भी वेंटिलेटर पर : आर्मी अस्पताल

नई दिल्ली:

देश के पूर्व राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी (Pranab Mukherjee) की सेहत आज भी कोई सुधार नहीं देखने को मिला है. दिल्ली कैंट के आर्मी रिसर्च एंड रेफरल अस्पताल में भर्ती पूर्व-राष्ट्रपति के स्वास्थ्य को लेकर आज अस्पताल हेल्थ बुलेटिन जारी किया गया. अस्पताल के बयान के मुताबिक, 'पूर्व राष्ट्रपति की सेहत में आज सुबह भी कोई बदलाव देखने को नहीं मिला है. वह अभी भी वेंटिलेटरी सपोर्ट पर हैं. उनके प्रमुख पैरामीटर अभी भी स्थिर बने हुए है और हमारी टीम बारिकी से निगरानी कर रही है. '

मुखर्जी (84) को 10 अगस्त को सेना के रिसर्च एंड रेफरल अस्पताल में भर्ती कराया गया था और उनकी मस्तिष्क की सर्जरी की गई थी. इससे पहले कोविड-19 जांच में उनके संक्रमित होने की पुष्टि हुई थी.

इससे पहले शुक्रवार को पूर्व राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी की बेटी शर्मिष्ठा मुखर्जी ने जानकारी दी कि  अस्पताल के डॉक्टरों ने बताया कि पूर्व राष्ट्रपति की सेहत शुक्रवार सुबह भी वैसी ही बनी रही.

प्रणब मुखर्जी की हालत 'हेमोडाइनेमिकली स्थिर', बेटे ने सभी से की प्रार्थनाएं जारी रखने की गुजारिश

14 अगस्त को मुखर्जी के मेडिकल बुलेटिन के बाद उनकी बेटी ने ट्विटर पर जानकारी दी कि उनकी हालत में गिरावट नहीं आई है. उन्होंने कहा, ‘‘चिकित्सा की विशिष्ट भाषा की गहराई में नहीं जाते हुए, बीते दो दिन में मुझे जो बात समझ में आई है वह यह है कि मेरे पिता की हालत बहुत नाजुक बनी हुई है लेकिन उसमें गिरावट नहीं आई है. रोशनी के प्रति उनकी आंख की प्रतिक्रिया में थोड़ा सुधार आया है.'' प्रणब मुखर्जी 2012 से 2017 तक भारत के 13वें राष्ट्रपति रहे हैं.

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com

(इनपुट एजेंसी भाषा से भी)

पूर्व राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी की हालत नाजुक