NDTV Khabar

मध्य प्रदेश ट्रेन ब्लास्ट के तार ISIS से जुड़े होने पर खड़े हुए सवाल? UP और MP से अलग-अलग बयान

2.7K Shares
ईमेल करें
टिप्पणियां
मध्य प्रदेश ट्रेन ब्लास्ट के तार ISIS से जुड़े होने पर खड़े हुए सवाल? UP और MP से अलग-अलग बयान

मध्य प्रदेश में पैसेंजर ट्रेन में धमाका...

खास बातें

  1. शिवराज का कहना है कि ब्लास्ट के आतंकी IS से जुड़े थे
  2. यूपी पुुलिस ने कहा कि सैफुल्ला आईएस से प्रभावित था
  3. वह स्वयंभू कट्टरपंथी था, खुद को IS का हिस्सा मानता था
नई दिल्ली: बीती शाम को जब से यूपी पुलिस ने यह बात साफ की है कि सैफल्लाह के आईएस से जुड़ होने के सबूत नहीं मिले हैं. इस बात पर सवाल खड़े हुए हैं कि आखिर यूपी के एंटी टेरर स्कॉड को बढ़चढ़ कर इस पर बयानबाजी करने की क्या जरूरत थी. यूपी ATS ने सैफुल्लाह को आईएस के खोरासान मॉड्यूल से जुड़ा बताया था. यही नहीं मध्य प्रदेश के मुख्य मंत्री ने भी धमाके के पीछे आईएस का हाथ होने की बात कही थी. बीते 24 घंटों में कैसे आईएस को लेकर यूपी की जांच एजेंसियों ने यू टर्न लिया देखते हैं. ऑपरेशन ख़त्म होन के बाद यूपी एटीएस के आईजी असीम अरुण ने इसके तार ISIS से जुड़े बताए थे. जहां एक तरफ़ जहां यूपी पुलिस कह रही है कि इस बात के पुख्ता सबूत नहीं है कि सैफुल्ला का नाता ISIS से था वहीं मध्य प्रदेश सरकार का कहना है कि ट्रेन धमाके वाली जगह से जो सबूत मिले हैं उसके आधार पर ये मामला ISIS से लग रहा है.

यूपी पुलिस के एडीजी दलजीत चौधरी का कहना है कि बहुत सारे नौजवान आईएसआईएस से प्रभावित हो रहे हैं और यह ग्रुप उन्हीं में से एक था. इनसे हमें 45 ग्राम सोना, रियाद की चेकबुक पासपोर्ट ड्राइविंग लाईसेंस और एटीएम कार्ड मिले हैं.  पूछताछ में गिरफ्तार हुए आरोपियों ने यह भी बताया है कि उन्होंने बम बनाना ऑनलाइन सीखा. सैफुल्ला और 8 अन्य लोग एक गुट के सदस्य थे, जो इस्लामिक स्टेट के ऑनलाइन दुष्प्रचार के जरिए कट्टरपंथी बने.

टिप्पणियां
मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने भोपाल-उज्जैन पैसेंजर ट्रेन में हुए धमाके के लिए आतंकी संगठन इस्लामिक स्टेट ऑफ इराक एंड सीरिया (आईएसआईएस) को जिम्मेदार बताया है. चौहान ने बताया कि इस संगठन के आतंकी लखनऊ से यहां आए और इन्होंने भोपाल-उज्जैन पैसेंजर ट्रेन में बम रखा. तीन आतंकी लखनऊ से रवाना हुए और ट्रेन से उतरकर इस ट्रेन में विस्फोटक सामग्री रखी. ब्लास्ट बड़ा था और मौके से जो दुर्गन्ध आ रही थी वो विस्फोटक पदार्थ की ही थी. घटना के पीछे किसकी साजिश है, इसका पता लगाने के लिए हमारी एटीएस और पुलिस जुटी हुई थी। मुझे खुशी है कि एटीएस और पुलिस ने तीनों आतंकियों को होशंगाबाद जिले के पिपरिया में धरदबोचा। पूछताछ में सामने आया है कि तीनों आतंकियों का कनेक्शन आईएसआईआई से है. (इनपुट्स एजेंसी से भी)


 


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

Advertisement