NDTV Khabar

कांग्रेस ने पीएम मोदी पर साधा निशाना, कहा- रुपये का गिरना स्वतंत्रता दिवस पर केंद्र सरकार का देश को उपहार

राहुल ने ट्वीट करके मोदी का एक पुराना वीडियो साझा किया जिसमें वह रुपये के गिरने पर तत्कालीन संप्रग सरकार पर निशाना साध रहे हैं.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
कांग्रेस ने पीएम मोदी पर साधा निशाना, कहा- रुपये का गिरना स्वतंत्रता दिवस पर केंद्र सरकार का देश को उपहार

कांग्रेस पार्टी ने केंद्र सरकार पर लगाए आरोप

नई दिल्ली: कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने डॉलर के मुकाबले रुपये के 70 के निम्नतम स्तर पर गिर जाने को लेकर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर निशाना साधा और कहा कि इससे सुप्रीम नेता को अविश्वास मत मिल गया है. वहीं उनकी पार्टी ने कहा कि यह स्वतंत्रता दिवस के मौके पर प्रधानमंत्री का देश को उपहार है. राहुल ने ट्वीट करके मोदी का एक पुराना वीडियो साझा किया जिसमें वह रुपये के गिरने पर तत्कालीन संप्रग सरकार पर निशाना साध रहे हैं. उस समय वह गुजरात के मुख्यमंत्री थे और 2014 के लोकसभा चुनाव के लिए भाजपा के प्रधानमंत्री पद के उम्मीदवार चुन लिये गये थे. उन्होंने ट्वीट किया कि भारतीय रुपये ने सुप्रीम नेता को अविश्वास मत दे दिया है. इस वीडियो में अर्थशास्त्र पर सुप्रीम नेता की क्लास सुनिए जहां वह बता रहे हैं कि रुपया क्यों गिर रहा है.

यह भी पढ़ें: जब कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने बताया, 'हो चुकी है मेरी शादी...'

कांग्रेस प्रवक्ता रणदीप सुरजेवाला ने डॉलर के मुकाबले रुपये की कीमत अब तक के सबसे निचले स्तर पर चले जाने को लेकर आज नरेंद्र मोदी सरकार पर कटाक्ष करते हुए कहा कि ऐसा लगता है कि प्रधानमंत्री ने भारतीय रुपये को ‘मार्गदर्शक मंडल’ तक पहुंचाने का ‘गुप्त लक्ष्य’ तय कर रखा है. उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री मोदी और सरकार को देश को यह तत्काल बताना चाहिए कि वे अर्थव्यवस्था की खराब स्थिति को सुधारने के लिए क्या कदम उठाने जा रहे हैं.

यह भी पढ़ें: PM मोदी को राहुल गांधी ने राफेल मुद्दे पर दी बहस की चुनौती, BJP ने दिया यह जवाब...

टिप्पणियां
संवाददाताओं से बात करते हुए सुरजेवाला ने कहा कि आपको पता है कि मोदी जी ने मार्गदर्शक मंडल के लिए 75 साल की उम्र तय कर रखी है. जिस प्रकार से मोदी सरकार अर्थव्यवस्था पर कुठाराघात कर रही है उससे तो यही लगता है कि मोदी जी का गुप्त लक्ष्य रुपये को मार्गदर्शक मंडल तक पहुंचाने का है. मोदीनॉमिक्स (मोदी के अर्थशास्त्र) की खामियों को ‘मनमोहननॉमिक्स) (मनमोहन सिंह के अर्थशास्त्र) से दुरुस्त किया जा सकता है. उन्होंने कहा, ‘‘2018 में ही रुपये की कीमत करीब 10 प्रतिशत कम हो गई. रुपया एशिया की सबसे कमजोर मुद्रा बन चुका है.

VIDEO: राहुल गांधी ने किया पीएम मोदी पर हमला.

एशिया के कई देशों की मुद्राएं मजबूत हुई हैं लेकिन भारतीय रुपये ने अपनी चमक खो दी है. कांग्रेस प्रवक्ता ने कहा कि अर्थव्यवस्था की खराब स्थिति के लिए मोदी सरकार वैश्विक कारणों को जिम्मेदार ठहरा रही है. लेकिन यह सर्वविदित है कि 2008 की वैश्चिक मंदी के समय भी तत्कालीन संप्रग सरकार और मनमोहन सिंह ने किस तरह से भारतीय अर्थव्यवस्था को मजबूत बनाए रखा. इससे पहले सुरजेवाला ने ट्वीट कर कहा था कि 70 वर्ष में पहली बार 70 के पार गया रुपया . (इनपुट भाषा से) 


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

Advertisement