NDTV Khabar

सबरीमाला मामला: केरल के मुख्यमंत्री ने बुलाई थी ऑल पार्टी मीटिंग, कांग्रेस-बीजेपी ने बीच में ही छोड़ी बैठक

17 नवंबर से ढाई महीनें लंबे चलने वाले 'मंडल मकराविलाकु' पावन महीने की शुरुआत हो रही है. इस पावन महीने के दौरान महिलाएं मंदिर में दर्शन के लिए आ सकती है.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
सबरीमाला मामला: केरल के मुख्यमंत्री ने बुलाई थी ऑल पार्टी मीटिंग, कांग्रेस-बीजेपी ने बीच में ही छोड़ी बैठक

खास बातें

  1. केरल के मुख्यमंत्री ने बुलाई थी बैठक
  2. सबरीमाला मामले में कांग्रेस-बीजेपी ने किया था प्रदर्शन
  3. केरल के सीएम ने आरएसएस और बीजेपी को ठहराया जिम्मेदार
नई दिल्ली:

सबरीमाला मामले (Sabrimala Temple Issue) पर कांग्रेस और बीजेपी केरल के मुख्यमंत्री पी.विजयन द्वारा बुलाई बैठक को बीच में ही छोड़कर बाहर निकल गए. मुख्यमंत्री ने मंदिर में सभी महिलाओं के प्रवेश को लेकर हो रही खींचतान को लेकर यह बैठक बुलाई थी. खास बात यह है कि 17 नवंबर से ढाई महीनें लंबे चलने वाले 'मंडल मकराविलाकु' पावन महीने की शुरुआत हो रही है. इस पावन महीने के दौरान महिलाएं मंदिर में दर्शन के लिए आ सकती है. ऐसे में इसे लेकर कोई बवाल न हो इसे ध्यान में रखते हुए सीएम ने सभी पार्टी की बैठक बुलाई थी. इस पावन महीने में दर्शन को लेकर बीते एक सप्ताह में 500 से ज्यादा महिलाओं ने केरल पुलिस की वेबसाइट पर अपना पंजीकरण कराया हुआ है. 

यह भी पढ़ें: शशि थरूर ने BJP और RSS पर फिर बोला हमला, कहा- सबरीमाला मंदिर को अपवित्र न करें


इन सब के बीच मुख्यमंत्री पी.विजयन ने इस पूरे विवाद के लिए बीजेपी और आरएसएस को जिम्मेदार बताया है. उन्होंने कहा कि बीते कुछ दिनों में इस मामले को लेकर बीजेपी के रुख के बारे मे सभी को पता चल गया है. अब यह सभी के सामने हैं कि किस तरह के बीजेपी के नेताओं को जानबूझकर इस मामले में स्थिति बिगाड़ने के लिए कोशिशें कर चुके हैं. ध्यान हो कि पिछले सप्ताह कांग्रेस और बीजेपी ने केरल में सुप्रीम कोर्ट के उस फैसले का विरोध करते हुए प्रदर्शन किया था जिसमें कोर्ट ने 10 से 50 वर्ष की बच्ची और महिलाओं को मंदिर में घुसने की अनुमति दे दी थी. 

यह भी पढ़ें: सबरीमला मंदिर के द्वार खुले, पम्बा में परिवार के साथ पूजा के इंतजार में 30 साल की महिला

गौरतलब है कि केरल के सबरीमला मंदिर में सभी उम्र की महिलाओं के प्रवेश के सुप्रीम कोर्ट के फैसले के खिलाफ दाखिल जनहित याचिकाओं पर SC पुनर्विचार याचिकाओं पर फैसले के बाद सुनवाई करेगा. CJI ने कहा कि अगर पुनर्विचार याचिकाएं खारिज करेंगे तो हम जनहित याचिकाओं को सुनेंगे. अगर पुनर्विचार याचिकाओं को सुनेंगे तो इनको भी टैग कर देंगे. आपको बता दें कि मंगलवार को तीन बजे चेंबर में पांच जजों की बेंच 49 पुनर्विचार याचिकाओं पर सुनवाई करेगी.

टिप्पणियां

VIDEO: फिर खुले सबरीमाला मंदिर के दरवाजे.

ध्यान हो कि 28 सितंबर को सुप्रीम कोर्ट ने ऐतिहासिक फैसला सुनाते हुए केरल के सबरीमला मंदिर में महिलाओं को प्रवेश की अनुमति दे दी थी.4:1 के बहुमत से हुए फैसले में पांच जजों की संविधान पीठ ने साफ कहा कि हर उम्र वर्ग की महिलाएं अब मंदिर में प्रवेश कर सकेंगी.

 



NDTV.in पर विधानसभा चुनाव 2019 (Assembly Elections 2019) के तहत हरियाणा (Haryana) एवं महाराष्ट्र (Maharashtra) में होने जा रहे चुनाव से जुड़ी ताज़ातरीन ख़बरें (Election News in Hindi), LIVE TV कवरेज, वीडियो, फोटो गैलरी तथा अन्य हिन्दी अपडेट (Hindi News) हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें.


Advertisement