लोकसभा चुनाव में मिली हार तो कांग्रेस नेता ने अपनी पार्टी को ही दी धमकी, 'उन्हें जिले के अंदर नहीं घुसने दूंगा, जिन्होंने...'

ओडिशा की सुंदरगढ़ लोकसभा सीट से कांग्रेस उम्मीदवार जॉर्ज टिर्की ने बुधवार को भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) पर ईवीएम हैक करने और साथ ही अपनी पार्टी के कुछ नेताओं पर भीतरघात करने का भी आरोप लगाया है.

लोकसभा चुनाव में मिली हार तो कांग्रेस नेता ने अपनी पार्टी को ही दी धमकी, 'उन्हें जिले के अंदर नहीं घुसने दूंगा, जिन्होंने...'

राहुल गांधी के साथ कांग्रेस नेता जॉर्ज टिर्की- फाइल फोटो

खास बातें

  • ओडिशा की सुंदरगढ़ लोकसभा सीट से कांग्रेस उम्मीदवार थे जॉर्ज टिर्की
  • भाजपा पर ईवीएम हैक करने का आरोप
  • अपनी पार्टी के कुछ नेताओं पर भीतरघात करने का भी आरोप
नई दिल्ली:

ओडिशा की सुंदरगढ़ लोकसभा सीट से कांग्रेस उम्मीदवार जॉर्ज टिर्की ने बुधवार को भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) पर ईवीएम हैक करने और साथ ही अपनी पार्टी के कुछ नेताओं पर भीतरघात करने का भी आरोप लगाया है. टिर्की ने ईवीएम हैकिंग और भीतरघात को अपनी हार के लिए जिम्मेदार ठहराया है. भाजपा और कांग्रेस दोनों दलों ने इन आरोपों को खारिज किया है. भाजपा के जुएल ओराम ने बीजू जनता दल (बीजद) की सुनिता बिस्वाल को 2 लाख से ज्यादा मतों से हराकर सुंदरगढ़ सीट पर जीत दर्ज की है जबकि टिर्की तीसरे स्थान पर रहे.

एक तरफा प्यार में गर्भवती महिला को जिंदा जलाया, खुद को भी किया आग के हवाले

टिर्की ने संवाददाताओं को बताया, "2014 में मोदी की लहर थी और भाजपा उम्मीदवार जुएल ओरम को सिर्फ 3.6 लाख मत मिले थे और इस बार कोई ऐसी लहर नहीं थी और राउरकेला के भाजपा विधायक दिलीप रे ने भी पार्टी से इस्तीफा दे दिया था। फिर भी ओरम को पांच लाख से ज्यादा मत मिले". उन्होंने लोकसभा चुनाव में भाजपा पर ईवीएम मशीन हैक करने का आरोप लगाया. कांग्रेस नेता ने कहा, "यहां ईवीएम हैकिंग हुई और मैंने पार्टी को इसके बारे में जानकारी दी है. हम कलेक्टर कार्यालय का घेराव करेंगे."

के पलानीस्वामी ने ट्विटर पर पीएम मोदी से की देश भर में तमिल को वैकल्पिक विषय बनाने की मांग, बाद में डिलीट किया ट्वीट

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com

टिर्की ने अपनी हार के लिए अपनी पार्टी के नेताओं को दोषी ठहराया है. उन्होंने दावा किया, "मैं हारा, हमारे अन्य उम्मीदवार भी हार गए क्योंकि पार्टी के कुछ सदस्यों ने भीतरघात किया. ये सदस्य बूथ से लेकर प्रदेश कांग्रेस कमेटी (पीसीसी) के स्तर तक है. मैंने इस संबंध में पीसीसी को सूचित किया है." उन्होंने धमकी दी कि अगर प्रदेश कांग्रेस कमेटी ने इनके खिलाफ कड़ी कार्रवाई नहीं की तो मैं इन्हें सुंदरगढ़ जिले के अंदर नहीं घुसने दूंगा."

(इनपुट भाषा से)