चीन के साथ बॉर्डर विवाद से विश्वास में लेकर देश की चिंताएं दूर करें सरकार : कांग्रेस

कांग्रेस ने बुधवार को कहा कि भारत-चीन सीमा पर दोनों देशों के सैनिकों के बीच गतिरोध राष्ट्रीय सुरक्षा से जुड़ा गंभीर विषय है और सरकार को चाहिए कि देश को विश्वास में ले और लोगों की चिंताएं दूर करे.

चीन के साथ बॉर्डर विवाद से विश्वास में लेकर देश की चिंताएं दूर करें सरकार : कांग्रेस

वरिष्ठ कांग्रेस नेता आनंद शर्मा. (फाइल फोटो)

खास बातें

  • लद्दाख की पेंगोंग त्सो झील और गल्वान घाटी में चीनी सैनिकों की घुसपैठ
  • दोनों देशों के सुरक्षा बलों के बीच गतिरोध से बढ़ी चिंताएं
  • कांग्रेस ने की स्थिति स्पष्ट करने की मांग
नई दिल्ली:

कांग्रेस ने बुधवार को कहा कि भारत-चीन सीमा पर दोनों देशों के सैनिकों के बीच गतिरोध राष्ट्रीय सुरक्षा से जुड़ा गंभीर विषय है और सरकार को चाहिए कि देश को विश्वास में ले और लोगों की चिंताएं दूर करे. पार्टी के वरिष्ठ प्रवक्ता आनंद शर्मा ने कहा कि लद्दाख की पेंगोंग त्सो झील और गल्वान घाटी में चीनी सैनिकों की घुसपैठ और दोनों देशों के सुरक्षा बलों के बीच गतिरोध राष्ट्रीय सुरक्षा से जुड़ी गंभीर चिंता का विषय है. उनके मुताबिक, मौजूदा गतिरोध से लोगों के बीच चिंता पैदा हुई है. पूर्व केंद्रीय मंत्री ने कहा, ‘कांग्रेस पार्टी सरकार से आग्रह करती है कि वह लोगों की चिंताओं का निदान करने के लिए देश को विश्वास में ले.'

कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी ने मंगलवार को कहा था कि चीन के साथ सीमा पर कथित तनातनी और भारत-नेपाल रिश्तों में आई हालिया तल्खी से जुड़े मुद्दों को लेकर पारदर्शिता की जरूरत है और सरकार को इस बारे में देश को स्पष्ट रूप से बताना चाहिए. अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने भी इस मुद्दे पर टिप्पणी की है और कहा है कि वो दोनों देशों के बीच विवाद सुलझाने के लिए मध्यस्थता करने को तैयार हैं.

बता दें कि लद्दाख में दोनों देशों की सीमा पर स्थिति उस समय तनावपूर्ण हो गई, जब करीब 250 चीनी और भारतीय सैनिकों के बीच 5 मई को झड़प हो गई और इसके बाद स्थानीय कमांडरों के बीच बैठक भी हुई . 9 मई को उत्तरी सिक्किम में भी ऐसी ही घटना सामने आई थी. 

वीडियो: नरम हो रहे हैं चीन के तेवर ?


(इस खबर को एनडीटीवी टीम ने संपादित नहीं किया है. यह सिंडीकेट फीड से सीधे प्रकाशित की गई है।)

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com