डेढ़ घंटे तक नाविक परिवारों का दर्द बांटती रहीं प्रियंका गांधी, महिलाओं संग जमीन पर बैठी रहीं

कांग्रेस महासचिव ने कहा कि निषाद समाज की लड़ाई के लिए कांग्रेस सड़क से लेकर सदन तक लड़ेगी. प्रियंका ने यमुना किनारे जाकर टूटी हुई नावों को भी देखा. इसके बाद उन्होंने पीड़ित मछुआरों से बातचीत कर दुख दर्द बांटने की कोशिश की. प्रियंका टूटी नावों तक गांव की निषाद महिलाओं के साथ पहुंचीं.

डेढ़ घंटे तक नाविक परिवारों का दर्द बांटती रहीं प्रियंका गांधी, महिलाओं संग जमीन पर बैठी रहीं

यमुना किनारे बसवार गांव पहुंचकर प्रियंका गांधी वाड्रा जमीन पर महिलाओं के बीच बैठ गईं.

प्रयागराज:

कांग्रेस (Congress) महासचिव और उत्तर प्रदेश प्रभारी प्रियंका गांधी वाड्रा (Priyanka Gandhi Vadra) आज (रविवार, 21 फरवरी) संगम नगरी प्रयागराज में यमुनापार के बसवार गांव पहुंचीं. वहां उन्होंने नाविक समाज से मुलाकात की और उनका दुख-दर्द बांटा. यमुना किनारे बसवार गांव पहुंचकर प्रियंका जमीन पर महिलाओं के बीच बैठ गईं. वह करीब डेढ़ घंटे तक नाविक परिवारों के बीच रहीं. वो रास्ते भर पीड़ित परिवारों से रुक-रुक कर मिलती रहीं. 

इस दौरान प्रियंका गांधी वाड्रा ने योगी सरकार पर जमकर हमला बोला और कहा कि प्रदेश की भाजपा सरकार में निषाद समुदाय का उत्पीड़न हो रहा है. प्रियंका ने कहा कि निषाद समुदाय के वोट से ही राज्य में और केंद्र में भाजपा की सरकार बनी है. कांग्रेस महासचिव ने बसवार गांव में पुलिस प्रशासन की कार्रवाई को गलत ठहराते हुए आरोप लगाया कि भाजपा सरकार नाविकों को उनके हक हुकूक से बेदखल कर रही है. पीड़ित मछुआरों की मांग पर प्रियंका ने उन्हें कानूनी मदद दिलाने का हरसंभव भरोसा दिया.

कांग्रेस महासचिव ने कहा कि निषाद समाज की लड़ाई के लिए कांग्रेस सड़क से लेकर सदन तक लड़ेगी. प्रियंका ने यमुना किनारे जाकर टूटी हुई नावों को भी देखा. इसके बाद उन्होंने पीड़ित मछुआरों से बातचीत कर दुख दर्द बांटने की कोशिश की. प्रियंका टूटी नावों तक गांव की निषाद महिलाओं के साथ पहुंचीं.

'आंसू पोछने का बहाना, निषाद वोटरों पर निशाना?', 10 दिन में दूसरी बार संगम नगरी में प्रियंका गांधी 

उन्होंने कहा कि निषाद समाज का जीवन नदियों से जुड़ा रहा है, इसलिए निषाद समाज नदियों का दर्द समझता है लेकिन भाजपा सरकार निषाद समाज को छोड़कर खनन माफियाओं के साथ है. कांग्रेस नेता ने कहा कि जैसे कुछ खरबपति मित्रों के लिए केंद्र की भाजपा सरकार ने काले कृषि कानून बनाए हैं, वैसे ही राज्य की भाजपा सरकार खनन माफियाओं के साथ हो गई है. उन्होंने कहा कि कांग्रेस पार्टी निषादों के पट्टे की लड़ाई लड़ेगी और समाज को कानूनी मदद देगी.

प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष अजय कुमार लल्लू ने कहा कि उनकी पार्टी की सरकार बनी तो नदी किनारे पट्टे का अधिकार निषाद समाज को दिया जाएगा. पार्टी विधानमंडल दल की नेता आराधना मिश्रा मोना ने कहा कि उनकी पार्टी सदन में बसवार की आवाज उठाएगी. 

'महंगाई का विकास', राहुल गांधी ने बढ़ती कीमतों को लेकर मोदी सरकार पर कसा तंज

प्रियंका गांधी वाड्रा के साथ कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष अजय कुमार लल्लू, कांग्रेस विधानमंडल दल के नेता आराधना मिश्रा मोना, पूर्व सांसद प्रमोद तिवारी और वरिष्ठ नेता अनुग्रह नारायण सिंह भी मौजूद थे. बसवार गांव से प्रियंका गांधी वाड्रा सीधे बमरौली एयरपोर्ट के लिए हुई रवाना हो गईं.

10 दिनों के अंदर प्रियंका गांधी का ये दूसरा प्रयागराज दौरा था. इस दौरान उन्होंने नाविक समाज के आंसू पोछने की कोशिश के बहाने निषाद वोटरों पर भी निशाना साधा. दरअसल, 4 फरवरी को अवैध खनन के खिलाफ कार्रवाई करते हुए प्रशासन ने बसवार गांव में नाविकों की कई नावें तोड़ दी थीं. आरोप है कि इस दौरान महिलाओं पर लाठीचार्ज भी किया गया. इसी मामले में पुलिस ने नाविकों द्वारा विरोध करने पर दर्जनों लोगों के खिलाफ मामला भी दर्ज किया था. प्रियंका गांधी उसी कार्रवाई का विरोध करने और नाविक समाज को अपना समर्थन व मदद देने पहुंची थीं.

मुजफ्फरनगर किसान पंचायत : प्रियंका गांधी का निशाना, बोलीं- हमारे प्रधानमंत्री भी अहंकारी राजा की तरह हो गए


राज्य में 2022 के शुरुआत में विधान सभा चुनाव होने हैं. लिहाजा, निषाद समाज पर डोरे डालने के लिए अखिलेश यादव भी इस गांव में अपनी पार्टी का प्रतिनिधिमंडल भेज चुके हैं. निषाद पार्टी के अध्यक्ष संजय निषाद भी पीड़ितों से मुलाकात कर चुके हैं.

वीडियो- प्रियंका गांधी कर रही हैं महापंचायतें, क्या कांग्रेस को मिलेगा फायदा?

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com