कांग्रेस ने उठाया सवाल, मोदी सरकार क्या डेढ़ लाख सैनिकों की नौकरी खाने जा रही है?

कांग्रेस नेता अभिषेक मनु सिंघवी ने कहा- इस मामले पर मोदी सरकार चुप है, क्या ये डिफ़ेंस इक्विपमेंट की खरीद के नाम पर होने जा रहा है?

कांग्रेस ने उठाया सवाल, मोदी सरकार क्या डेढ़ लाख सैनिकों की नौकरी खाने जा रही है?

कांग्रेस नेता अभिषेक मनु सिंघवी (फाइल फोटो).

खास बातें

  • कहा- राष्ट्रवाद पर भाषण देते हैं, सेना की तनख़्वाह नहीं दे सकते
  • वायुसेना चीफ द्वारा राफेल डील के बचाव पर सरकार की निंदा की
  • कहा- जब सब कुछ नियंत्रण में है तो चीनी घुसपैठ कैसे हो रही
नई दिल्ली:

कांग्रेस के नेता अभिषेक मनु सिंघवी ने कहा है कि मोदी सरकार क्या डेढ़ लाख सैनिकों की नौकरी खाने जा रही है? हमें इस सवाल का जवाब चाहिए.

सिंघवी ने कहा कि इस मामले पर खबर और बहस चल रही है और दोनों पर मोदी सरकार चुप है. इस सरकार की चुप्पी का अपना ही मतलब होता है. क्या ये डिफ़ेंस इक्विपमेंट की खरीद के नाम पर होने जा रहा है? उन्होंने कहा कि आप (केंद्र सरकार) इतना टैक्स वसूल रहे हैं, तेल में ही 11लाख करोड़ वसूल लिया, क्या उससे सैनिकों की तनख़्वाह नहीं दे सकते? उन्होंने सवाल किए कि राष्ट्रवाद पर इतना भाषण देते हैं पर सेना की तनख़्वाह नहीं दे सकते? डेढ़ लाख नौकरी लेंगे?

चीनी घुसपैठ के मामले पर अभिषेक मनु सिंघवी ने कहा कि सरकार कहती है सब कुछ नियंत्रण में है. तो बताएं ये कैसे हो रहा है? सरकार कुछ कहती नहीं. कहीं कुछ छपता है तो झुठलाने की कोशिश करते हैं. हमें कहते हैं कि मानसरोवर चीनियों से दोस्ती करने गए. पर ऐसे सवालों का जवाब नहीं आता. अहंकार अंतरिक्ष में पहुंच गया है.

यह भी पढ़ें : NDTV EXCLUSIVE: ज्योतिरादित्य सिंधिया ने माना, गुटबाजी की वजह से मध्‍य प्रदेश के चुनाव में मिली कांग्रेस को हार

वायुसेना चीफ की तरफ से राफेल डील के बचाव पर कांग्रेस नेता ने कहा कि मैं किसी सेना के प्रमुख के खिलाफ नहीं बोलूंगा लेकिन हम इस बात की भर्त्सना करते हैं कि अपने बचाव के लिए किसी को आगे किया गया. खुद जवाब देने के बजाय पीछे छिप गए. उन्होंने कहा कि हमने राफेल को कभी खराब नहीं कहा, डील पर सवाल उठाया, कीमत पर सवाल उठाया.

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com

VIDEO : पेट्रोल-डीजल की बढ़ती कीमतों का विरोध

अंबानी के केसों में कांग्रेसी वकीलों के पेश होने की संभावना पर सिंघवी ने कहा कि जो हमारे खिलाफ मानहानि के मुक़दमे कर रहा है वह हम में से किसी के पास अपना मुकद्दमा लेकर आएगा, आपको ऐसा लगता है क्या? और आएगा तो हम उसका मुकदमा लड़ने के लिए तैयार बैठे हैं क्या?