अब कांग्रेस के इस नेता ने दिया इस्तीफा, बोले- 'बीजेपी को कोसने का मतलब नहीं, गलती हमारी ही है'

कांग्रेस में नेतृत्व संकट के बीच इसके राष्ट्रीय मीडिया समन्वयक रचित सेठ (Rachit Seth) ने गुरुवार को पद से इस्तीफा दे दिया.

अब कांग्रेस के इस नेता ने दिया इस्तीफा, बोले- 'बीजेपी को कोसने का मतलब नहीं, गलती हमारी ही है'

रचित सेठ (फाइल फोटो)

खास बातें

  • हार के बाद से कांग्रेस में इस्तीफों का सिलसिला जारी
  • अब पार्टी के राष्ट्रीय मीडिया समन्वयक ने दिया इस्तीफा
  • इससे पहले भी पार्टी के कई नेता अपना पद छोड़ चुके हैं
नई दिल्ली:

लोकसभा चुनाव में हार के बाद से ही कांग्रेस के अंदर उथल-पुथल का दौर जारी है. पार्टी अध्यक्ष राहुल गांधी के इस्तीफे के बाद से पार्टी में इस्तीफों का सिलसिला चल निकला है. इस कड़ी में नया नाम पार्टी के राष्ट्रीय मीडिया समन्वयक रचित सेठ का है. कांग्रेस में नेतृत्व संकट के बीच इसके राष्ट्रीय मीडिया समन्वयक रचित सेठ ने गुरुवार को पद से इस्तीफा दे दिया. उन्होंने कहा कि राहुल गांधी के अध्यक्ष पद से इस्तीफा देने के बाद पद पर बने रहने का कोई मतलब नहीं है. इससे पहले सेठ ने ट्वीट किया कि 45 दिन बीत चुके हैं और मीडिया की अटकलों के बाद भी नए कांग्रेस अध्यक्ष को लेकर कोई संकेत नहीं है.  

रचित सेठ ने कहा, "कर्नाटक और गोवा के घटनाक्रम से पता चलता है कि अराजकता बढ़ रही है, जहां अवसरवादी और सत्ता के दलाल सफल हो रहे हैं. भाजपा को दोष देने का कोई मतलब नहीं है." बाद में अपने इस्तीफे की घोषणा करते हुए उन्होंने कहा, "मेरा जीवन व खून हमेशा उदार व प्रगतिशील भारत के काम आएगा और इंदिरा गांधी हमेशा मेरी प्रेरणा बनी रहेंगी." आपको बता दें कि पिछले दिनों ज्‍योतिरादित्‍य सिंधिया ने कांग्रेस महासचिव पद और मिलिंद देवड़ा ने मुंबई कांग्रेस अध्यक्ष पद से इस्तीफा दे दिया था.  

कांग्रेस में इस्तीफों का दौर जारी, अब मिलिंद देवड़ा ने छोड़ा मुंबई कांग्रेस अध्यक्ष पद

इस्‍तीफा देने के बाद ज्‍योतिरादित्य सिंधिया ने कहा, 'लोगों के फैसले को स्‍वीकार करते हुए और जिम्‍मेदारी लेते हुए मैंने कांग्रेस महासचिव पद से इस्‍तीफा दे दिया. मैंने अपना इस्‍तीफा राहुल गांधी को भेज दिया. मैं यह जिम्‍मेदारी देने के लिए और हमारी पार्टी की सेवा करने का अवसर दिए जाने के लिए उनका धन्‍यवाद करता हूं. मुंबई कांग्रेस अध्यक्ष मिलिंद देवड़ा (Milind Deora) ने भी अपने पद से इस्तीफा दे दिया और साथ ही आगामी विधानसभा चुनावों तक शहर इकाई की देखरेख के लिए तीन वरिष्ठ नेताओं के सामूहिक नेतृत्व की सिफारिश की है. देवड़ा राष्ट्रीय स्तर की राजनीति में सक्रिय होने के लिए दिल्ली आ सकते हैं.  

VIDEO: मैं अब कांग्रेस अध्यक्ष नहीं: राहुल गांधी

 
Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com