NDTV Khabar

कांग्रेस महाधिवेशन: राहुल गांधी ने कहा, बीजेपी एक संगठन की आवाज है जबकि कांग्रेस देश की आवाज है

शनिवार को शुरू हुए कांग्रेस के महाधिवेशन में राहुल गांधी और सोनिया गांधी ने प्रधानमंत्री मोदी पर तीखे हमले किए.

2.7K Shares
ईमेल करें
टिप्पणियां
कांग्रेस महाधिवेशन: राहुल गांधी ने कहा, बीजेपी एक संगठन की आवाज है जबकि कांग्रेस देश की आवाज है

दिल्ली में चल रहे कांग्रेस महाधिवेशन के दूसरे दिन समापन भाषण देते राहुल गांधी

नई दिल्ली: दिल्ली में चल रहे कांग्रेस महाधिवेशन में का आखिरी दिन है और आज अंतरराष्ट्रीय मुद्दों पर प्रस्ताव पास होगा. वहीं कांग्रेस के अध्यक्ष राहुल गांधी का समापान भाषण होगा. शनिवार को शुरू हुए कांग्रेस के महाधिवेशन में राहुल गांधी और सोनिया गांधी ने प्रधानमंत्री मोदी पर तीखे हमले किए. राहुल गांधी ने उन पर बांटने की राजनीति करने का आरोप लगाया वहीं सोनिया गांधी ने अहंकार मुक्त भारत बनाने का आह्वान किया. 

कांग्रेस महाधिवेशन LIVE UPDATES

- कांग्रेस के महाधिवेशन में अपने समापन भाषण में पार्टी अध्‍यक्ष राहुल गांधी ने कहा कि बीजेपी एक संगठन की आवाज है जबकि कांग्रेस देश की आवाज है.
- पीएम हमें मुद्दों से भटकाते हैं, हमें सच बोलने से नहीं रोक सकते
- गरीबों, दलितों पर जुल्‍म जारी, देश में लाखों युवा बेरोजगार, जब विकास है तो रोजगार क्‍यों नहीं
- नवोजत सिंह सिद्धू ने कहा, राहुल भाई कार्यकर्ताओं को समेट लो, अगले साल लाल किले पर आप ही झंडा फहराएंगे. 

- चिदंबरम ने कहा कि मनमोहन सिंह की सरकार की ये सबसे बड़ी उपलब्धि है कि उन्‍होंने 14 करोड़ लोगों को गरीबी रेखा से बाहर निकाला था, लेकिन बीजेपी सरकार ने लोगों को फिर गरीबी में धकेल दिया है. गरीबी रेखा से नीचे रहने वाले लोगों की संख्‍या बड़ी है और यह बीजेपी सरकार की सबसे बड़ी नाकामयाबी है जो उन्‍होंने भारत के लोगों के नाम की है. 


- पूर्व वित्‍तमंत्री पी चिदंबरम में ने कहा कि आर्थिक विकास का वर्तमान चरण 1990 में शुरू हुआ था जब राजीव गांधी ने उदारीकरण का बीज बोया था. डॉ.मनमोहन सिंह ने इसे गति दी और बीजेपी के नेतृत्‍व वाली एनडीए सरकार कहती है रिकॉर्ड अपने आप बोलते हैं. 

- नोटबंदी पर चिदंबरम ने कहा कि मैं आरबीआई के अधिकारियों से कहना चाहूंगा कि आप तिरुपति में हुंडी कलेक्टर क्यों नहीं जाते हैं? वो आपकी तुलना में तेजी से पैसा गिनते हैं. 

- पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह ने कांग्रेस महाधिवेशन में कहा, भाजपा नीत सरकार ने भारत की अर्थव्यवस्था को चौपट कर दिया है.
- मनमोहन सिंह ने कहा, यूपीए सरकार सोनिया गांधी के दिशानिर्देशन की वजह से बहुत कुछ हासिल कर सकी.
- मोदी ने कहा था कि छह साल में किसानों की आय दोगुनी कर दी जाएगी, यह एक जुमला है जो हासिल नहीं होगा: मनमोहन सिंह
- मनमोहन ने कहा: मोदी सरकार कश्मीर विवाद को ठीक से संभाल नहीं पाई, राज्य में माहौल दिन- ब- दिन बदतर हो रहा है.
- बीजेपी ने प्रचार में झूठे वादे किए और केन्‍द्र सरकार की विदेश नीति पर भी सवाल उठाए. 
- मनमोहन सिंह ने कहा कि बीजेपी सरकार ने कहा कि उन्‍होंने दो करोड़ लोगों को नौकरी दी जबकि हमें देखा कि दो लाख लोगों को भी नौकरी नहीं मिली. बल्कि नोटबंदी और जीएसटी से कई नौकरियां गई.

 



- मनमोहन सिंह ने कहा कि यूपीए सरकार राइट टू एजूकेशन, राइट टू फूड और राइट टू इंफोरमेशन जैसे  कानून लेकर आई. 
- पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह ने कहा कि यूपीए के 10 साल के कार्यकाल के दौरान सोनिया जी के मेरा मार्गदर्शन किया.

- आनंद शर्मा ने कहा कि प्रधानमंत्री ने इसे स्वयं के प्रचार के लिए इस्‍तेमाल किया. आज यह चिंता का विषय है क्‍योंकि हमने दुनिया के प्रमुख राजधानियों के साथ संबंधों को कुप्रबंधित किया है. इतना ही नहीं प्रमुख सामरिक भागीदारों और पड़ोसी देशों के साथ भी संबंध को खराब किया है. 

- आनंद शर्मा ने केन्‍द्र सरकार विदेश नीति पर सवाल उठाते हुए कहा कि मोदी सरकार ने भारत की विदेश नीति को बाधित किया है. पिछले चार वर्षों में उन्होंने एक विभाजनकारी नीति बनाई है. उन्होंने इसे एक बेतुके और गैर-गंभीर तरीके को अपनाया है. 

- पूर्व केंद्रीय मंत्री आनंद शर्मा की ओर से पेश प्रस्ताव में कहा गया, 'विदेश नीति सदा मजबूत राष्ट्रीय सहमति के साथ तालमेल बैठा कर चलती रही है। दुर्भाग्यपूर्ण है कि भाजपा सरकार ने इसे बाधित कर दिया और गलत सलाह पर आधारित उसके कदमों ने राष्ट्रीय सहमति को भंग किया है." 

- कांग्रेस के 84वें महाधिवेशन में विदेश नीति पर पेश प्रस्ताव में पंडित जवाहरलाल नेहरू, इंदिरा गांधी, राजीव गांधी और नरसिंह राव के कार्यकाल की विदेश नीति की जहां जमकर तारीफ की गयीं, वहीं वर्तमान मोदी सरकार की विदेश नीति को लेकर उनपर जमकर निशाना साधा गया।

- कांग्रेस ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर 'व्यक्ति केन्द्रित विदेश नीति' पर अमल करने का आरोप लगाते हुए आज कहा कि मौजूदा सरकार बड़े देशों के साथ भारत के संबंधों को संभाल नहीं पाई है और इसमें दृष्टि तथा दिशा का अभाव है।

- कांग्रेस अधिवेशन का दूसरा दिन शुरू 

 



शनिवार को शुरू हुए कांग्रेस के महाधिवेशन में राहुल गांधी और सोनिया गांधी ने प्रधानमंत्री मोदी पर तीखे हमले किए. राहुल गांधी ने उन पर बांटने की राजनीति करने का आरोप लगाया वहीं सोनिया गांधी ने अहंकार मुक्त भारत बनाने का आह्वान किया. 

कांग्रेस महाधिवेशन: सोनिया गांधी का मोदी सरकार पर तीखा हमला- न खाऊंगा न खाने दूंगा का वादा सिर्फ ड्रामेबाजी

वहीं कांग्रेस के महाधिवेशन में पास होने वाले राजनीतिक प्रस्तावों में एक बार फिर से ईवीएम का मुद्दा उछला है. चुनाव आयोग लगातार ईवीएम में छेड़छाड़ को नामुमकिन बताता रहा है पर कांग्रेस पार्टी ने ईवीएम की जगह बैलट पेपर से चुनाव करने की भी मांग की है. ईवीएम की जगह बैलेट पेपर से चुनाव कराने की बात अहम है.

टिप्पणियां
वीडियो : राहुल गांधी का बीजेपी पर हमला

महाधिवेशन में पास राजनीतिक प्रस्ताव में ईवीएम की विश्वसनीयता पर सवाल उठाते हुए कहा कि निर्वाचन प्रक्रिया की विश्वसनीयता सुनिश्चित करने के लिए चुनाव आयोग को मत पत्र के पुराने तरीक़े को फिर से लागू करना चाहिए क्योंकि अधिकांश प्रमुख लोकतंत्रों ने ऐसा ही किया है.

9.30 बजे अंतरराष्ट्रीय विषयों पर प्रस्ताव
  1. 10 बजे से 11.30 बजे तक अंतरराष्ट्रीय प्रस्ताव पर वक्ताओं का संबोधन
  2. 11.30 बजे पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह का भाषण
  3. दोपहर 12 बजे आर्थिक मुद्दों पर प्रस्ताव
  4. दोपहर 12.30 बजे से शाम 3 बजे तक आर्थिक प्रस्ताव पर वक्ताओं का संबोधन
  5. 3 बजे से 3.45 बजे 'विजन@2030' पर परिचर्चा 
  6. शाम 4 बजे कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी का भाषण
  7. 4.45 बजे कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी संचालन समिति के सदस्यों को मंच पर आमंत्रित करेंगे.
  8. 4.47 बजे राष्ट्रीय गान
  9. 5 बजे धन्यवाद
  10. 5.5 बजे समापन



Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

Advertisement