NDTV Khabar

सीढ़ियों से फिसलकर गिरा फोटोग्राफर तो राहुल गांधी ने हाथ पकड़कर उठाया, देखें Video

कांग्रेस पार्टी के अध्यक्ष राहुल गांधी ओडिशा दौरे पर हैं. जब वह भुवनेश्वर एयरपोर्ट के बाहर निकल रहे थे तभी एक ऐसी घटना घटी जिस पर सबकी निगाहें टिकी रह गईं.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
सीढ़ियों से फिसलकर गिरा फोटोग्राफर तो राहुल गांधी ने हाथ पकड़कर उठाया, देखें Video

सोशल मीडिया पर शेयर हो रहा है वीडियो

खास बातें

  1. भुवनेश्वर एयरपोर्ट की घटना
  2. राहुल गांधी के सामने फोटोग्राफर गिरा
  3. सोशल मीडिया पर शेय़र किया जा रहा है वीडियो
नई दिल्ली:

लोकसभा चुनाव 2019 के मद्देनजर सियासी चहलकदमी तेज हो गई है. राजनीतिक दलों के प्रमुख रोजाना दर्जनों रैलियां कर रहे हैं. इसी कड़ी में कांग्रेस पार्टी के अध्यक्ष राहुल गांधी ओडिशा दौरे पर हैं. जब वह भुवनेश्वर एयरपोर्ट के बाहर निकल रहे थे तभी एक ऐसी घटना घटी जिस पर सबकी निगाहें टिकी रह गईं. एयरपोर्ट के बाहर पत्रकार और फोटोग्राफर राहुल गांधी का इंतजार कर रहे थे. जब वो बाहर निकले तो उनकी फोटो क्लिक करने की होड़ मच गई. इसी दौरान एक फोटोग्राफर सीढ़ियों से नीचे गिर गया. फोटोग्राफर को गिरा हुए देखकर राहुल गांधी तुरंत उसके नजदीक गए और उसे हाथ देकर उठाया. यह घटना कैमरे में कैद हो गई जिसे सोशल मीडिया पर खासा शेयर किया जा रहा है. 

भुवनेश्वर में एक कार्यक्रम के दौरान लोगों के साथ बातचीत के दौरान राहुल गांधी ने मोदी सरकार और आरएसएस पर जमकर निशाना साधा और लोकतांत्रिक संस्थानों को बर्बाद करने का आरोप लगाया. उन्होंने कहा कि मोदी सरकार आरएसएस यानी संघ के इशारे पर संस्थाओं को बर्बाद कर रही है. राहुल गांधी ने मोदी सरकार पर आरोप लगाया कि बीते साढ़े चार सालों में सरकार ने मध्यम वर्ग के लिए कुछ भी नहीं किया. राहुल गांधी ने कहा कि भाजपा और संघ ने अभी तक जो मुझे गालियां दी हैं, उससे मुझे काफी फायदा हुआ है. मैं नरेंद्र मोदी से नफरत नहीं करता, मगर उनकी और मेरी विचारधारा अलग है, मैं उनसे लड़ता रहूंगा. राहुल ने कहा कि आप मुझसे कितनी भी नफरत करें, लेकिन मैं आपसे प्यार से ही बात करूंगा.


लोकसभा चुनाव 2019: कांग्रेस बोली- प्रियंका के आने से तीन महीने में पलट जाएगा पासा, तो भाजपा ने दिया यह जवाब

टिप्पणियां

राहुल गांधी से एक सवाल पूछा गया कि आपने लोकतांत्रिक संस्थानों को सरकार द्वारा बर्बाद करने की बात कही थी, तो इस पर राहुल गांधी ने जवाब में कहा कि अभी देश में सिर्फ एक ही संस्थान है जिसे आरएसएस कहते हैं. यह बीजेपी की मां है. यह देश के अन्य सभी संस्थान पर हावी है. कांग्रेस यह नहीं मानती कि संस्थान को स्वतंत्र नहीं छोडना चाहिए. हमें लगता है हर संस्थान की अपनी पहचान है और उसे इतनी स्वतंत्रता होनी चाहिए जिससे वह देश और अपनी बेहतरी के लिए बेहतर काम कर पाए. लेकिन बीजेपी की माइंडसेट अलग है. वे सभी पर अपनी दादागिरी साबित करना चाहते हैं. 

Video:राहुल गांधी बोले- नरेंद्र मोदी का मतलब नफरत, 2019 में हम उन्हें पीएम पद से हटाएंगे


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

Advertisement