यह ख़बर 21 अगस्त, 2014 को प्रकाशित हुई थी

कांग्रेस ने कहा, मुख्यमंत्रियों की हूटिंग के पीछे 'सुनियोजित साजिश'

कांग्रेस ने कहा, मुख्यमंत्रियों की हूटिंग के पीछे 'सुनियोजित साजिश'

कांग्रेस प्रवक्ता मनीष तिवारी की फाइल तस्वीर

नई दिल्ली:

कांग्रेस ने गुरुवार को दावा किया कि विपक्षी मुख्यमंत्रियों की हूटिंग के पीछे 'सुनियोजित साजिश' है। पार्टी ने महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री पृथ्वीराज चव्हाण के नागपुर में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के साथ कार्यक्रम में हिस्सा न लेने के निर्णय को उचित ठहराया।

कांग्रेस महासचिव अंबिका सोनी ने इस मुद्दे को लेकर प्रधानमंत्री पर निशाना साधते हुए कहा कि किसी को भी समर्थकों को उकसाकर विधिवत निर्वाचित मुख्यमंत्रियों को अपमानित करने का कोई अधिकार नहीं है। उन्होंने कहा कि मोदी को तत्काल अपने समर्थकों से कहना चाहिए कि वे इस तरह की हरकतों से बाज आयें।

सोनी ने कहा, 'यह एक सोची समझी योजना है, षड्यंत्र है। अगर प्रधानमंत्री गंभीर होते तो उन्हें अपने पार्टी कार्यकर्ताओं को ऐसी हरकत बंद करने का तत्काल निर्देश देना चाहिए था।' सोनी ने इस सवाल का कोई सीधा उत्तर नहीं दिया कि क्या पार्टी आलाकमान ने अपने मुख्यमंत्रियों को मोदी की सभाओं में शामिल न होने के लिए कोई निर्देश जारी किया है। उन्होंने कहा कि इस तरह का निर्देश दिए जाने की कोई जरूरत नहीं है क्योंकि चव्हाण और हुड्डा दोनों ही काफी अनुभवी नेता हैं।

साथ ही उन्होंने इस बात पर जोर दिया कि 'पूरी कांग्रेस पार्टी इस राय की है कि हम इस तरह के किसी अपमान को कतई बर्दाश्त नहीं करेंगे। उन्होंने (मुख्यमंत्रियों ने) जो कुछ भी किया है वह सही है। हम पूरी तरह से उनके साथ हैं।'

कांग्रेस प्रवक्ता मनीष तिवारी ने आरोप लगाया कि कांग्रेस से ताल्लुक रखने वाले जनप्रतिनिधियों को अपमानित करने के लिए गुप्त तरीके से भाजपा कैडर तैनात किए गए हैं। उन्होंने कहा कि अगर किसी को इसके लिए दोषी ठहराया जाए जो वह भाजपा है। उन्होंने कहा कि यह सुनिश्चित करना प्रधानमंत्री पर निर्भर करता है कि ऐसी अप्रिय घटनाएं न हों क्योंकि मंच पर वह उपस्थित हैं। आखिरकार अगर भारत के प्रधानमंत्री मुख्यमंत्री की गरिमा को बरकरार नहीं रखेंगे तो और कौन इसे बरकरार रखने वाला है।

कांग्रेस की यह टिप्पणी ऐसे समय आई है जब रांची में एक समारोह के दौरान प्रधानमंत्री की मौजूदगी में झारखंड के मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन की भीड़ द्वारा हूटिंग की गई।

Newsbeep

उल्लेखनीय है कि शनिवार को शोलापुर में एक कार्यक्रम में महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री पृथ्वीराज चव्हाण को अपना भाषण बीच में ही खत्म कर देना पड़ा क्योंकि लोगों ने मोदी का नाम जपना शुरू कर दिया था। इस कार्यक्रम में मोदी ने चार लेन वाले राष्ट्रीय राजमार्ग संख्या-9 का उद्घाटन किया।

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


इसी तरह मंगलवार को हरियाणा के कैथल में मोदी के एक सार्वजनिक कार्यक्रम में हूट किए जाने से रुष्ट हुड्डा ने यहां तक कह दिया था कि अब वह मोदी के साथ कभी मंच साझा नहीं करेंगे।