कांग्रेस ने ली चुटकी, BJP को ऐसे पत्रकार की जरूरत है जो फैक्ट दिखाता हो, लेकिन ये सही हुआ तो...

कांग्रेस ने एक सोशल मीडिया पोस्ट के जरिये बीजेपी पर हमला करते हुए लिखा, 'BJP को एक ऐसे पत्रकार की जरूरत है, जो 'तथ्यों' को रिपोर्ट करता हो. लेकिन अगर 'स्टोरी सही हुई' तो उसे जेल भी भेजा जा सकता है.'

कांग्रेस ने ली चुटकी, BJP को ऐसे पत्रकार की जरूरत है जो फैक्ट दिखाता हो, लेकिन ये सही हुआ तो...

कांग्रेस ने इंस्टाग्राम पोस्ट के जरिये बीजेपी पर निशाना साधा है.

खास बातें

  • इंस्टाग्राम पोस्ट के जरिये की बीजेपी की खिंचाई
  • कहा, ऐसे पत्रकार की जरूरत है जो फैक्ट दिखाता हो
  • लेकिन फैक्ट सही होने पर जेल भी जाना पड़ सकता है
नई दिल्ली :

मिड डे मील में नमक रोटी परोसे जाने का खुलासा करने वाले पत्रकार के खिलाफ यूपी सरकार द्वारा मुकदमा दर्ज करवाने पर कांग्रेस ने बीजेपी पर निशाना साधा है. कांग्रेस ने एक सोशल मीडिया पोस्ट के जरिये बीजेपी पर हमला करते हुए लिखा, 'BJP को एक ऐसे पत्रकार की जरूरत है, जो 'तथ्यों' को रिपोर्ट करता हो. लेकिन अगर 'स्टोरी सही हुई' तो उसे जेल भी भेजा जा सकता है.' कांग्रेस ने अपने इंस्ट्राग्राम अकाउंट पर चुटकी लेते हुए विज्ञापननुमा एक पोस्टर साझा किया, जिसमें लिखा है कि बीजेपी एक पत्रकार तलाश रही है. पोस्टर में आगे लिखा है कि, कृपया सैलरी की बात न करें क्योंकि जीडीपी 5 फीसद तक पहुंच गई है. हर दिन लोगों को अलग-अलग तरीके से परेशान किया जा रहा है.  

मिड डे मील में नमक के साथ रोटी खाते स्कूली बच्चों का VIDEO बनाने वाले पत्रकार के खिलाफ FIR दर्ज

पोस्टर में आगे नौकरी के लिए जरूरी अर्हता के रूप में लिखा गया है, सरकारी योजनाओं की विफलता के बारे में रिपोर्टिंग आती हो. वीडियो ले सकता हो, जिसका आपके खिलाफ ही इस्तेमाल हो सकता है. साथ ही कोई आपराधिक रिकॉर्ड भी न हो, क्योंकि हमारे साथ खुद-ब-खुद ऐसा हो जाएगा. आपको बता दें कि बीते दिनों पूर्वी उत्तर प्रदेश के मिर्जापुर जिले के एक सरकारी स्कूल में कक्षा एक से 8वीं तक की पढ़ाई करने वाले लगभग 100 छात्रों का मिड-डे मील के तौर पर रोटी और नमक खाते हुए वीडियो सामने आया था. सरकारी स्कूलों में पढ़ने वाले गरीब परिवार के बच्चों को उचित पोषण और आहर देने के लिए केंद्र सरकार ने मिड-डे मील योजना शुरू की है. सामने आए वीडियो में देखा जा सकता है कि बच्चे स्कूल के बरामदे में फर्श पर बैठे हैं और वे नमक के साथ रोटियां खा रहे हैं.  

यूपी: सरकारी स्कूलों में बच्चों को मिड-डे मील में खिलाया जा रहा है रोटी और नमक, देखें VIDEO

वीडियो जारी होने के कुछ ही दिन बाद राज्य सरकार ने उस पत्रकार के खिलाफ केस दर्ज किया है, जिसने वह वीडियो शूट किया था. अब इसपर घमासान मच गया है. भारतीय प्रेस परिषद (पीसीआई) ने उत्तर प्रदेश में मिर्जापुर के एक स्कूल में बच्चों को मध्याह्न भोजन में 'नमक-रोटी' परोसे जाने को उजागर करने वाले पत्रकार के खिलाफ एक मामला दर्ज किये जाने पर प्रदेश सरकार से एक रिपोर्ट मांगी है. पीसीआई के अध्यक्ष चंद्रमौली कुमार प्रसाद ने उत्तर प्रदेश के मिर्जापुर जिले में मध्याह्न भोजन की रिपोर्टिंग करने को लेकर पत्रकार पवन जायसवाल के खिलाफ प्राथमिकी दर्ज करने किए जाने की खबरों पर चिंता प्रकट की है.  

Newsbeep

VIDEO: पांच की बात: एनडीटीवी पर मिड-डे मील की हकीकत दिखाने वाले पत्रकार पवन जयसवाल

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com