NDTV Khabar

कांग्रेस की आलोचना को खारिज कर बीजेपी ने कहा- नाकामी और भ्रष्टाचार छिपाने की कोशिश है

भाजपा ने कहा कि जनता के मूड से लगता है कि हिमाचल प्रदेश में उसे 50 से अधिक सीटें प्राप्त होगी.

2 Shares
ईमेल करें
टिप्पणियां
कांग्रेस की आलोचना को खारिज कर बीजेपी ने कहा- नाकामी और भ्रष्टाचार छिपाने की कोशिश है

प्रतीकात्मक फोटो

नई दिल्ली: हिमाचल प्रदेश विधानसभा चुनाव में मुख्यमंत्री पद का उम्मीदवार घोषित नहीं किये जाने को लेकर कांग्रेस की आलोचना को सिरे से खारिज करते हुए भाजपा ने कहा है कि राजनीति में लड़ाई मुद्दों के आधार पर लड़ी जाती है और इस बारे में कांग्रेस का आरोप अपनी नाकामी और भ्रष्टाचार छिपाने का प्रयास है.

पढ़ें : हिमाचल प्रदेश : भाजपा नेता विनोद ठाकुर ने थामा कांग्रेस का हाथ, कांग्रेस में जाने वाले तीसरे नेता

भाजपा भ्रष्टाचार मुक्त एवं सुशासन युक्त सरकार देने को कृतसंकल्प है. भाजपा ने कहा कि जनता के मूड से लगता है कि हिमाचल प्रदेश में उसे 50 से अधिक सीटें प्राप्त होगी. हिमाचल प्रदेश मामलों के पार्टी प्रभारी एवं बिहार के स्वास्थ्य मंत्री मंगल पांडे ने कहा, ‘‘ राजनीति में और खासतौर पर चुनाव में लड़ाई मुद्दों के आधार पर लड़ी जाती है. स्वाभाविक है कि हम भ्रष्टाचार के खात्मे, सुशासन की स्थापना और विकास के मुद्दे पर चुनाव लड़ रहे हैं. ’’

उन्होंने कहा कि हमारा लक्ष्य भ्रष्टाचार मुक्त और सुशासन युक्त सरकार देना है. केंद्र में प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के नेतृत्व वाली सरकार का कामकाज लोगों के समक्ष है और चुनाव के बाद प्रदेश में भाजपा की सरकार बनने पर हम जन कल्याणकारी सरकार बनायेंगे.

पांडे से कांग्रेस के उन आरोपों के बारे में पूछा गया था कि भाजपा ने वरिष्ठ नेता प्रेम कुमार धूमल समेत किसी को अपना मुख्यमंत्री पद का उम्मीदवार घोषित नहीं किया है. दूसरी ओर, प्रेम कुमार धूमल ने हिमाचल प्रदेश विधानसभा चुनाव के बारे में एक सवाल के जवाब में कहा कि निश्चित तौर पर हमारी पार्टी बड़ी जीत हासिल करेगी. पार्टी ने 50 प्लस सीट का लक्ष्य रखा है और जनता के मूड और हमें मिल रहे समर्थन को देखकर लगता है कि हम इससे अधिक सीटों पर जीत हासिल करेंगे.

उल्लेखनीय है कि हिमाचल प्रदेश में 9 नवंबर को होने वाले विधानसभा चुनाव के लिये भाजपा ने सभी 68 सीटों पर उम्मीदवारों की सूची जारी कर दी है और इसके बाद चुनाव प्रचार की गति तेज हो गई है. वरिष्ठ नेता प्रेम कुमार धूमल को सुजानपुर सीट से और सतपाल सत्ती को उना से टिकट दिया गया है. कांग्रेस छोड़कर बीजेपी में शामिल हुए पूर्व मंत्री अनिल शर्मा मंडी विधानसभा सीट से चुनाव लड़ेंगे जबकि जोगिन्दर नगर से गुलाब सिंह ठाकुर को उम्मीदवार बनाया गया है. भाजपा ने वरिष्ठ नेता प्रेम कुमार धूमल को विधानसभा चुनाव के लिये टिकट दिया है लेकिन मुख्यमंत्री के चेहरे के रूप में पेश नहीं किया है. इस बारे में मंगल पांडे ने कहा कि धूमल जी हमारे वरिष्ठ नेता है. वे नेता प्रतिपक्ष हैं और दो बार राज्य के मुख्यमंत्री रह चुके हैं और जहां तक मुख्यमंत्री पद पर चयन का सवाल है, यह भाजपा का संसदीय बोर्ड तय करता है.

VIDEO-गुजरात चुनावों का ऐलान नहीं होने पर चुनाव आयोग पर सवालिया निशान
हिमाचल प्रदेश में पहली बार दलितों का मुद्दा सामने आया है और कांग्रेस एवं भाजपा दोनों इस विषय को प्रमुखता से उठा रही हैं. इस पर भाजपा नेता ने आरोप लगाया कि कांग्रेस दलित समाज का वोट लेकर सत्ता में आती रही, दलितों का वोट बैंक के रूप में इस्तेमाल किया लेकिन इस समाज के उन्नति के लिये पिछले 60-.65 वर्षो में कुछ नहीं किया.


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

Advertisement