NDTV Khabar

'कांग्रेस वोट बोर्ड' ने अयोध्या मामले की सुनवाई आगे बढ़ाने की मांग की : संबित पात्रा

इस मामले में एक अन्य पक्षकार हाजी महबूब ने भी गुरुवार को कहा कि वह इस मामले का जल्द निपटारा चाहते हैं. उन्होंने कपिल सिब्बल का समर्थन नहीं किया.

1Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
'कांग्रेस वोट बोर्ड' ने अयोध्या मामले की सुनवाई आगे बढ़ाने की मांग की :  संबित पात्रा

भाजपा के प्रवक्ता संबित पात्रा (फाइल फोटो)

अहमदाबाद: भाजपा के प्रवक्ता संबित पात्रा ने कांग्रेस के वरिष्ठ नेता और वकील कपिल सिब्बल पर निशाना साधते हुए गुरुवार को कहा कि सुन्नी बोर्ड ने नहीं बल्कि 'कांग्रेस वोट बोर्ड' अयोध्या मामले की सुनवाई साल 2019 के चुनाव के बाद कराने की मांग कर रही है. सुन्नी वक्फ बोर्ड की तरफ से पेश होते हुए सिब्बल ने बुधवार को उच्चतम न्यायालय में कहा था कि इस मामले की सुनवाई अगले लोक सभा चुनाव के बाद जुलाई 2019 में कराई जाए क्योंकि मौजूदा परिस्थिति इसके लिए उपयुक्त नहीं है. हालांकि राम जन्मभूमि-बाबरी मस्जिद मालिकाना हक मामले के अपीलकर्ताओं में से एक सुन्नी वक्फ बोर्ड ने गुरुवार को कहा कि वह इस मामले में तेजी से न्याय चाहता है और मामले की सुनवाई को 2019 के लोकसभा चुनाव तक नहीं टाला जाना चाहिए.

इस मामले में एक अन्य पक्षकार हाजी महबूब ने भी गुरुवार को कहा कि वह इस मामले का जल्द निपटारा चाहते हैं. उन्होंने कपिल सिब्बल का समर्थन नहीं किया.

यह भी पढ़ें : गुजरात चुनाव में राम मंदिर बना बड़ा मुद्दा, पीएम मोदी ने कांग्रेस पर कसा तंज, वक्फ बोर्ड को सराहा

महबूब का हवाला देते हुए पात्रा ने कहा कि इस मामले को टालने की मांग 'कांग्रेस की राजनीतिक इच्छाओं' पर आधारित है. पात्रा ने मांग की है कि राहुल गांधी को अपनी स्थिति स्पष्ट करनी चाहिए. उन्होंने कहा, 'भाजपा अध्यक्ष ने कांग्रेस से इस पर अपना रुख स्पष्ट करने को कहा है लेकिन अभी तक कोई प्रतिक्रिया नहीं आई है.'

VIDEO : पीएम ने पूछा, कौन लड़ रहा है चुनाव, सुन्नी वक़्फ़ बोर्ड या कांग्रेस?​
 

(इस खबर को एनडीटीवी टीम ने संपादित नहीं किया है. यह सिंडीकेट फीड से सीधे प्रकाशित की गई है।)


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

Advertisement