NDTV Khabar

NSA अजीत डोभाल ने कहा- जम्मू-कश्मीर के लिए अलग संविधान एक 'त्रुटि', मचा विवाद
पढ़ें | Read IN

राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार (एनएसए) अजित डोभाल ने मंगलवार को कहा कि जम्मू-कश्मीर के लिए अलग संविधान होना संभवत: एक ‘‘त्रुटि’’ थी.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
NSA अजीत डोभाल ने कहा- जम्मू-कश्मीर के लिए अलग संविधान एक 'त्रुटि', मचा विवाद

अजित डोभाल ने कहा कि जम्मू-कश्मीर के लिए अलग संविधान होना संभवत: एक ‘‘त्रुटि’’ थी.

खास बातें

  1. NSA अजीत डोभाल के बयान से मचा बवाल
  2. जम्मू-कश्मीर के लिए अलग संविधान एक 'त्रुटि'
  3. संप्रभुता से कभी समझौता नहीं किया जा सकता
नई दिल्ली : राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार (एनएसए) अजीत डोभाल ने मंगलवार को कहा कि जम्मू-कश्मीर के लिए अलग संविधान होना संभवत: एक ‘‘त्रुटि’’ थी. उन्होंने इस बात पर भी जोर दिया कि संप्रभुता से कभी समझौता नहीं किया जा सकता. डोभाल ने कश्मीर पर यह टिप्पणी ऐसे समय में की है जब उच्चतम न्यायालय संविधान के अनुच्छेद 35-ए की संवैधानिक वैधता को चुनौती देने वाली याचिकाओं पर सुनवाई कर रहा है. अनुच्छेद 35-ए के तहत जम्मू-कश्मीर के स्थायी निवासियों को खास तरह के अधिकार और कुछ विशेषाधिकार दिए गए हैं. देश के पहले उप-प्रधानमंत्री सरदार वल्लभभाई पटेल पर लिखी एक किताब के विमोचन समारोह को संबोधित करते हुए डोभाल ने कहा कि उन्होंने देश की मजबूत आधारशिला रखने में अहम योगदान किया है.

भारत और पाकिस्तान के बीच NSA लेवल की वार्ता को लेकर विदेश मंत्रालय ने यह कहा

डोभाल ने इस मौके पर पटेल को श्रद्धांजलि भी अर्पित की. उन्होंने कहा कि संप्रभुता को ‘‘न तो कमजोर किया जा सकता है और न ही गलत तरीके से परिभाषित किया जा सकता है’’. उन्होंने कहा, ‘‘जब अंग्रेज भारत छोड़कर गए तो संभवत: वे भारत को एक मजबूत संप्रभु देश के रूप में छोड़कर नहीं जाना चाहते थे’’. डोभाल ने कहा कि इस संदर्भ में पटेल ने अंग्रेजों की योजना शायद समझ ली कि वे कैसे देश में टूट के बीज बोना चाह रहे हैं. उन्होंने कहा कि पटेल का योगदान सिर्फ राज्यों के विलय तक नहीं बल्कि इससे कहीं अधिक है.

गृह मंत्री ने जम्मू-कश्मीर में सुरक्षा का जायजा लिया, अजित डोभाल, गृह सचिव बैठक में हुए शामिल

दूसरी तरफ, श्नीनगर में नेशनल कांफ्रेंस के नेता मुस्तफा कमाल ने कहा कि सरकार को डोभाल के बयान का संज्ञान लेना चाहिये. अगर सरकार संज्ञान नहीं लेती है तो यह माना जाना चाहिये कि डोभाल सरकार की तरफ से बोल रहे हैं. उन्होंने कहा, 'दिल्ली ने देश को बांटा है'. दूसरी तरफ, पीडीपी नेता रफी अहमद मीर ने कहा कि एक जिम्मेदार पद पर रहते हुए डोभाल जैसे व्यक्ति को इस तरह का गैर-जिम्मेदाराना बयान नहीं देना चाहिये. (इनपुट- भाषा)

टिप्पणियां
चीन को डोकलाम में घेरने की तैयारी, बिपिन रावत और अजित डोभाल ने किया भूटान का दौरा 

VIDEO: नियंत्रण रेखा और कश्मीर के हालात पर NSA ने पीएम और गृह मंत्री को जानकारी दी




Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

Advertisement