दिल्ली में कोरोना के नए मामले 1,000 से कम, एम्स निदेशक ने कहा : लगता है यह शीर्ष स्तर को छू चुका है

एम्स के निदेशक रणदीप गुलेरिया ने सोमवार को कहा कि रोजाना संक्रमण के घटते मामलों के मद्देनजर लगता है कि दिल्ली कोविड-19 के शीर्ष स्तर को छू चुकी है.

दिल्ली में कोरोना के नए मामले 1,000 से कम, एम्स निदेशक ने कहा : लगता है यह शीर्ष स्तर को छू चुका है

रणदीप गुलेरिया (फाइल फोटो)

नई दिल्ली:

राष्ट्रीय राजधानी में सात हफ्तों में पहली बार सोमवार को कोरोना वायरस के नए मामलों की संख्या 1,000 से कम रही.वहीं, एम्स के निदेशक रणदीप गुलेरिया ने सोमवार को कहा कि रोजाना संक्रमण के घटते मामलों के मद्देनजर लगता है कि दिल्ली कोविड-19 के शीर्ष स्तर को छू चुकी है. हालांकि, उन्होंने महामारी से निपटने के प्रयासों में किसी भी तरह की ढिलाई को लेकर आगाह किया. इस बीच, मामलों में कमी के लिए आप तथा भाजपा में श्रेय लेने की होड़ लग गयी. आप ने नए मामलों में आ रही कमी के लिए ''केजरीवाल मॉडल'' को श्रेय दिया वहीं भाजपा ने कहा कि दिल्ली सरकार के तहत स्थिति बेकाबू होने के बाद केंद्र ने इसे ‘नियंत्रित‘ किया.

एक स्वास्थ्य बुलेटिन के अनुसार दिल्ली में सोमवार को कोरोना वायरस के 954 नए मामले दर्ज किए गए. परीक्षणों की संख्या भी कम रही. बुलेटिन के अनुसार 11,470 परीक्षण किए गए थे जिनमें 4,177 आरटी-पीसीआर और 7,293 रैपिड एंटीजन परीक्षण थे. पिछले दिनों परीक्षणों की संख्या 19,000 से 22,000 के बीच थी. क्या देश में कोविड-19 शीर्ष स्तर को छू चुका है, इस पर गुलेरिया ने कहा, ‘‘मेरा मानना है कि कुछ इलाके शीर्ष स्तर को छू चुके हैं. दिल्ली में भी ऐसा ही लगता है, जहां मामले घट रहे हैं . लेकिन कुछ इलाकों में शीर्ष स्तर पहुंचना बाकी है .

कुछ राज्यों में मामले बढ़ रहे हैं . वे बाद में शीर्ष स्तर तक पहुंचेंगे. '' वहीं, ताजा बुलेटिन के अनुसार कोरोना वायरस संक्रमण से 35 और मरीजों की मौत हो गयी और इसके साथ ही मृतकों की संख्या बढ़कर 3,663 हो गयी. वहीं कुल मामलों की संख्या बढ़कर 1,23,747 हो गयी. नगर में संक्रमित लोगों की संख्या में भी पिछले सप्ताह से लगातार गिरावट आ रही है. यहां अभी 15,166 लोग संक्रमित हैं जो 44 दिनों में सबसे कम है. मरीजों के स्वस्थ होने की दर लगभग 85 प्रतिशत तक पहुंच गयी.

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com

एक जून के बाद यह पहला मौका है जब 24 घंटे में 1,000 से कम नए मामले सामने आए. पिछले नौ दिनों से नए मामलों की संख्या 1,000-2,000 के बीच रही है. दिल्ली में 23 जून को सबसे अधिक 3,947 नए मामले सामने आए थ. नगर में निषिद्ध क्षेत्रों की संख्या 696 बनी हुयी है. कोविड-19 रोगियों के लिए 15,475 बेड में से 11,958 बेड खाली हैं वहीं कोविड देखभाल केंद्र में 9,454 बेड में से 7,289 बेड खाली हैं. आप ने महामारी पर काबू का श्रेय अपनी सरकार को दिया. आप के राज्यसभा सदस्य संजय सिंह ने कहा कि मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल नीत दिल्ली सरकार ने इस लड़ाई को सफलतापूर्वक लड़ा है.

सिंह ने कहा कि मुख्यमंत्री ने आगे बढ़कर इस लड़ाई का नेतृत्व किया. डॉक्टर, नर्स, स्वच्छता कर्मी, पुलिस अधिकारी और अन्य कार्यकर्ता इस लड़ाई में एक साथ थे. उन्होंने कहा कि कोविड से लड़ाई का केजरीवाल मॉडल अब हमारे देश में ही नहीं, बल्कि दुनिया भर में चर्चा में है. सिंह पर निशाना साधते हुए दिल्ली भाजपा के महासचिव राजेश भाटिया ने कहा कि आप दिल्ली में अपनी जिम्मेदारियों से "दूर" भाग रही है. भाटिया ने कहा, "अब वे कह रहे हैं कि सामुदायिक प्रसार हो रहा है, अगर ऐसा है तो वे इसे रोकने के लिए क्या कर रहे थे. कोविड स्थिति दिल्ली सरकार के हाथ से निकल गई थी और केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह द्वारा इस पर नियंत्रण में लाया गया.'' इस बीच दिल्ली के स्वास्थ्य मंत्री सत्येंद्र जैन ने कोविड​​-19 से स्वस्थ होने के बाद सोमवार को काम फिर से शुरू कर दिया. 



(इस खबर को एनडीटीवी टीम ने संपादित नहीं किया है. यह सिंडीकेट फीड से सीधे प्रकाशित की गई है।)