हाथरस में पीड़िता के पूरे गांव का कराया गया कोरोना टेस्ट, ये रही वजह 

हाथरस (Hathras) में गैंगरेप पीड़िता के पूरे गांव के लोगों का मंगलवार को कोरोना टेस्ट कराया गया. पिछले कुछ दिनों में यहां कुछ पत्रकार और सुरक्षाकर्मी कोरोना पॉजिटिव पाए गए हैं. ऐसे में संक्रमण की आशंका को देखते हुए यह निर्णय़ लिया गया.

हाथरस में पीड़िता के पूरे गांव का कराया गया कोरोना टेस्ट, ये रही वजह 

हाथरस में गैंगरेप पीड़िता के गांव के बाहर जमा भीड़

हाथरस:

हाथरस (Hathras) में गैंगरेप पीड़िता के पूरे गांव के लोगों का मंगलवार को कोरोना टेस्ट कराया गया. पिछले कुछ दिनों में यहां कुछ पत्रकार और सुरक्षाकर्मी कोरोना पॉजिटिव (Corona Positive) पाए गए हैं. UP सरकार के मुताबिक, पिछले एक हफ्ते में यहां लगातार राजनीतिक दलों के नेताओं और पत्रकारों की बड़े पैमाने पर आवाजाही हुई है, ऐसे में संक्रमण की आशंका को देखते हुए सभी ग्रामीणों की कोविड जांच कराने का निर्णय़ किया गया है.

यह भी पढ़ें- हाथरस केस में सुप्रीम कोर्ट ने योगी सरकार को भेजा नोटिस, गवाहों की सुरक्षा पर देना होगा जवाब

प्रशासन से मिली जानकारी के मुताबिक, पीड़ित परिवार के सभी सदस्यों का भी कोरोना का टेस्ट कराया गया है. ग्रामीणों की कोविड जांच के नतीजे अगले 24 घंटे में सामने आ सकते हैं. पिछले कुछ दिनों में कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी, पार्टी महासचिव प्रियंका गांधी, भीम आर्मी प्रमुख चंद्रशेखर आजाद और अन्य विरोधी दलों के नेताओं ने गांव का दौरा किया है. पत्रकारों का हुजूम भी लंबे समय से गांव के बाहर डेरा डाले हुए है.

बीजेपी के पूर्व विधायक के खिलाफ केस दर्ज 

बीजेपी के पूर्व विधायक राजवीर सिंह पहलवान के खिलाफ मंगलवार को केस दर्ज किया गया। उन पर  धारा 144 का उल्लंघन और महामारी एक्ट के तहत केस दर्ज किया गया है. हाथरस पुलिस की ओर से 200 अज्ञात लोगों के खिलाफ भी प्राथमिकी दर्ज की गई है. राजवीर सिंह ने रविवार को अपने घर पर सवर्ण समाज की पंचायत की करवाई थी. ऐसी बैठक को न रोकने को लेकर पुलिल-प्रशासन पर सवाल भी उठे थे.

Newsbeep

पीड़िता के परिवार से मिले पुलिस अफसर

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


पीड़िता के परिवार से मंगलवार को आईजी अलीगढ़ और कमिश्नर मिले. हालांकि प्रशासन या पीड़ित परिवार की ओर से इस बारे में कोई विस्तृत जानकारी दी गई. यूपी के मुख्य सचिव गृह अवनीश अवस्थी और डीजीपी हितेश चंद्र भी दो दिन पहले पीड़ित परिवार से मुलाकात कर उनकी तमाम शिकायतों पर भरोसा दे चुके हैं.