Coronavirus: गुजरात में तबलीगी जमात के 5 सदस्य संक्रमित मिले, अब तक 130 लोगों की हो चुकी है पहचान

गुजरात में तबलीगी जमात के पांच और सदस्य कोरोना वायरस से संक्रमित पाए गए हैं और इसके साथ ही पुलिस ने शुक्रवार को ऐसी तीन और लोगों की पहचान की जिन्होंने पिछले महीने दिल्ली में हुए जमात के कार्यक्रम में हिस्सा लिया था.

Coronavirus: गुजरात में तबलीगी जमात के 5 सदस्य संक्रमित मिले, अब तक 130 लोगों की हो चुकी है पहचान

धार्मिक कार्यक्रम में शामिल हुए गुजरात के 130 लोगों की पहचान हो चुकी है

अहमदाबाद:

गुजरात में तबलीगी जमात के पांच और सदस्य कोरोना वायरस से संक्रमित पाए गए हैं और इसके साथ ही पुलिस ने शुक्रवार को ऐसी तीन और लोगों की पहचान की जिन्होंने पिछले महीने दिल्ली में हुए जमात के कार्यक्रम में हिस्सा लिया था. पुलिस के एक वरिष्ठ अधिकारी ने बताया कि इन्हें मिलाकर उस धार्मिक कार्यक्रम में शामिल हुए प्रदेश के 130 लोगों की पहचान हो चुकी है. दिल्ली के निजामुद्दीन इलाके में हुए इस कार्यक्रम में विदेशी नागरिकों समेत 9000 से ज्यादा लोग शामिल हुए थे. इसे देश में वायरस के प्रसार की एक अहम वजह के तौर पर देखा जा रहा है क्योंकि इन प्रतिभागियों में से कई बाद में संक्रमित मिले और ये लोग यहां से जमात के काम के लिये देश के विभिन्न हिस्सों में चले गए थे.

गुजरात के पुलिस महानिदेशक शिवानंद झा ने कहा, “कार्यक्रम में शामिल हुए जमात के तीन लोग भागनगर में मिले. पूर्व में जमात के कार्यक्रम में शामिल हुआ एक शख्स आज कोरोना वायरस से संक्रमित पाया गया.” निजामुद्दीन में जमात कार्यक्रम में शामिल हुए राज्य के 13 लोग अब तक कोरोना वायरस संक्रमित पाए गए हैं. झा ने कहा कि भरूच में शुक्रवार को संक्रमित पाए गए चार लोग तबलीगी जमात के शूरा धड़े से आते हैं और तमिलनाडु के रहने वाले हैं,हालांकि उन्होंने पिछले महीने दिल्ली के निजामुद्दीन में हुए जमात के धार्मिक कार्यक्रम में हिस्सा नहीं लिया था. 

उन्होंने कहा, “यह तबलीगियों के शूरा धड़े का हिस्सा हैं और इन्होंने निजामुद्दीन में हुए कार्यक्रम में हिस्सा नहीं लिया था क्योंकि वह कार्यक्रम संगठन के साद या इमराती धड़े के लिये आयोजित किया गया था. ये चारों तमिलनाडु के रहने वाले हैं. गुजरात में देश भरके 1095 शूरा उपदेशक हैं. चार में संक्रमण की पुष्टि हुई है जबकि शेष को पृथकवास में रखा गया है.”

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com