Coronavirus cases in Uttar Pradesh : कोरोनावायरस के खतरे से बेपरवाह मुरादाबाद, उत्तर प्रदेश में मरीजों की संख्या पहुंची 33

उत्तर प्रदेश में कोरोनावायरस(Coronavirus) के मरीजों की संख्या 30 से पार हो गई है. लेकिन कोरोना वायरस के संक्रमण की रोकथाम के लिए लॉकडाउन के फैसले को ऐसा लग रहा है कि उत्तर प्रदेश के मुरादाबाद में लोगों ने गंभीरत से नहीं लिया है.

Coronavirus cases in Uttar Pradesh : कोरोनावायरस के खतरे से बेपरवाह मुरादाबाद, उत्तर प्रदेश में मरीजों की संख्या पहुंची 33

Coronavirus Update: उत्तर प्रदेश में मरीजों की संख्या 30 के पार हो गई है

नई दिल्ली:

उत्तर प्रदेश में कोरोनावायरस (Coronavirus) के मरीजों की संख्या 30 से पार हो गई है. लेकिन कोरोना वायरस के संक्रमण की रोकथाम के लिए लॉकडाउन के फैसले को ऐसा लग रहा है कि उत्तर प्रदेश के मुरादाबाद में लोगों ने गंभीरत से नहीं लिया है. आज शहर की थोक सब्जी मार्केट में इतनी भारी भीड़ देखने को मिली है. जिला प्रशासन ने इतनी भारी भीड़ इकट्ठा कैसे होने दी यह समझ से परे है. यह हाल तब है जब पीएम मोदी और सीएम योगी लॉकडाउन को गंभीरता से लेने की अपील बार-बार कर रहे हैं. आपको बता दें कि  उत्तर प्रदेश की सभी अंतरराष्ट्रीय एवं अंतरराज्यीय सीमाओं को पूरी तरह सील कर दिया गया है और मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने सोमवार को निर्देश दिया कि लॉक डाउन में असहयोग करने वालों के खिलाफ सख्त कार्रवाई की जाए.  योगी ने लॉकडाउन को प्रभावी ढंग से लागू का निर्देश देते हुए कहा, "असहयोग करने वालों के खिलाफ सख्त कार्रवाई की जाए." मुख्यमंत्री ने कहा कि उत्तर प्रदेश की सभी अंतरराज्यी र्और अंतरराष्ट्रीय सीमाओं को पूरी तरह से सील किया जाए, ताकि लॉकडाउन के दौरान अनावश्यक यातायात को रोका जा सके. आपको बता दें कि उत्तर प्रदेश में अब तक 33 केस सामने आ चुके हैं.

योगी ने यहां अपने सरकारी आवास पर कोरोना लॉकडाउन से उत्पन्न स्थिति से प्रभावित दिहाड़ी श्रमिकों, दैनिक कामगारों, विभिन्न प्रकार की पेंशन पाने वालों को दी जा रही राहत के सम्बन्ध में समीक्षा की.  उन्होंने राज्य सरकार द्वारा कोरोना वायरस से निपटने के लिए अस्पतालों में की गई व्यवस्थाओं पर गलत टिप्पणी कर अफवाह फैलाने वालों के खिलाफ सख्त कार्रवाई करने के निर्देश दिए. 

क्या है यूपी सरकार की तैयारी
उत्तर प्रदेश के 51 मेडिकल कॉलेजों में कोविद-19 अस्पताल स्थापित किए जाएंगे.  राज्य सरकार की ओर से सोमवार को जारी एक विज्ञप्ति में बताया गया कि चिकित्सा शिक्षा मंत्री की अध्यक्षता में उत्तर प्रदेश के 24 सरकारी और 27 निजी मेडिकल कॉलेजों एवं चिकित्सा संस्थानों के साथ वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग की गई. विज्ञप्ति के अनुसार 51 मेडिकल कॉलेजों में कोरोना वायरस संक्रमण के उपचार एवं रोकथाम हेतु वर्तमान में लगभग 4500 आइसोलेशन एवं क्वॉरेंटाइन बेड उपलब्ध हैं. सप्ताह भर के भीतर इसे बढ़ाकर 11000 करने के निर्देश दिए गए हैं. हर मेडिकल कॉलेज में कम से कम 20 आइसोलेशन बेड एवं दो वेंटीलेटर तथा अधिक से अधिक 200 आइसोलेशन बेड एवं 20 वेंटिलेटर लगाने के निर्देश दिए गए. 

विज्ञप्ति के अनुसार लखनऊ स्थित एसजीपीजीआई में उत्तर प्रदेश का आधुनिक राजधानी कोविद हॉस्पिटल स्थापित किया जा रहा है जिसमें हाई रिस्क रोगियों के लिए 210 आइसोलेशन बेड एवं 80 से 100 वेंटीलेटर प्रस्तावित है.  विज्ञप्ति के मुताबिक उत्तर प्रदेश में 13 वृहद (200 शैया वाले आइसोलेशन वार्ड) कोविद अस्पताल एवं 38 मध्यम दर्जे के कोविद अस्पताल बनाए जा रहे हैं.  इसमें कहा गया कि सभी निजी मेडिकल कॉलेजों के कोविंद अस्पतालों का पर्यवेक्षण जिला अधिकारियों द्वारा किया जाएगा तथा एपिडेमिक एक्ट या दंड प्रक्रिया संहिता के तहत बाध्यकारी कार्रवाई की जाएगी.

Coronavirus Cases in India Updates on Real Time:

LIVE COVID-19 UPDATE (INDIA)

LIVE COVID-19 UPDATE (WORLD)



(इस खबर को एनडीटीवी टीम ने संपादित नहीं किया है. यह सिंडीकेट फीड से सीधे प्रकाशित की गई है।)
 
Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com