कोरोना वायरस का कहर, संसद का मानसून सत्र जल्द समाप्त होने का संभावना

दो मंत्रियों और एक बीजेपी सांसद के सत्र के दौरान कोरोना पॉज़िटिव पाए जाने के बाद मानसून सत्र को तय अवधि से पहले समाप्त करने पर विचार किया जा रहा

नई दिल्ली:

संसद (Parliament) का मानसून सत्र (Monsoon Session) एक अक्तूबर से पहले ही खत्म करने पर विचार हो रहा है. लोक सभा बीएसी की बैठक आज शाम को हुई. इसमें इस मुद्दे पर चर्चा हुई. सरकार और विपक्ष में भी इस बारे में चर्चा हुई है. बताया जाता है कि बीएसी बैठक में मानसून सत्र जल्द समाप्त करने पर सहमति बन गई है. दो मंत्रियों और एक बीजेपी सांसद के सत्र के दौरान कोरोना पॉज़िटिव पाए जाने के बाद मानसून सत्र को तय अवधि से पहले समाप्त करने पर विचार किया जा रहा है. अगले सप्ताह बुधवार को संसद का मानसून सत्र समाप्त किया जा सकता है.

संसद का जारी सत्र अगले सप्ताह मंगलवार या बुधवार को समाप्त हो सकता है. बीजेपी सांसद विनय सहस्त्रबुद्धे ने राज्यसभा में भाषण दिया था. इसे बाद में वे कोरोना पॉज़िटिव पाए गए. हालांकि सत्र शुरू होने से पहले की गई जांच में वे नेगेटिव थे. इसी तरह नितिन गडकरी और प्रह्लाद पटेल भी बाद में पॉज़िटिव हुए.

केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी (Nitin Gadkari) ने बुधवार को ट्वीट करके जानकारी दी थी कि वे कोरोना वायरस से संक्रमित हो गए हैं. उनसे पहले गृहमंत्री अमित शाह समेत कई केंद्रीय मंत्री व सांसद COVID-19 के चपेट में आ चुके हैं. नितिन गडकरी ने ट्वीट करते हुए लिखा था कि कल मैं कमजोरी महसूस कर रहा था और फिर डॉक्टर से परामर्श लिया. मेरे चेकअप के दौरान मैं कोरोना पॉजिटिव पाया गया. आप सभी के आशीर्वाद और शुभकामनाओं के साथ मैं अभी अच्छा महसूस कर रहा हूं. मैंने खुद को आइसोलेट कर लिया है.''

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com

संसद के सत्र में क्यों नहीं होगा प्रश्नकाल, सरकार ने बताई वजह

संसद का मानसून सत्र 14 सितंबर को शुरू हुआ है. सत्र के पहले दिन लोक सभा (Lok Sabha) की बैठक सुबह 9 बजे से दोपहर एक बजे तक हुई. इसके बाद से दोपहर तीन बजे से शाम सात बजे तक बैठक हो रही हैं. इसी तरह राज्य सभा (Rajya Sabha) में पहले दिन यानी 14 सितंबर को दोपहर तीन बजे से शाम सात बजे तक बैठक हुई. इसके बाद रोज सुबह नौ बजे से दोपहर एक बजे तक बैठक हो रही है. इस सत्र में शनिवार और रविवार को छुट्टी नहीं होगी. मानसून सत्र 14 सितंबर से एक अक्टूबर तक होना है जिसमें कुल 18 बैठकें प्रस्तावित हैं. कोरोना वायरस के संक्रमण के चलते इसे पहले खत्म किए जाने की संभावना बन गई है.