कोरोनावायरस संकट: जरूरी मामलों की सुनवाई करता रहेगा सुप्रीम कोर्ट, वर्चुअल तरीके से होगा कामकाज

कोरोना के प्रकोप के बावजूद सुप्रीम कोर्ट में पूरी तरह लॉकडाउन नहीं होगा. जारी सरकुलर के मुताबिक सुप्रीम कोर्ट में सिर्फ बेहद जरूरी मामलों की ही सुनवाई होगी. वो भी सिर्फ वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए. 

कोरोनावायरस संकट: जरूरी मामलों की सुनवाई करता रहेगा सुप्रीम कोर्ट, वर्चुअल तरीके से होगा कामकाज

कोरोनावायरस संकट को देखते हुए सुप्रीम कोर्ट जरूरी मामलों की सुनवाई करता रहेगा.

नई दिल्ली:

कोरोनावायरस संकट के बीच सुप्रीम कोर्ट ने अपने कामकाज को जारी रखने का फैसला किया है. कोर्ट ने तय किया है कि शुक्रवार से वर्चुअल कोर्ट की तरह काम करना शुरू किया जाएगा. सुप्रीम कोर्ट की तीन बेंच सिर्फ जरूरी मामलों की सुनवाई करेंगी. खास बात ये है कि जज भी अपने घरों से वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए सुनवाई करेंगे और पक्षों के वकील भी अपने दफ्तर या घर से वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए बहस करेंगे.

गुरुवार को जस्टिस डीवाई चंद्रचूड और जस्टिस सूर्यकांत के अलावा जस्टिस एल नागेश्वर राव और जस्टिस अनिरुद्ध बोस की बेंच करीब 18 बेहद जरूरी मामलों की सुनवाई करेगी. साथ ही जस्टिस अरुण मिश्रा और जस्टिस दीपक गुप्ता की बेंच दिल्ली और NCR में वायु प्रदूषण को लेकर सुनवाई करेगी. सुप्रीम कोर्ट में कोई वकील या अन्य प्रवेश नहीं कर पाएगा जबकि परिसर में वकीलों के चेम्बर भी सील कर दिए गए हैं.

कोरोना के प्रकोप के बावजूद सुप्रीम कोर्ट में पूरी तरह लॉकडाउन नहीं होगा. जारी सरकुलर के मुताबिक सुप्रीम कोर्ट में सिर्फ बेहद जरूरी मामलों की ही सुनवाई होगी. वो भी सिर्फ वीडियो कॉन्ंफ्रेसिंग के जरिए. 

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com

वर्चुअल कोर्ट में सुनवाई के लिए वकील को याचिका की ई-फाइलिंग करनी होगी. इसके बाद वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए मेंशनिंग रजिस्ट्रार से बात करनी होगी. जरूरी मामले में वकील अपने घर या दफ्तर से ही जजों के सामने सुनवाई के लिए बहस कर सकेंगे.

कोरोनावायरस: पूरे देश में 21 दिन का लॉकडाउन