14 अप्रैल के बाद आगे बढ़ सकता है लॉकडाउन! केंद्र सरकार कर रही है विचार: सूत्र

सोमवार को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा था कि लोगों को लंबी लड़ाई के लिए तैयार रहना चाहिए. एक कैबिनेट बैठक में, उन्होंने मंत्रियों से एक "वर्गीकृत योजना" के साथ आने का आग्रह किया था.

14 अप्रैल के बाद आगे बढ़ सकता है लॉकडाउन! केंद्र सरकार कर रही है विचार: सूत्र

प्रतीकात्मक तस्वीर.

खास बातें

  • लॉकडाउन आगे बढ़ाने की राज्यों की मांग पर विचार कर रहा केंद्र
  • राजस्थान चरणबद्ध तरीके से लॉकडाउन हटाने के पक्ष में
  • असम भी नहीं चाहता कि 15 अप्रैल से सभी चीजें खुल जाएं
नई दिल्ली:

सरकार से जुड़े शीर्ष सूत्रों ने मंगलवार को बताया कि 'कई राज्य सरकारों और विशेषज्ञों' ने केंद्र सरकार से गुहार लगाई है कि 21 दिन के लॉकडाउन को 14 अप्रैल से आगे बढ़ाया जाए. सूत्रों ने बताया कि केंद्र सरकार राज्य सरकारों की इस अपील पर विचार कर रही है. सोमवार को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा था कि लोगों को लंबी लड़ाई के लिए तैयार रहना चाहिए. एक कैबिनेट बैठक में, उन्होंने मंत्रियों से एक "वर्गीकृत योजना" के साथ आने का आग्रह किया था.

केंद्रीय मंत्री प्रकाश जावड़ेकर ने कहा कि लॉकडाउन की मियाद बढ़ाने का फैसला देशहित को ध्यान में रखकर लिया जाएगा और "सही समय" पर इसका ऐलान किया जाएगा. उन्होंने कहा, "हम दुनिया भर में कोरोनावायरस महामारी से उत्पन्न हालातों की निगरानी कर रहे हैं. कोई भी फैसला देशहित में लिया जाएगा और सही समय आने पर इसकी घोषणा की जाएगी."

तेलंगाना के मुख्यमंत्री के चंद्रशेखर राव उन लोगों में शामिल हैं, जिन्होंने कहा कि लॉकडाउन जारी रहना चाहिए. राव ने कहा, "मेरा निजी विचार है कि लॉकडाउन को लंबे समय तक जारी रखना चाहिए. हमें लोगों की जान बचाने की जरूरत है, अर्थव्यवस्था को हम बाद में बचा सकते हैं." कोरोना संक्रमण के मामलों के लिहाज से तेलंगाना चौथे स्थान पर है. 

राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत चरणबद्ध तरीके से लॉकडाउन हटाने के पक्ष में हैं. समाचार एजेंसी पीटीआई ने गहलोत के हवाले से कहा, "हम तुरंत लॉकडाउन नहीं हटा सकते हैं, लॉकडाउन को चरणबद्ध तरीके से हटाया जाना चाहिए."

असम के वित्त मंत्री हेमंत बिस्व शर्मा ने कहा, "हमने लॉकडाउन को वापस लेने के तरीकों के बारे में राज्य के भीतर विचार-विमर्श किया है. हम यह नहीं चाहते हैं कि सब चीजें 15 अप्रैल की सुबह खुल जाएं. हम चाहते हैं कि लॉकडाउन हटाने की प्रक्रिया चरणबद्ध और वैज्ञानिक आधार पर हो ताकि लॉकडाउन के दौरान हासिल हुआ लाभ बर्बाद न हो.

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com

वहीं, उत्तर प्रदेश सरकार के एक शीर्ष अधिकारी ने कहा कि प्रतिबंधों को पूरी तरह से खत्म करना मुश्किल होगा. उत्तर प्रदेश के अतिरिक्त मुख्य सचिव अवनीश अवस्थी ने सोमवार को  कहा, "यह कहना असंभव है कि लॉकडाउन 14 अप्रैल के बाद खुलेगा या नहीं. हम रोज मॉनिटरिंग कर रहे हैं. कुछ जिलों में 100 प्रतिशत लॉकडाउन किए गए हैं. उन्होंने बताया कि आने वाले दिनों में लोगों का समर्थन बहुत महत्वपूर्ण है. उन्होंने कहा कि, 'हम यह सुनिश्चित करने के बाद ही लॉकडाउन खोलेंगे कि राज्य कोरोना मुक्त है. अगर एक भी व्यक्ति संक्रमित है तो यह बहुत मुश्किल होगा और इसलिए लॉकडाउन के खत्म होने की संभावना कम है."