Lockdown की घोषणा के बाद मेडिकल और राशन की दुकानों पर उमड़ी भीड़, लोग बोले- 'जब कर्फ्यू जैसे हालात होंगे तो फिर...'

लॉकडाउन की घोषणा के बाद मेडिकल शॉप और राशन की दुकानों को लोगों की भीड़ जमा हो गई. लोग जरूरत की सभी चीजें खरीदकर अपने पास रखने के लिए तुरंत दुकानों पर इकट्ठा हो गए.

Lockdown की घोषणा के बाद मेडिकल और राशन की दुकानों पर उमड़ी भीड़, लोग बोले- 'जब कर्फ्यू जैसे हालात होंगे तो फिर...'

Coronavirus Latest News: पीएम मोदी ने की देश में संपूर्ण लॉकडाउन की घोषणा.

नई दिल्ली:

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (PM Modi) ने मंगलवार रात 8 बजे कोरोनावायरस (Coronavirus) के मद्देनजर देश में बने हालात को लेकर जनता को संबोधित किया और अगले 21 दिनों के लिए लॉकडाउन की घोषणा की. देश भर में यह लॉकडाउन 14 अप्रैल तक रहेगा. लॉकडाउन की घोषणा के बाद मेडिकल शॉप और राशन की दुकानों को लोगों की भीड़ जमा हो गई. लोग जरूरत की सभी चीजें खरीदकर अपने पास रखने के लिए तुरंत दुकानों पर इकट्ठा हो गए. कई लोगों ने सरकार के इस आश्वासन पर सवाल उठाए की जब 'हालात कर्फ्यू जैसे होंगे' तो फिर जरूरत के सामान कैसे मिलेंगे. बता दें कि देश में कोरोनावायरस से अब तक 500 से ज्यादा लोग संक्रमित हो चुके हैं और 10 की मौत हो चुकी है. कोरोनावायरस के बढ़ते मामलों को देखते हुए ही प्रधानमंत्री ने पूरे देश में लॉकडाउन का फैसला लिया है.

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने देश को संबोधित करते हुए कहा, 'यह कर्फ्यू जैसा है, जनता कर्फ्यू से भी कठिन है. 'यदि आप लक्ष्मण रेखा पार करते हैं, तो आप वायरस को घर पर आमंत्रित करेंगे.' प्रधानमंत्री ने आगे कहा, 'कोरोनोवायरस से लड़ने के लिए केंद्र  ने 15,000 करोड़ रुपये आवंटित किए हैं. हम आवश्यक वस्तुओं की निरंतर आपूर्ति सुनिश्चित करने के लिए सभी कदम उठा रहे हैं.'
  


उधर, गृह मंत्री अमित शाह ने देशवासियों को मंगलवार को आश्वस्त किया कि 21 दिनों के लॉकडाउन के दौरान आवश्यक वस्तुओं की कोई किल्लत नहीं होगी. कई ट्वीट कर उन्होंने लोगों से अपील की कि वे भयभीत नहीं हों क्योंकि पूरा देश कोरोना वायरस के खिलाफ लड़ाई में एकजुट है. शाह ने कहा, 'मैं देशवासियों को आश्वस्त करना चाहता हूं कि देश में बंद के दौरान आवश्यक वस्तुओं की कोई कमी नहीं होगी.' गृह मंत्री ने कहा कि केंद्र सरकार सभी राज्य सरकारों के साथ मिलकर आने वाली स्थिति से निपटने के लिए पर्याप्त उपाय कर रहे हैं.