प्रवासी श्रमिकों की ट्रेन से कुचलकर मौत पर प्रशांत किशोर को आया गुस्‍सा, कहा-केंद्र और राज्‍य, दोनों ने ही उन्‍हें नियति पर छोड़ा

चुनावी रणनीतिकार प्रशांत किशोर (Prashant Kishor) ने प्रवासी मजदूरों की इस मौत को लेकर तीखे शब्‍दों में प्रतिक्रिया जताई है.

प्रवासी श्रमिकों की ट्रेन से कुचलकर मौत पर प्रशांत किशोर को आया गुस्‍सा, कहा-केंद्र और राज्‍य, दोनों ने ही उन्‍हें नियति पर छोड़ा

औरंगाबाद ट्रेन हादसे पर प्रशांत किशोर ने ट्वीट किया है

नई दिल्ली:

Aurangabad Train Accident: कोरोना वायरस की महामारी के कारण जारी लॉकडाउन के बीच महाराष्‍ट्र से पैदल घर लौट रहे 14 प्रवासी मजदूरों के ट्रेन से कुचलकर (Maharashtra Train Accident) मौत हो गई है. चुनावी रणनीतिकार प्रशांत किशोर (Prashant Kishor) ने प्रवासी मजदूरों की इस मौत को लेकर तीखे शब्‍दों में प्रतिक्रिया जताई है. उन्‍होंने इस मसले पर एक ट्वीट करके लिखा-जीवन और मृत्‍यु, दोनों ही में प्रवासी मजदूर केवल आंकड़ों में सिमटकर रह गए हैं. कुछ अपवादों को छोड़ दें तो इन्‍होंने तो कोई गलती नहीं की है लेकिन केंद्र और राज्‍य सरकार, दोनों ने ही इन्‍हें इनकी नियति और समाज की दया पर छोड़ दिया है.''


गौरतलब है कि महाराष्‍ट्र में शुक्रवार सुबह हुए हादसे में पैदल मध्‍यप्रदेश स्थित अपने घर लौट रहे 15 मजदूरों की ट्रेन की चपेट में आकर मौत हो गई.घटना मुंबई से 360 किलोमीटर दूर औरंगाबाद जिला स्थित करमाड की है. सभी मजदूर पटरी के सहारे जालना से भुसावल की ओर पैदल अपने घर लौट रहे थे. थकान की वजह से सभी मजदूर पटरी पर ही लेट गए और उन्‍हें नींद लग गई. सुबह सवा पांच बजे एक ट्रेन वहां से गुजरी. मजदूरों को संभलने का भी मौका नहीं मिला और सभी ट्रेन की चपेट में आ गए. रेलवे के अधिकारियों ने घटना की पुष्टि की है. रेलवे ने घटना की जांच के आदेश दिए हैं.

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


जानकारी के अनुसार, मजदूरों को ट्रैक पर देखने के बाद लोको पायलट ने मालगाड़ी को रोकने की काफी कोशिश की लेकिन फिर भी सही समय पर ट्रेन नहीं रुक पाई. हादसे का शिकार हुए 14 मजदूरों की मौत हो चुकी है. 5 लोग घायल हैं. औरंगाबाद के सरकारी अस्पताल में उनका इलाज चल रहा है. गौरतलब है कि देश में कोरोना वायरस के केसों की संख्‍या बढ़ते हुए 56 हजार के पार पहुंच गई है. इस वायरस के कारण देश में अब तक 1886 लोगों की मौत हो गई है. 16,540 मरीज इलाज के बाद ठीक हो चुके हैं, देश में कोरोना के एक्टिव केसों की संख्‍या 37,916 है. महाराष्‍ट्र, गुजरात और दिल्‍ली कोरोना वायरस से सर्वाधिक प्रभावित हैं. अकेले महाराष्‍ट्र में ही कोरोना से संक्रमितों की संख्‍या 17 हजार से अधिक है.