Coronavirus Lockdown: सोनिया गांधी ने पूछा सवाल, '17 मई के बाद क्‍या, लॉकडाउन को लेकर कौन सा मापदंड अपना रही सरकार'

सोनिया ने पार्टी शासित राज्यों के मुख्यमंत्रियों के साथ वीडियो कांफ्रेंसिंग के माध्यम से हुई बैठक में कहा, ‘17 मई के बाद क्या? 17 मई के बाद कैसे होगा?.’

Coronavirus Lockdown: सोनिया गांधी ने पूछा सवाल, '17 मई के बाद क्‍या, लॉकडाउन को लेकर कौन सा मापदंड अपना रही सरकार'

सोनिया गांधी ने कांग्रेस शासित राज्‍यों के CM के साथ वीडियो कॉन्‍फ्रेसिंग के जरिये बैठक की

नई दिल्ली:

कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी (Sonia Gandhi) ने बुधवार को सवाल किया कि यह तय करने का सरकार का मापदंड क्या है कि लॉकडाउन (Coronavirus Lockdown)कितने लंबे समय तक जारी रहेगा? कांग्रेस के मुख्य प्रवक्ता रणदीप सुरजेवाला के मुताबिक, सोनिया ने पार्टी शासित राज्यों के मुख्यमंत्रियों के साथ (CMs of Congress-ruled states) वीडियो कांफ्रेंसिंग के माध्यम से हुई बैठक में कहा, ‘17 मई के बाद क्या? 17 मई के बाद कैसे होगा? भारत सरकार यह तय करने के लिए कौन सा मापदंड अपना रही है कि लॉकडाउन कितना लंबा चलेगा.' बैठक में उनकी बात का समर्थन करते हुए पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह ने कहा, ‘जैसा कि सोनिया जी ने कहा है कि हमें यह जानने की जरूरत है कि लॉकडाउन -3 के बाद क्या होगा?'

किसानों को लेकर सोनिया ने कहा, ‘हम अपने किसानों खासकर पंजाब और हरियाणा के किसानों का धन्यवाद करते हैं कि जिन्होंने तमाम दिक्कतों के बावजूद गेहूं की शानदार उपज पैदा करते हुए खाद्य सुरक्षा सुनिश्चित की है.' सुरजेवाला के अनुसार बैठक में राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने कहा, ‘‘जब तक व्यापक प्रोत्साहन पैकेज नहीं दिया जाता तब तक राज्य और देश कैसे चलेगा? हमें 10 हजार करोड़ रुपये के राजस्व का नुकसान हुआ है. राज्यों ने प्रधानमंत्री से पैकेज के लिए लगातार आग्रह किया है, लेकिन हमें अब तक भारत सरकार से कुछ नहीं पता चला.'

वीडियो कांफ्रेंसिंग के दौरान पंजाब के मुख्यमंत्री अमरिंदर सिंह ने कहा, 'दिल्ली में बैठे लोग जमीनी हकीकत जाने बिना कोविड-19 के जोनों का वर्गीकरण कर रहे हैं, जो चिंताजनक है.' पूर्व वित्त मंत्री पी. चिदंबरम ने कांग्रेस मुख्यमंत्रियों की बैठक में कहा कि वित्त के मामले में राज्यों की हालत बेहद खराब है लेकिन केंद्र उन्हें कोई धनराशि आवंटित नहीं कर रहा है.

VIDEO: Red Zone में कुछ इस तरह से आगे बढ़ रही है जिंदगी



(हेडलाइन के अलावा, इस खबर को एनडीटीवी टीम ने संपादित नहीं किया है, यह सिंडीकेट फीड से सीधे प्रकाशित की गई है।)

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com