Coronavirus: मजबूर होकर पूरे राज्य में कर्फ्यू लगाने का फैसला लिया गया है : सीएम उद्धव ठाकरे

महाराष्ट्र में कोरोना वायरस के मरीजों की संख्या लगातार बढ़ने के बावजूद भी लोग लॉकडाउन के फैसले को गंभीरता से नहीं ले रहे हैं. जिसको देखते हुए आज मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे ने कहा कि वह मजबूर होकर पूरे राज्य में कर्फ्यू लगाने का आदेश दे रहे हैं.

Coronavirus: मजबूर होकर पूरे राज्य में कर्फ्यू लगाने का फैसला लिया गया है : सीएम उद्धव ठाकरे

Coronavirus Update: महाराष्ट्र में मरीजों की संख्या 90 के पार हो गई है

नई दिल्ली:

महाराष्ट्र में कोरोना वायरस के मरीजों की संख्या लगातार बढ़ने के बावजूद भी लोग लॉकडाउन के फैसले को गंभीरता से नहीं ले रहे हैं. जिसको देखते हुए आज मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे ने कहा कि वह मजबूर होकर पूरे राज्य में कर्फ्यू लगाने का आदेश दे रहे हैं. उन्होंने कहा, 'मैं राज्यव्यापी कर्फ्यू लगाने के ऐलान के लिए मजबूर हूं. लोग सुनने के लिए तैयार नही हैं और हम मजबूर हैं. उन्होंने कि कल हमने राज्य की सीमा सील की थी आज हम जिलों की सीमा सील कर दी है. अब हम उन जिलों में इसे नहीं फैलने देंगे जहां पर अभी इसका असर नहीं पड़ा है.  महाराष्ट्र के सीएम ने कहा कि जरूरी चीजें जैसे किराना, दूध, बेकरी, मेडिकल सेवाएं जारी रहेंगी. लोगों को घबराने की जरूरत नहीं है. सभी धार्मिक स्थान भी बंद रहेंगे. केव संत और मौलवी ही इनके अंदर जा सकेंगे.

मुख्यमंत्री ने कहा, 'हम सार्वजनिक स्थानों पर भीड़ किसी भी कीमत पर बर्दाश्त नहीं करेंगे. आपात स्थिति को छोड़कर किसी को भी सड़कों पर घूमने-फिरने नहीं दिया जाएगा. यदि इन दिशा-निर्देशों का उल्लंघन किया गया तो लोगों को कानूनी कार्रवाई का सामना करना पड़ेगा.' उन्होंने कहा कि कर्फ्यू के दौरान सभी जरूरी सेवाएं, मेडिकल स्टोर, पशुचिकित्सक और उनकी दुकानें खुली रहेंगी. ठाकरे ने कहा, 'जिस तरह हमने कल ताली बजायी, वह वाकई चेतावनी की घंटी है. हमें इस समय पूर्ण संयम बरतने की जरूरत है, वरना हम हमेशा के लिए पछतायेंगे. यह कोरोना वायरस के खिलाफ संघर्ष में अहम मोड़ है. उन्होंने कहा कि घर में पृथक रहना अनिवार्य है क्योंकि यह स्वास्थ्य विशेषज्ञों एवं सरकार की ओर से परामर्श है. 

उन्होंने कहा, 'हमें कोरोना वायरस के खिलाफ लड़ाई जीतनी है. राज्य सरकार आंगनवाड़ी एवं आशा कर्मियों एवं होमगार्डों को प्रशिक्षण दे रही है क्योंकि राज्य को कोविड-19 के खिलाफ लड़ाई में और श्रमबल की जरूरत है.' मुख्यमंत्री ने कहा कि उन्होंने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से पत्र लिखकर उनसे घरेलू विमान सेवाएं निलंबित करने का अनुरोध किया है. उन्होंने कहा कि हम केवल जरूरी सेवाओं की ही अनुमति देंगे. उन्होंने कहा कि यदि हमने इस पल कोरोना वायरस पर अंकुश नहीं लगाया तो हमें कुछ यूरोपीय देशों जैसी स्थिति का सामना करना पड़ सकता है.  अधिकारियों ने सोमवार को बताया कि महाराष्ट्र में कोविड-19 के मामलों की संख्या बढ़कर 89 हो गई है. पिछले 24 घंटे में घातक संक्रमण के 15 और पॉजिटिव मामले सामने आए हैं. (इनपुट भाषा से भी)


 

 
Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com