कोरोना वायरस : भारतीयों ने दिखाया लड़ने का जज्बा, 10 सबसे ज्यादा प्रभावित देशों की तुलना में मौतों की दर सबसे कम

एक ओर जहां अमेरिका सहित पूरी दुनिया के बड़े देश कोरोना वायरस के खिलाफ घुटने टेकते नजर आ रहे हैं. वहीं  भारत ने कम संसाधनों के बावजूद एकजुटता दिखाते हुए कोरोना के खिलाफ अब तक शानदार लड़ाई लड़ी है.

कोरोना वायरस : भारतीयों ने दिखाया लड़ने का जज्बा, 10 सबसे ज्यादा प्रभावित देशों की तुलना में मौतों की दर सबसे कम

Coronavirus : भारत में कोरोना वायरस से मौत की दर काफी कम है

नई दिल्ली:

एक ओर जहां अमेरिका सहित पूरी दुनिया के बड़े देश कोरोना वायरस के खिलाफ घुटने टेकते नजर आ रहे हैं. वहीं  भारत ने कम संसाधनों के बावजूद एकजुटता दिखाते हुए कोरोना के खिलाफ अब तक शानदार लड़ाई लड़ी है. इस बीमारी से होने वाली मौतों की दर भी बाकी देशों की तुलना में काफी कम है. केंद्र सरकार की ओर से जारी किए गए आंकड़ों की मानें इस बीमारी से सबसे ज्यादा प्रभावित 10 देशों की तुलना मे भारत में मृत्यु दर सबसे कम है. यूके में 15.7,  बेल्जियम में 15.7,  फ्रांस में 14.5,  इटली में 13.6, नीदरलैंड में 12.1, स्वीडन में 12.1, स्पेन में 10.2, मैक्सिको में 9.7,ब्राजील में 6.9, ईरान में 6.4 और भारत में यह दर 3.2 है. 

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com

गौरतलब है कि भारत में इस बीते डेढ़ महीने से लॉकडाउन का सख्ती से पालन किया जा रहा है हालांकि इस दौरान कई जगहों पर लापरवाही भी देखने को मिली है. लेकिन डॉक्टरों, मेडिकल स्टाफ, पुलिस और  सफाईकर्मियों ने अब तक शानदार काम किया है. शुरुआत में बिना पीपीई किट के भी इन 'स्वास्थ्य योद्धाओं' ने अग्रिम मोर्च पर जाकर हालात संभाले हैं और कई पुलिसकर्मियों और डॉक्टरों ने इस बीमारी से लड़ते हुए जान भी गंवाई है. 

फिलहाल आज जो आंकड़ा आया है कि उसके मुताबिक भारत में कोरोनावायरस (Coronavirus) के मरीजों की संख्या 35,000 के पार हो गई है और कुल 8,889 लोग ठीक हुए हैं यानी अभी कुल एक्टिव केस 25,007 हैं. पिछले 24 घंटों में कोरोना के 1,993 नए मामले सामने आए हैं और 73 लोगों की मौत हुई है. इस बीच एक अच्छी खबर यह है कि पिछले 15 दिनों में देश में कोरोना के हॉटस्पॉट या रेड जोन की संख्या 23 फीसदी कम हुई है. केंद्र सरकार ने गुरुवार को इस बात की जानकारी दी है. सरकार की ओर से बताया गया कि 15 अप्रैल को देश में 170 रेड जोन थे जो 30 अप्रैल को 130 रह गए. वहीं देश में ऑरेंज जोन बढ़े हैं. यह 207 से 284 हो गए हैं.