Coronavirus: अब व्हाट्सऐप और ईमेल से भी भेजे जा सकेंगे अदालती नोटिस और समन

सुप्रीम कोर्ट ने व्हाट्सऐप और अन्य टेली मैसेजेंर सेवाओं के जरिए अदालती नोटिस और समन भेजने की दी इजाजत

Coronavirus: अब व्हाट्सऐप और ईमेल से भी भेजे जा सकेंगे अदालती नोटिस और समन

सुप्रीम कोर्ट ने नोटिस और समन टेली मैसेंजरों के जरिए भेजने की इजाजत दे दी है.

नई दिल्ली:

अब व्हाट्सऐप और अन्य टेली मैसेजेंर सेवाओं के जरिए अदालती नोटिस और समन भेजे जा सकेंगे. सुप्रीम कोर्ट ने कोरोना वायरस (Coronavirus) संक्रमण के चलते शुक्रवार को व्हाट्सऐप जैसी टेली-मैसेंजर सेवाओं के साथ-साथ ईमेल और फैक्स के माध्यम से समन और नोटिस की सेवा की अनुमति दे दी. 

सुप्रीम कोर्ट के चीफ जस्टिस एसए बोबडे की पीठ ने कहा कि यह हमारे ध्यान में लाया गया है कि नोटिस, समन आदि की सेवाओं के लिए डाकघरों का दौरा करना संभव नहीं है, इसलिए उपरोक्त सभी प्रकार की सर्विस ई मेल, फैक्स और अन्य त्वरित संदेशवाहक सेवाओं जैसे व्हाट्सऐप और अन्य टेली मैसेंजरों के माध्यम से की जा सकती है. सुप्रीम कोर्ट ने केंद्र की ओर से एजी केके वेणुगोपाल की इस दलील को नहीं माना कि व्हाट्सऐप को शामिल ना किया जाए. 

गौरतलब है कि 19 जून को, सुप्रीम कोर्ट ने कहा था कि समय सीमा को बढ़ाने और सरकार के लॉकडाउन प्रतिबंधों के उसके आदेश से आपराधिक प्रक्रिया संहिता की धारा 167 (2) के तहत दोषी को डिफाल्ट जमानत लेने का अधिकार प्रभावित नहीं होगा.

आठ जून को कोर्ट ने अटॉर्नी जनरल की एक अर्जी पर निगोशिएबल इंस्ट्रूमेंट्स एक्ट 1881 की धारा 138 के तहत ईमेल और व्हाट्सऐप के माध्यम से "चेक के अनादर" मामलों में डिमांड नोटिस की सेवा पर जवाब मांगा था. 

COVID-19 महामारी के दौरान देश भर के न्यायालयों और न्यायाधिकरणों में शारीरिक रूप से आवेदन दाखिल करने को कम करने के उद्देश्य से 23 मार्च को सुप्रीम कोर्ट ने एक सामान्य आदेश पारित किया था. इसमें 15 मार्च से प्रभावी कर अगले आदेश तक समय सीमा को बढ़ा दिया था चाहे वह क्षम्य हो या नहीं.

गौरतलब है कि देश में कोरोना वायरस के मामले तेजी से बढ़ते जा रहे हैं. 24 घंटों में सर्वाधिक मामलों का रिकॉर्ड शुक्रवार को एक बार फिर से टूटा है. पिछले 24 घंटों के अंदर 26,506 नए मामले सामने आए हैं. यह एक दिन में आए सर्वाधिक मामले हैं. स्वास्थ्य मंत्रालय द्वारा जारी आंकड़ों के अनुसार, शुक्रवार को संक्रमितों की संख्या बढ़कर 8 लाख के करीब पहुंच गई. मंत्रालय के अनुसार यह संख्या 7,93,802 पर पहुंच चुकी है. वहीं पिछले 24 घंटों में 475 लोगों की मौत हुई है. इसी के साथ मृतकों की संख्या बढ़कर 21604 पर पहुंच गई है. रिकवरी रेट भी 62.42 पर पहुंच गया है, इसी के साथ वायरस को मौत देने वालों की संख्या 4,95513 पहुंच गई है.

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com

देश में कोरोना के मामलों में तेजी के बीच टेस्टिंग की रफ्तार भी बढ़ाने की कोशिश की जा रही है. 9 जुलाई यानी गुरुवार को 2,83,659 नमूनों का परीक्षण किया गया, जो कि एक दिन में टेस्टिंग का अब तक का सबसे बड़ा आंकड़ा है. 9 जुलाई तक कुल 1,10,24,491 सैंपलों की जांच की जा चुकी है. पॉज़िटिविटी रेट 9.34 प्रतिशत पर पहुंच गया है. 

पिछले 24 घंटों में कोरोना का सबसे ज्यादा नए मामले महाराष्ट्र में सामने आए हैं. यहां 24 घंटे में 6875 नए मरीज मिले हैं. तमिलनाडु में 4231 मामले, कर्नाटक में 2228, देश की राजधानी दिल्ली में  2187 केस और आंध्र प्रदेश में पिछले 24 घंटे में 1555 मामले आए हैं. वहीं पिछले 24 घंटे में सबसे ज्यादा मौत के आंकड़े भी महाराष्ट्र में सामने आए हैं. महाराष्ट्र में 24 घंटे में 219 लोगों की जान गई है. इसके बाद तमिलनाडु में 65, दिल्ली में 45, पश्चिम बंगाल में 27 और कर्नाटक में 16 लोगों की इस वायरस की वजह से जान गई है.