यूपी: घोर लापरवाही...बसों को 'डिसइनफेक्‍ट' करने के दौरान युवक पर किया कीटनाशक का छिड़काव

इस ब्‍लीच और वाटर सॉल्‍यूशन का इस्‍तेमाल केवल किसी स्‍थान (surface) को 'डिसइनफेक्‍ट'  करने के लिए किया जाता है और इसे इंसानों पर नहीं छिड़का जा सकता.

यूपी: घोर लापरवाही...बसों को 'डिसइनफेक्‍ट' करने के दौरान युवक पर किया कीटनाशक का छिड़काव

लखनऊ:

यूपी की राजधानी लखनऊ के चारबाग रेलवे स्टेशन के बाहर सुरक्षा उपकरण पहनकर बसों को 'डिसइनफेक्‍ट' कर रहे नगरनिगम कर्मी ने असावधानी से काम करते हुए एक युवक पर कीटाणुनाशक स्‍प्रे कर दिया. इस लापरवाही को देखते ही पास में खड़ी महिला ने आवाज लगाई, 'अरे वह गीला हो जाएगा..' यह महिला संभवत: इस युवक की रिश्‍तेदार थी. डिवाइडर पर बैठे इस युवक के परिवार ने इस घटना पर नाराजगी जताई है. बुधवार की छह सेकंड की इस मोबाइल फोन वीडियो क्लिप को लेकर लोगों की नाराजगी सामने आई है और इसकी तुलना बरेली की उस घटना के साथ की जा रही है जो देश में लॉकडाउन के शुरुआत के समय सामने आई थी. पश्चिमी यूपी के बरेली जिले में विशेष बसों से लौटे घर लौटे प्रवासी श्रमिकों को 'डिसइनफेक्‍ट'  करने के लिए इसी सॉल्‍यूशन का इस्‍तेमाल किया था. 

इस ब्‍लीच और वाटर सॉल्‍यूशन का इस्‍तेमाल केवल किसी स्‍थान (surface) को 'डिसइनफेक्‍ट'  करने के लिए किया जाता है और इसे इंसानों पर नहीं छिड़का जा सकता. लखनऊ नगर निगम के एक शीर्ष अधिकारी ने इस चौंकाने वाली घटना पर प्रतिक्रिया देते हुए कहा कि लड़के पर सॉल्‍यूशन छिड़काव अनजाने में हो गया और यह इरादतन नहीं किया गया. यह अधिकारी श्रमिकों को उनके घर तक पहुंचाने के लिए इस्‍तेमाल की जाने वाले सरकारी बसों को 'डिसइनफेक्‍ट' करने का प्रभारी है. दूसरे राज्‍यों में फंसे इन श्रमिकों को विशेष ट्रेन से वापस लाया गया है. लखनऊ नगरनिगम के कमिश्‍नर इंद्रमणि त्रिपाणी ने बताया, '"बसों के सैनिटेशन की प्रक्रिया जारी थी. जब हमारे कर्मचारी एक बस से दूसरी बस में जा रहे थे, तब कुछ मजदूर उनके रास्‍ते में आ गए. यह इरादतन नहीं किया गया." उन्होंने कहा, "निगम एक महीने से बसों की सफाई कर रहा है और इस तरह की कोई घटना नहीं हुई है. हमने इसमें शामिल दो वर्कर्स को हटा दिया है, क्योंकि अनजाने में ही सही, उन्होंने निश्चित रूप से गलती तो की है." 

0e10i9no

यूपी के बरेली में मार्च में प्रवासी मजदूरों पर कीटाणुनाशक का छिड़काव किया था

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com

जिस युवक पर कीटाणुनाशक का छिड़काव किया गया था, उसकी पहचान नहीं हो पाई है. हालांकि सूत्रों ने कहा कि वह और उसका परिवार एक ऐसी ट्रेन से पहुंचे थे, जो देशभर में फंसे प्रवासियों को यूपी की राजधानी लखनऊ लेकर आई है. गौरतलब है कि मार्च में बरेली में इसी तरह का एक मामला सामने आने के बाद यूपी के सीएम योगी आदित्यनाथ ने कहा था कि ऐसी घटनाओं को दोहराया नहीं जाना चाहिए. राज्य सरकार के एक वरिष्ठ अधिकारी अवनीश अवस्थी ने कहा था, "मुख्यमंत्री ने बरेली की घटना की निंदा की है, जहां अधिकारियों ने प्रवासी श्रमिकों पर कीटाणुनाशक का छिड़काव किया है और इनके खिलाफ कार्रवाई के आदेश दिए हैं. गौरतलब है कि यूपी में अब तक कोरोना वायरस के लगगग 3000 मामले सामने आए हैं, जिसमें 60 लोगों को जान गंवानी पड़ी है.

VIDEO: Red Zone में कुछ इस तरह से आगे बढ़ रही है जिंदगी