ऑपेरशन समुद्र सेतु : विदेश में फंसे 700 भारतीयों को घर लाने के लिए श्रीलंका पहुंचा INS जलाश्व

युद्धपोत INS जलाश्व में सफर करने वाले लोगों का पहले कोविड-19 (COVID-19) से जुड़ा मेडिकल टेस्ट होता है. सोशल डिस्टेंसिंग का पूरी तरह से पालन किया जाता है.

ऑपेरशन समुद्र सेतु : विदेश में फंसे 700 भारतीयों को घर लाने के लिए श्रीलंका पहुंचा INS जलाश्व

श्रीलंका में फंसे भारतीयों को लेेने पहुंचा आईएनएस जलाश्व

नई दिल्ली:

श्रीलंका में फंसे भारतीयों को लाने के लिये नौसेना (Navy) का युद्धपोत आईएनएस जलाश्व (INS Jalashwa) श्रीलंका की राजधानी कोलंबो पहुंच चुका है. 'ऑपेरशन समुद्र सेतु' के तहत, 700 लोगों को लेकर जलाश्व शाम को तमिलनाडु के तूतीकोरिन के लिये रवाना होगा. जलाश्व करीब 256 किलोमीटर की दूरी करीब 10 घंटे में पूरी करेगा. इससे पहले नौसेना मालदीव की राजधानी माले से युद्धपोत आईएनएस जलाश्व के जरिए 1286 लोगों को सुरक्षित कोच्चि लेकर आ चुकी है.

युद्धपोत INS जलाश्व में सफर करने वाले लोगों का पहले कोविड-19 (COVID-19) से जुड़ा मेडिकल टेस्ट होता है. सोशल डिस्टेंसिंग का पूरी तरह से पालन किया जाता है. युद्धपोत में डॉक्टरों की टीम और रोजमर्रा जरूरत के सारे समान होते हैं, जो यात्रियों को मुहैया कराए जाते हैं. कोलम्बो से लाने के बाद नौसेना इन यात्रियों को राज्य सरकार के सुपुर्द कर देगी. उसके बाद राज्य सरकार कोरोना से जुड़े प्रोटोकॉल का पालन करेगी. 

ऑपेरशन समुद्र सेतु -2 के तहत, विदेशों में फंसे भारतीयों को लाने का काम आज से शुरू हो रहा है. इसमे पहले 700 लोग कोलम्बो से और 700 लोग माले से आएंगे. नौसेना पहले फेज में 1488 लोगों को माले से कोच्चि ला चुकी है. श्रीलंका और मालदीव में भारतीय दूतावास ऐसे भारतीय लोगों की लिस्ट तैयार कर रहा है जिन्हें भारत लाया जाना है. लिस्ट तैयार करते वक़्त गर्भवती महिलाओं , बच्चें और बुजुर्गों को प्राथमिकता दी गई है.

वीडियो: ऑपरेशन समुद्र सेतु: विदेशों में फंसे भारतीयों को लेकर INS जलाश्व कोच्चि पहुंचा

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com