जयपुर में दोहराई गई इंदौर जैसी घटना, कोरोनावायरस की जांच करने गई टीम पर हमला, सात गिरफ्तार

कोरोना वायरस के सर्वेक्षण और स्क्रीनिंग के लिए गये स्वास्थ्य कर्मियों के साथ पत्थरबाजी करने और हाथापाई करने के आरोप में सात लोगों को गिरफ्तार किया गया.

जयपुर में दोहराई गई इंदौर जैसी घटना, कोरोनावायरस की जांच करने गई टीम पर हमला, सात गिरफ्तार

22 लोगों के खिलाफ मामला दर्ज किया गया

जयपुर:

राजस्थान के अजमेर जिले के रामगंज थानाक्षेत्र में मंगलवार को कोरोना वायरस के सर्वेक्षण और स्क्रीनिंग के लिए गये स्वास्थ्य कर्मियों के साथ पत्थरबाजी करने और हाथापाई करने के आरोप में सात लोगों को गिरफ्तार किया गया.उन्होंने बताया कि प्राथमिकी में नामजद अभियुक्तों में से सात को भारतीय दंड संहिता और राजस्थानाधिकारी नरपत सिंह ने बताया कि खानपुरा चिश्ती नगर में कल जब स्वास्थ्य कर्मियों का दल सर्वेक्षण और स्क्रीनिंग के लिये गया तो स्थानीय वासियों ने दल के सदस्यों के साथ हाथापाई की और यहां तक की उनपर पत्थरबाजी की जिसके बाद सोमवार को 22 लोगों के खिलाफ मामला दर्ज किया गया. 

थान महामारी रोग अधिनियम की विभिन्न धाराओं के तहत गिरफ्तार किया गया है, कुछ लोगों ने घटना की वीडियो रिकार्डिंग की थी जिसके आधार पर आरोपियों को चिन्हित किया गया. मामले की जांच की जा रही है. 

बता दें कि भारत में कोरोनावायरस का संकट गहराता जा रहा है, मंगलवार शाम स्वास्थ्य मंत्रालय द्वारा जारी आंकड़ों के मुताबिक कोरोनावायरस संक्रमितों की संख्या 4789 हो गई है जबकि मृतकों की संख्या 124 हो गई. राहत की बात ये है कि 353 लोग इलाज के बाद स्वस्थ होकर अपने घर वापस जा चुके हैं. पिछले 24 घंटे की बात करें तो आपको बता दें कि इस दौरान 13 लोगों की मौत हुई और 508 नए मरीज सामने आाए हैं. इसके अलावा सरकार से जुड़े शीर्ष सूत्रों ने मंगलवार को बताया कि 'कई राज्य सरकारों और विशेषज्ञों' ने केंद्र सरकार से गुहार लगाई है कि 21 दिन के लॉकडाउन को 14 अप्रैल से आगे बढ़ाया जाए. 

Video: इंदौर के हमलावरों पर 'रासुका' लगाकर भेजा गया जेल

 
Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com