UP में कोरोना के केसों की संख्‍या में हो रहा इजाफा, 24 घंटों में आए 5130 नए मामले..

यूपी में बीते 24 घंटों के दौरान कोविड-19 के 5130 नए मामले (New Corona cases in UP)सामने आये जबकि 56 और मरीजों की मौत के साथ मंगलवार को मृतकों का आंकडा बढ़कर 2176 हो गया है.

UP में कोरोना के केसों की संख्‍या में हो रहा इजाफा, 24 घंटों में आए 5130 नए मामले..

यूपी में इस समय कोरोना के एक्टिव केसों की संख्‍या 48,998 है

खास बातें

  • 24 घंटों में यूपी में 56 लोगों की कोरोना से हुई मौत
  • 48,998 लोग राज्‍य में इस समय करा रहे इलाज
  • कोरोना के कुल केसों की संख्‍या 1,31,763 है
लखनऊ:

Coronavirus Pandemic: आबादी के लिहाज से देश के सबसे बड़े राज्‍य उत्तर प्रदेश में कोरोना के मामले लगातार बढ़ रहे हैं. यूपी में बीते 24 घंटों के दौरान कोविड-19 के 5130 नए मामले (New Corona cases in UP)सामने आये जबकि 56 और मरीजों की मौत के साथ मंगलवार को मृतकों का आंकडा बढ़कर 2176 हो गया है. अपर मुख्य सचिव (चिकित्सा एवं स्वास्थ्य) अमित मोहन प्रसाद ने बताया कि पिछले 24 घंटों में संक्रमण के 5130 नए मामले आए. उन्होंने कहा कि उपचाराधीन लोगों की संख्या 48,998 है.प्रसाद ने बताया कि कुल 80,589 लोग पूर्णतया स्वस्थ होकर अस्पतालों से छुटटी पा चुके हैं जबकि कोरोना वायरस संक्रमण से हुई मौतों का आंकडा 2176 है. यूपी में कोरोना संक्रमण के कुल मामले 1,31,763 हैं.

कोलकाता में देश के इन 6 शहरों से आने वाली उड़ानों पर लगी रोक 31 अगस्त तक बढ़ी

उन्होंने बताया कि सोमवार को 1,01,039 नमूनों की जांच की गयी जिनमें से 60,542 नमूने एंटीजन टेस्ट से जांचे गए. अब तक 33,14,435 टेस्ट किये जा चुके हैं. उन्‍होंने बताया कि जांच का WHO का मानक प्रति दस लाख जनसंख्या पर 140 जांच प्रतिदिन का है, उसके हिसाब से उत्तर प्रदेश में प्रतिदिन लगभग 32 हजार टेस्ट किये जाने चाहिए.हम उस मानक से तीन गुने से ज्यादा टेस्ट रोज कर रहे हैं. देश में प्रतिदिन सबसे अधिक टेस्ट करने वाला प्रदेश उत्तर प्रदेश है. उन्होंने बताया कि इस समय 20, 818 लोग घरों में क्‍वारंटाइन हैं. निजी अस्पतालों में 1533 लोग भर्ती हैं जहां उपचार के लिए भुगतान करना होता है. सेमी पेड सुविधाओं यानी होटलों या एल—1 प्लस सुविधा में इस समय 197 लोग हैं.

अपर मुख्य सचिव ने बताया कि सोमवार को पूल टेस्टिंग के माध्यम से पांच पांच नमूनों के 3248 पूल लगाये गये, जिनमें से 667 में संक्रमण की पुष्टि हुई. इसके अलावा दस दस नमूनों के 241 पूल लगाये गए जिनमें से 26 में संक्रमण की पुष्टि हुई. उन्होंने बताया कि निगरानी कार्य निरंतर जारी है और 52,473 इलाकों में निगरानी के जरिए 1,67,07,379 घरों में 8,41,00,169 लोगों का सर्वेक्षण किया गया. उत्‍तर प्रदेश में अब तक 61,794 कोविड हेल्पडेस्क स्थापित की जा चुकी हैं, इनमें छह लाख 36 हजार से ज्यादा लक्षण युक्त लोगों की पहचान की गई. कोविड हेल्प डेस्क सभी महत्वपूर्ण कार्यालयों और प्रतिष्ठानों में बनाये जाते हैं. हर कोविड हेल्पडेस्क पर इन्फ्रारेड थर्मामीटर और पल्स ऑक्सीमीटर अनिवार्य रूप से होता है. उन्‍होंने बताया कि जिन लोगों को घरों में क्‍वारंटाइन रखा जाता है, जोनल सेंटर से एक टीम उनके घर पर जाती है और परीक्षण करती है. यह टीम आवश्यक दवाएं निशुल्क देती है तथा घर वालों को संक्रमण से बचने के लिए भी दवाइयां देती है. 


कोरोना: क्या एहतियातों के बीच बच्चों को संक्रमण से बचाया जा सकता है?

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com




(इस खबर को एनडीटीवी टीम ने संपादित नहीं किया है. यह सिंडीकेट फीड से सीधे प्रकाशित की गई है।)