कोरोना वायरस संक्रमण के दौर में प्रदूषण बहुत घातक, मास्क से ही बचाव संभव

Coronavirus: आईसीएमआर के डायरेक्टर जनरल डॉ बलराम भार्गव का कहना है कि यह साफ देखा गया कि प्रदूषण कोरोना से होने वाली मौत में योगदान दे रहा है, यह अच्छा खासा स्थापित हुआ है

कोरोना वायरस संक्रमण के दौर में प्रदूषण बहुत घातक, मास्क से ही बचाव संभव

इंडियन काउंसिल ऑफ मेडिकल रिसर्च के डायरेक्टर जनरल डॉ बलराम भार्गव (फाइल फोटो).

नई दिल्ली:

Coronavirus: क्या कोरोना और प्रदूषण (Pollution) में कोई संबंध है? क्या कोरोना में होने वाली मौत में प्रदूषण का कोई योगदान होता है? इन सवालों पर इंडियन काउंसिल ऑफ मेडिकल रिसर्च यानी आईसीएमआर (ICMR) के डायरेक्टर जनरल डॉ बलराम भार्गव का कहना है कि यह साफ देखा गया कि प्रदूषण कोरोना से होने वाली मौत में योगदान दे रहा है. ये अच्छा खासा स्थापित हुआ है. इससे बचने का सस्ता और सबसे बढ़िया तरीका यही है कि बड़े पैमाने पर और तेज़ी से मास्क अपनाए जाएं.

Newsbeep

दिल्ली एनसीआर में प्रदूषण बहुत ज्यादा है और कोरोना का भी असर है. यह स्थितियां लोगों के लिए कितनी चिंता का विषय हैं और ऐसे में लोगों को क्या करना चाहिए? इस सवाल पर डॉ बलराम भार्गव ने कहा कि प्रदूषण से मौत होती है, यह एक अच्छी खासी स्थापित बात है. क्या कोरोना से होने वाली मौत से प्रदूषण का संबंध है? तो यूरोप और USA में कुछ स्टडी हुईं और उसमें उन्होंने प्रदूषित इलाकों में लॉकडाउन के दौरान हुई मौतों का विश्लेषण किया, उसका प्रदूषण से संबंध देखा. उसमें यह साफ देखा गया कि प्रदूषण कोरोना से होने वाली मौतों में योगदान दे रहा है. यह अच्छा खासा स्थापित हुआ है.

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


उन्होंने कहा कि एक पॉइंट ये भी है कि PM 2.5 में वायरस के कण पाए गए हैं. इससे बचने का सस्ता और सबसे बढ़िया तरीका यही है कि बड़े पैमाने पर और तेज़ी से मास्क अपनाए जाएं.