Coronavirus: कंट्रोल रूम से समोसा और पान की डिमांड की थी, अब नाली की सफाई कर रहे!

रामपुर में लॉकडाउन के दौरान जनता को परेशानियों से बचाने के लिए कायम किए गए कंट्रोल रूम पर फोन करके भद्दे मजाक कर रहे लोग

Coronavirus: कंट्रोल रूम से समोसा और पान की डिमांड की थी, अब नाली की सफाई कर रहे!

प्रतीकात्मक फोटो.

खास बातें

  • कोरोना वायरस संक्रमण को लेकर मदद के लिए बनाया गया कंट्रोल रूम
  • जिलाधिकारी ने शरारती तत्वों को सबक सिखाने के लिए की कार्रवाई
  • मजाक करने वालों को सफाई के काम में लगाने से सफाई कर्मियों को राहत
लखनऊ:

कोरोना वायरस (Coronavirus) संक्रमण को लेकर किए गए लॉकडाउन के दौरान जनता को परेशानियों से बचाने के लिए यूपी के रामपुर में कायम किए गए कंट्रोल रूम को भी कुछ शरारती लोग नहीं बक्श रहे. जो फोन नंबर प्रशासन ने कंट्रोल रूम बनाकर इमरजेंसी के लिए अलाट किया है उस पर फोन करके तरह-तरह के भद्दे मजाक किए जा रहे हैं. यही नहीं कंट्रोल रूम को फोन करके कोई गर्मागर्म समोसा मांग रहा है तो कोई पान खाने की ख्वाहिश जता रहा है. जिलाधिकारी रामपुर आन्जनेय कुमार सिंह ने ऐसे लोगों को अब सबक सिखाने की ठान ली है. ऐसे लोगों को चिन्हित करके उनसे अब नालियों की सफाई कराई जा रही है. ऐसा करने से कोरोना के लॉकडाउन की मार झेल रहे सफाई कर्मियों को कुछ राहत मिली है और साथ ही कंट्रोल रूम पर फोन करके भद्दे मजाक करने वालों को भी सबक मिल गया है.

जिलाधिकारी आन्जनेय कुमार सिंह ने कहा जब से लॉकडाउन डिक्लेयर हुआ है, हमने कंट्रोल रूम बनाया है. कंट्रोल रूम में कुछ अधिकारी कुछ शिक्षक हैं जो कंट्रोल रूम को ऑपरेट कर रहे हैं. हमारा कंट्रोल रूम तीन स्तर पर चलता है. यहां पर जनपद में शहर में ईओ का कंट्रोल रूम अलग है. यहां तक कि हमने एक लेयर और बढ़ा दी है तहसील पर और ब्लॉक पर. यह कंट्रोल रूम लोगों की सहायता के लिए है, जो जरूरतमंद हैं. फिर चाहे वह कहीं फंसे हुए हैं, मेडिकल की जरूरत है या किसी को आपूर्ति की जरूरत है तो तत्काल कोआर्डिनेट करके उसे करवाया जाता है. अभी तक रामपुर में ऐसी कोई समस्या नहीं आई कि किसी को जरूरत हो और मदद ना पहुंची हो. सबसे बड़ी दिक्कत दवाओं की होती है और हम उसे घर-घर पहुंचा रहे हैं.

उन्होंने कहा कि इस बीच कुछ शरारती लोग इस बात का मजाक बना रहे हैं. लगातार इसमें बाधा पैदा करने की कोशिश कर रहे हैं. कुछ लोग जानबूझकर ऐसा कर रहे हैं. हमारे कंट्रोल एक-दूसरे से लिंक्ड हैं. कुछ लोग बदल बदल कर कंट्रोल रूम से सहायता मांगते हैं. ऐसा करने पर हमें पता चल जाता है. कुछ लोगों ने मसखरी करनी शुरू की. उन्हें पहले वार्न किया गया फिर हमने उनकी सोशल स्ट्रीमिंग करनी शुरू की. उसके बावजूद लोगों द्वारा ऐसी हरकत की जा रही है. इसलिए हमने अब सोचा है कि जो नियम लॉकडाउन तोड़ने वालों के लिए बनाए गए हैं, जिसमें जुर्माना किया जाएगा और उन्हें सैनिटाइजेशन के काम में लगाएंगे. वही हमने ऐसे लोगों पर अप्लाई किया है. ऐसे लोगों से जुर्माना और सैनिटेशन कराया जाएगा. 

उन्होंने बतायाा कि सैनिटाइजेशन के काम में ऐसे लोगों को लगा रहे हैं. कुछ लोग समोसा मांग रहे हैं, कुछ लोग नंबर बदल बदल कर कॉल कर रहे हैं, इलेक्ट्रॉनिक नंबर का इस्तेमाल कर रहे हैं जिसे कंप्यूटर कॉल्स कहते हैं. ऐसे लोगों को आईडेंटिफाई किया जा रहा है. वॉलिंटियर्स के नंबर का भी गलत प्रयोग किया जा रहा है. कुछ लोग पान मांग रहे हैं. ऐसे लोगों को डिस्करेज करने के लिए उनकी सोशल शेमिन्ग करेंगे. उनसे इस तरह के कार्य करवाएंगे और उन पर जुर्माना लगाएंगे. इसके बावजूद अगर ऐसे मामले आएंगे तो उनके खिलाफ कानूनी कार्रवाई की जाएगी.

उन्होंने कहा कि ऐसे लोगों से सैनिटाइजेशन जैसे नाली की सफाई के काम कराएंगे. जिस तरह से हमारे नगर पालिका कर्मचारी लगातार लगे हुए हैं उन जगहों को सैनिटाइज कर रहे हैं जिन जगहों पर पब्लिक ने टच किया होगा उन लोगों को भी अपनी जिंदगी का जोखिम है. बजाय इसके कि उनके काम को रिस्पेक्ट करें लोग इस तरह की हरकतें कर रहे हैं तो ऐसे में उन लोगों को इस काम में लगाया जाएगा जिससे उन्हें सबक मिले. कुछ लोगों को हॉस्पिटल की सफाई के काम में लगाया गया है. ऐसी जगहों पर काम में लगा रहे हैं कि अगर उनको एक बार में सबक मिल गया तो ठीक है वरना दूसरे रास्ते भी हैं. पिछले चार दिनों में अब तक लगभग 30 लोगों को इस तरह के कार्यों में लगाया गया है.

 
Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com