कोरोना का कहर : पुणे में स्कूल-कॉलेज बंद, रात 11 के बाद बेवजह घूमने की इजाजत नहीं

महाराष्ट्र में कोरोनावायरस (Coronavirus) के मामले बढ़ने के बीच पुणे जिले के सभी स्कूल और कॉलेज बंद करने का फैसला लिया गया है

कोरोना का कहर : पुणे में स्कूल-कॉलेज बंद, रात 11 के बाद बेवजह घूमने की इजाजत नहीं

कोविड के बढ़ते मामलों के बीच पुणे में उठाए गए एहतियाती कदम (प्रतीकात्मक तस्वीर)

खास बातें

  • कोविड के मद्देनजर पुणे में उठाए गए एहतियाती कदम
  • स्कूल और कॉलेज 28 फरवरी तक बंद
  • शादी में 200 से ज्यादा लोगों की अनुमति नहीं
पुणे:

महाराष्ट्र में कोरोनावायरस (Coronavirus) के मामले बढ़ने के बीच पुणे जिले में एहतियाती कदम उठाए गए हैं. पुणे के सभी स्कूल और कॉलेजों को 28 फरवरी तक के लिए बंद करने का फैसला लिया गया है. इस दौरान, कोचिंग क्लासेस भी बंद रहेंगी. होटल्स, रेस्टोरेंट और बार रात 11 तक ही खुल सकेंगे. महाराष्ट्र के उप मुख्यमंत्री अजित पवार ने जिले में कोरोना की स्थिति का आकलन करने के लिए वरिष्ठ अधिकारियों के साथ बैठक की. इस बैठक के बाद एहतियाती कदम उठाए गए हैं..

पुणे में नाइट कर्फ्यू (रात्रि कर्फ्यू) नहीं लगाया गया है, लेकिन लिमिडेट कर्फ्यू का ऐलान किया गया है. इसके तहत रात 11 बजे से सुबह 6 तक लोगों की आवाजाही पर रोक रहेगी और बेवजह घूमने वालों पर कार्रवाई होगी. इस दौरान, लोग सिर्फ जरूरी काम के लिए बाहर जा सकेंगे. आवश्यक गतिविधियों में शामिल लोगों- जैसे समाचार पत्र वितरक, सब्जीवाले- को इस प्रतिबंध से बाहर रखा गया है.


शादी समारोह, सम्मेलन या सार्वजनिक कार्यक्रमों में 200 लोंगों से ज्यादा लोगों की अनुमति नही होगी. सभी तरह के कार्यक्रम के लिए पुलिस की लिखित अनुमति अनिवार्य होगी. पुणे में कोरोना टेस्टिंग बढा दी जायेगी. 

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


इससे पहले, आज राज्य सरकार के एक मंत्री ने कहा कि महाराष्ट्र सरकार कोरोना को काबू करने के लिए रात्रि कर्फ्यू लगाने पर भी विचार कर रही है और राज्य के मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे की अध्यक्षता वाली बैठक में इस संबंध में फैसला लिया जा सकता है.