सिरम इंस्टीट्यूट की वैक्सीन टीकाकरण कार्यक्रम के लिए सप्लाई की जाएगी

ड्रग्स कंट्रोलर जनरल ऑफ इंडिया ने सिरम इंस्टीट्यूट आफ इंडिया को कोविड वैक्सीन बेचने और वितरण करने के लिए मैन्युफैक्चरिंग का लाइसेंस दिया

सिरम इंस्टीट्यूट की वैक्सीन टीकाकरण कार्यक्रम के लिए सप्लाई की जाएगी

प्रतीकात्मक फोटो.

नई दिल्ली:

Coronavirus: ड्रग्स कंट्रोलर जनरल ऑफ इंडिया (DCGI) से सिरम इंस्टीट्यूट आफ इंडिया (Serum Institute Of India) को कोविड वैक्सीन (Covid Vaccine) बेचने/वितरण करने के लिए मैन्युफैक्चरिंग का लाइसेंस मिला है. लाइसेंस के मुताबिक आपात स्थिति में सीमित इस्तेमाल के लिए वैक्सीन लगाने की मंजूरी दी गई है. ये वैक्सीन टीकाकरण कार्यक्रम के लिए सप्लाई की जाएगी. 

सिरम इंस्टीट्यूट आफ इंडिया की COVISHIELD दो डोज़ की वैक्सीन है. पहली डोज़ देने के बाद दूसरी डोज़ 4 से 6 हफ़्ते के बीच देनी होगी. 18 साल से ऊपर के लोगों को यह वैक्सीन लगाई जा सकेगी. यह वैक्सीन छह महीने तक दो से आठ डिग्री तापमान में स्टोर की जा सकती है. एक बार खोलने पर तुरंत इस्तेमाल करनी चाहिए और अगर दो से आठ डिग्री तापमान है तो छह घंटे के भीतर.


लाइसेंस में कहा गया है कि जब तक क्लीनिकल ट्रायल पूरा नहीं हो जाता तब तक वो देश और विदेश में चल रहे ट्रायल का सुरक्षा, प्रभाविकता और प्रतिरोध क्षमता संबंधी डेटा अपडेट के साथ सबमिट करेंगे. कंपनी को अपना भारत का रिस्क मैनेजमेंट प्लान भी बताना और लागू करना होगा.

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


यह भी कहा गया है कि वो शुरुआती दो महीने में हर 15 दिन में और उसके बाद हर महीने वैक्सीन सेफ्टी डेटा जमा कराए जिसमे AEFI यानी टीकाकरण के बाद होने वाली प्रतिकूल घटनाओं का भी डेटा शामिल है. यह न्यू ड्रग एंड क्लीनिकल ट्रायल 2019 के तहत ज़रूरी है.