चेन्नई से मणिपुर लौटी लड़की कोरोना संदिग्ध, पिता के शव को देखने के लिए दिए गए 3 मिनट

अंजलि मांगटे को इम्फाल से कांगपोकपी लाया गया. अपने पिता को आखिरी बार देखने के लिए उसे तीन मिनट दिए गए थे. पिता के शव को देख वह खूब रोई.

चेन्नई से मणिपुर लौटी लड़की कोरोना संदिग्ध, पिता के शव को देखने के लिए दिए गए 3 मिनट

अंजलि मांगटे चेन्नई से मणिपुर लौटी है.

खास बातें

  • कोरोना संदिग्ध है अंजलि मांगटे
  • श्रमिक स्पेशल ट्रेन से लौटी मणिपुर
  • पिता के अंतिम दर्शन को मिले 3 मिनट
इम्फाल:

मणिपुर (Manipur Coronavirus Report) के इम्फाल में एक 22 साल की लड़की कोरोना (COVID-19) संदिग्ध पाई गई. वह क्वारंटाइन सेंटर में रह रही है. डॉक्टर उसकी निगरानी कर रहे हैं. बीते मंगलवार लंबी बीमारी के बाद लड़की के पिता का निधन हो गया. लड़की को इम्फाल से कांगपोकपी लाया गया. अपने पिता को आखिरी बार देखने के लिए उसे तीन मिनट दिए गए थे. पिता के शव को देख वह खूब रोई.

लड़की का नाम अंजलि मांगटे है. कांगपोकपी पहुंचने के बाद अंजलि ताबूत में लेटे पिता के शव के पास जाती है और बेतहाशा रोती है. कोरोना संदिग्ध होने की वजह से उसकी मां व अन्य रिश्तेदार उसके पास नहीं जा सकते थे. इस दौरान डॉक्टर स्टॉपवॉच पर नजर बनाए हुए थे क्योंकि अंजलि को सिर्फ तीन मिनट का समय दिया गया था.

बता दें कि अंजलि 25 मई को श्रमिक स्पेशल ट्रेन से चेन्नई से मणिपुर लौटी थी. अंजलि जिस शख्स के साथ आई थी, वह कोरोना पॉजिटिव पाया गया. जिसके बाद अंजलि को क्वारंटाइन कर दिया गया. पिता के अंतिम संस्कार के लिए प्रशासन ने उसे पीपीई किट पहन वहां जाने की सशर्त अनुमति दी थी. गौरतलब है कि मणिपुर में कोरोना के 13 नए मामले सामने आने के बाद राज्य में संक्रमितों की कुल संख्या 121 हो गई है.

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com

VIDEO: पीपीई किट पहन कर काम करने के घंटे कम किए जाएं : एम्स नर्सिंग यूनियन